हमारे सौरमंडल में चंद्रमा के बाद सबसे छोटा ग्रह है बुध ग्रह। सबसे छोटा होने के साथ-साथ यह ग्रह सबसे तेज गति से चलने वाला ग्रह भी होता है। बुध ग्रह बुद्धि, याददाश्त, और सीखने की क्षमता का प्रतिनिधित्व करता है। यह हमारी सजगता, तंत्रिका तंत्र, लचीलापन, भाषण, भाषा संचार, और संख्याओं से संबंधित किसी भी चीज को भी नियंत्रित करने के लिए जाना जाता है।

जल्द ही तमाम विशेषताओं वाला यह बुध ग्रह शनि द्वारा राशि कुंभ राशि में गोचर करने जा रहा है। यह एक स्थिर और मर्दाना और वायु राशि चिन्ह है। यह राशि राशि चक्र प्रणाली के प्राकृतिक 11वें घर को नियंत्रित करती है। जो हमारी इच्छाओं वित्तीय लाभ का प्रतिनिधित्व करता है। ऐसे में स्वाभाविक है कि बुध के इस गोचर से हमारे आर्थिक विकास और आर्थिक लाभ पर सीधा असर पड़ेगा।

बुध का कुंभ राशि में गोचर 2022: समय

बुध ग्रह 6 मार्च, 2022 को कुंभ राशि में गोचर करने जा रहा है। समय की बात करें तो यह गोचर  रविवार सुबह 11 बजकर 10 मिनट पर होगा। इसके बाद बुध ग्रह इसी राशि में 24 मार्च तक रहने वाला है।

 

वैदिक ज्योतिष में ग्रहों के गोचर और नक्षत्रों के प्रभाव के कारण मानव जीवन पर गहरा प्रभाव डालती है क्योंकि ज्योतिष के अनुसार ग्रहों का गोचर और उनकी विभिन्न राशियों में स्थिति ना केवल मानव अपितु समस्त जीव धारियों पर प्रभाव डालती है और विशेष रूप से हम पृथ्वी वासियों को प्रभावित करती है। यही वजह है कि इन ग्रहों की चाल के कारण प्रत्येक व्यक्ति के जीवन में कुछ ना कुछ बदलाव आते हैं, जो उनकी कुंडली में मौजूद ग्रहों की स्थितियों के अनुसार शुभ और अशुभ दोनों प्रकार के परिणाम प्रदान करते हैं।

 

यह केवल आम मनुष्य पर ही प्रभाव नहीं डालते अपितु पूरे देश और दुनिया पर भी प्रभाव डालने में सक्षम होते हैं इसलिए जब कभी कुछ ग्रहों का विशेष योग बनने वाला होता है तो उसका प्रभाव पूर्ण विश्व पर दिखाई देता है।

ऐसा ही कुछ अब मार्च के महीने में कुंभ राशि में होने वाला है, जब ग्रहों की चाल से कुंभ राशि में काफी हलचल मचाने वाली है और बुध ग्रह इसमें विशेष योगदान देने वाला है।

ऐसे में आज के इस लेख में हम आपको मार्च के महीने में कुंभ राशि में होने वाली ग्रहों की विशेष हलचल के बारे में बताने जा रहे हैं जिस पर देश और दुनिया के विद्वान ज्योतिषियों की नजरें टिकी हुई हैं।

 

क्या है कुंभ राशि में ग्रहों का विशेष संयोग?

मार्च का महीना कुंभ राशि को विशेष रूप से सक्रिय करने वाला है क्योंकि ग्रहों की बड़ी हलचल कुंभ राशि में इस महीने दिखाई देने वाली है। इस प्रकार वैसे तो पांच प्रकार के प्रभाव देखने को मिलेंगे लेकिन हम आप को उनके बारे में बारी-बारी से बता रहे हैं।

सर्वप्रथम 6 मार्च को प्रातः काल 11:10 पर बुध देव जी कुंभ राशि में गोचर करेंगे और यहां पर 24 मार्च की सुबह 10:44 तक रहकर इस राशि को प्रभावित करेंगे।

इसी कुंभ राशि में बुध ग्रह सूर्य के निकट आ जाने से 18 मार्च को शाम 4:06 बजे से अस्त अवस्था में आ जाएंगे।

शुक्र ग्रह जोकि बुध के परम मित्र भी हैं, अपने मित्र शनि की राशि कुंभ में मार्च के अंतिम दिन अर्थात 31 मार्च को प्रातः काल 8:28 बजे गोचर करेंगे।

इसके अतिरिक्त देव गुरु बृहस्पति पहले से ही कुंभ राशि में विराजमान हैं और पूरे मार्च कुंभ राशि में विराजमान रहेंगे।

ग्रहों के राजा सूर्य देव 15 मार्च तक कुंभ राशि में ही अपना डेरा जमाए रखेंगे।

इस प्रकार देखा जाए तो पांच प्रकार की ग्रह स्थितियां विशेष रूप से कुंभ राशि में इस महीने में घटित होने जा रही हैं जिनका प्रभाव न केवल कुंभ राशि के लोगों पर अपितु देश और दुनिया पर पड़ने की अच्छी संभावना बन रही है। आइये इसके बारे में और विस्तार से जानने की कोशिश करते हैं।

क्या होगा जब सूर्य, बुध और गुरु की युति कुंभ राशि में दिखाएगी अपना प्रभाव

सर्वप्रथम हमें यह समझना होगा कि सूर्य ग्रह को ज्योतिष के अनुसार आत्म अभिव्यक्ति, आत्मा, पिता, व्यक्तित्व, आदि का कारक माना जाता है और बुध ग्रह बुद्धि के साथ-साथ वाणी, तर्क क्षमता, विश्लेषण करने की क्षमता, गणना कौशल, सांख्यिकी, व्यवसाय और शिक्षा का कारक भी माना जाता है। वहीं देव गुरु बृहस्पति ज्ञान, धन, संतान, धार्मिक विश्वास, शिक्षा, कानून, आदि के प्रदाता ग्रह माने गए हैं। ऐसे में इन तीन ग्रहों की विशेष चाल कुंभ राशि को विशेष रूप से सक्रिय बनाएगी और जीवन को अनेक प्रकार से प्रभावित करेगी। आइए जानते हैं कि विभिन्न क्षेत्रों में इन ग्रहों का कैसा प्रभाव पढ़ने जा रहा है।

अर्थव्यवस्था: इस विशेष संयोग का देश दुनिया पर प्रभाव पड़ना तय है। यदि भारतवर्ष की बात करें तो स्वतंत्र भारत की कुंडली के दशम भाव में बृहस्पति, सूर्य और बुध की युति होने के कारण अर्थव्यवस्था को मजबूती मिलना तय है और उसी क्रम में कुछ बड़ी नीतियों पर कार्य होने की संभावना बनेगी। सरकार नीतियों पर विशेष जोर देगी जो अर्थव्यवस्था को सुधारने में महत्वपूर्ण योगदान निभाएगी। इसका प्रचार-प्रसार भी व्यापक रूप से होगा और जनता को जागरूक करने की कोशिश की जाएगी। सूर्य के साथ में आने से संभव है कि बैंकिंग सेक्टर को लेकर कुछ बड़ी बातें सामने आएंगी जो अर्थव्यवस्था को सुदृढ़ बनाने में महत्वपूर्ण साबित हो सकती हैं। इसके साथ ही किसी विशेष क्षेत्र में आर्थिक पैकेज की बात भी चल सकती है। शिक्षा के ऊपर अच्छा खर्च होने की संभावना बन रही है। इंफ्रास्ट्रक्चर और रियल एस्टेट के क्षेत्र में तथा जनता को घर दिलाने के संदर्भ में भी कुछ विशेष योजना आर्थिक रूप से महत्वपूर्ण साबित हो सकती है।

देश के साथ-साथ दुनिया की यदि बात करें तो यह स्थिति महत्वपूर्ण राष्ट्राध्यक्षों को कुछ विशेष शक्तियां प्रदान करेगी जिसकी वजह से वह कुछ महत्वपूर्ण निर्णय ले पाएंगे, जो अर्थव्यवस्था पर सीधा सीधा और व्यापक प्रभाव डालेंगे। कानून का भी विशेष रूप से प्रभाव पड़ेगा जो विभिन्न न्यायालयों द्वारा आर्डर पास किए जाने के कारण दिखाई देगा।

स्वास्थ्य व्यवस्था : शनिदेव के स्वामित्व वाली कुंभ राशि में सूर्य, गुरु और बुध की उपस्थिति से स्वास्थ्य समस्याओं में कमी आने के स्पष्ट संकेत मिलेंगे और लोगों के स्वास्थ्य में सुधार देखने को मिलेगा। हालांकि महीने के अंत में जब शुक्र ग्रह का गोचर कुंभ राशि में होगा, तब कुछ समस्याएं सामने आ सकती हैं लेकिन वह ज्यादा गंभीर प्रकृति की नहीं होंगी और उनका निश्चित समाधान प्राप्त हो जाएगा।

राजनीति : राजनीति के दृष्टिकोण से देखें तो निश्चित तौर पर यह समय केंद्र सरकार को मजबूती प्रदान करेगा। न्यायपालिका द्वारा भी कुछ महत्वपूर्ण आदेश पारित किए जाएंगे, जो राजनीतिक तौर पर काफी प्रभावी रहेंगे। सरकार की छवि मजबूत होगी और वे कुछ बड़े कार्यों में हाथ डालकर जनता को अपनी ओर आकर्षित करने में कामयाब हो सकते हैं। सरकार के प्रभाव में वृद्धि दिखाई देगी जो उसके सहयोगियों को भी अच्छी स्थिति प्रदान करेगी। ऐसी संभावना है कि विपक्ष के कुछ लोग सरकार में शामिल हो सकते हैं। सरकार स्वयं को मजबूती से आगे रखेगी और विदेशी पटल पर भी भारत की साख बढ़ाने में कामयाब रहेगी तथा इस समय भारत की भूमिका विश्व के अन्य देशों के लिए काफी महत्वपूर्ण हो जाएगी और वह कई महत्वपूर्ण मामलों में भारत का साथ प्राप्त करना चाहेंगे।

मौसम : वायु तत्व की राशि कुंभ में अग्नि प्रकृति के सूर्य देव का पहले से स्थित होना लेकिन उसके बाद बृहस्पति की स्थिति और बुध तथा शुक्र के प्रभाव से मौसम लगभग खुशनुमा रहने की संभावना है और उत्तर भारत के लोगों को ठंड से मुक्ति मिलेगी तथा मौसम में गर्माहट बढ़ेगी।

आपको ऊपर जो भी ग्रह स्थितियां बताई गई हैं, वे सभी कुंभ राशि में ही होने वाली हैं इसलिए आइए जानते हैं कि कुंभ राशि के लोगों के लिए इस राशि के अंतर्गत ग्रहों की चाल से क्या प्रभाव पड़ने वाले हैं।

क्या पड़ेगा कुंभ राशि के जातकों के जीवन पर प्रभाव?

कुंभ राशि के प्रथम भाव में अर्थात कुंभ राशि में विभिन्न ग्रहों की चाल के बदलाव से अनेक प्रकार के परिवर्तन संभव रहेंगे। सर्वप्रथम आपकी निर्णय लेने की क्षमता का विकास होगा। आप मजबूती से कठिन निर्णय भी ले पाएंगे, जो आपके जीवन को विशेष रूप से प्रभावित करेंगे और आपको आगे बढ़ने का मौका मिलेगा।

सूर्य देव की उपस्थिति आपकी राशि में होने से आपके स्वभाव में थोड़ी उग्रता और अहम की भावना बढ़ सकती है लेकिन देव गुरु बृहस्पति काफी हद तक उसे संभालने की कोशिश करेंगे। हालांकि बुध ग्रह का प्रभाव आपकी वाणी पर ज्यादा होगा जिससे आप अहम की भावना से ग्रसित होकर स्वयं के प्रति जनों से ज्यादा प्रशंसा भरे शब्दों का प्रयोग करेंगे जो हो सकता है कि अन्य लोगों को अच्छा ना लगे इसलिए आपको अत्यधिक बड़बोलेपन  से बचना चाहिए, नहीं तो कई बार स्थितियां आप के विपरीत हो सकती हैं।

इस दौरान आपको अपनी बुद्धि का विकास महसूस होगा और आपने जो शिक्षा अर्जित की है, वह आपके कई तरीके से काम आएगी। राजनीति से जुड़े जातकों के लिए यह समय विशेष रूप से लाभदायक रहेगा और आपको कोई बड़े पद की प्राप्ति हो सकती है। यह समय सरकारी क्षेत्र से लाभ प्रदान करने वाला हो सकता है। आपको अपने कम्युनिकेशन के साधनों का विशेष रूप से ध्यान देना होगा जिस पर प्रभाव पड़ सकता है और बुध ग्रह के अस्त होने की अवधि में कम्युनिकेशन में कमी आ सकती है। स्वास्थ्य के लिहाज से यह समय आपके लिए अनुकूल रहने वाला है लेकिन शरीर में मेद की वृद्धि हो सकती है।

कुंभ राशि के जातक करें ये उपाय

कुंभ राशि के लोगों को उपाय के तौर पर भगवान शिवजी और शनि देव जी की पूजा करनी चाहिए। आपको शनिवार के दिन रुद्राभिषेक करना चाहिए और संभव हो तो शनिवार के दिन सुंदरकांड का पाठ करना आपके लिए अत्यंत लाभदायक साबित हो सकता है। सरसों के तेल के 108 दीपक पीपल वृक्ष के नीचे शनिवार की संध्या के समय जलाने से आपकी मनवांछित इच्छाएं पूरी हो सकती हैं और स्वास्थ्य में लाभ मिल सकता है।

 

मार्च 2022 में इन 3 बड़े ग्रह का राशि परिवर्तन, 5 राशियों को देगा छप्पर फाड़ कर फायदा!

बुध गोचर का भारत और विश्व पर पड़ेगा क्या प्रभाव?

  • विश्व अर्थव्यवस्था और शेयर बाजार में सुधार देखने को मिलेगा।
  • जो लोग मीडिया, जनसंचार, लेखककार, वित्त क्षेत्र और निवेश आदि के क्षेत्र से जुड़े हैं उनके लिए यह समय अनुकूल साबित होगा।
  • संचार और दूरसंचार का बाजार बढ़ेगा।
  • संचार और दूरसंचार बाजार बढ़ेगा, लोग अपने गैजेट्स को अपग्रेड करने में पैसा खर्च करेंगे।
  • लोग ज्यादा सामाजिकरण करेंगे।

बुध गोचर का आम जनजीवन पर पड़ेगा क्या प्रभाव?

  • वित्त में सुधार देखने को मिलेगा।
  • संचार कौशल में सुधार होगा।
  • सामाजिक दायरे में छवि सुधरेगी।
  • आप अपनी इच्छाओं के बारे में ज्यादा अभिव्यंजक होंगे।

मार्च 2022 में इन 3 बड़े ग्रह का राशि परिवर्तन, 5 राशियों को देगा छप्पर फाड़ कर फायदा!

जल्द होने वाले बुध गोचर का राशि अनुसार प्रभाव

मेष राशि 

मेष राशि के जातक इस समय के दौरान अपने सामाजिक दायरे में सुर्खियों में रहने वाले हैं और साथ ही अपने संचार कौशल के दम पर आर्थिक लाभ प्राप्त करेंगे। इस समय अवधि में आप अपने हास्य कौशल या लेखन से दूसरों को प्रभावित करने में कामयाब रहेंगे। इस दौरान आपके लिखे किसी कविता या किसी लेखन को लोग काफी सराहेंगे। यदि आपका धन कहीं अटका हुआ था या आप किसी लोन के पास होने का इंतजार कर रहे थे तो इस संदर्भ में आपको शुभ समाचार इस समय प्राप्त हो सकता है।

वृषभ राशि 

इस समय अवधि में वृषभ राशि के जातकों को पिछले एक साल में अपने व्यवसाय के संबंध में की गई मेहनत का फल प्राप्त होगा। बैंकिंग, वित्त क्षेत्र, जनसंचार से संबंधित इस राशि के जातकों को लाभ मिलेगा क्योंकि आप अपने संचार और प्रबंधन कौशल से कार्य स्तर पर अपने अधिकारियों को प्रभावित करने में कामयाब रहेंगे। पारिवारिक व्यवसाय से संबंधित लोग अपने व्यवसाय को अलग मुकाम पर ले जाने में कामयाब होंगे और आप अपने लाभ बढ़ाने में भी सफलता हासिल कर सकते हैं।

मिथुन राशि 

मिथुन राशि के जातकों के लिए गोचर काफी भाग्यशाली साबित होगा। आप इस दौरान धार्मिक और पौराणिक ग्रंथों और पुस्तकों के प्रति ज्यादा झुकाव रखेंगे। पेशेवर मोर्चे पर बात करें तो यदि आप दार्शनिक, सलाहकार, संरक्षक, शिक्षक आदि हैं तो इस दौरान आप का परामर्श काफी अच्छा साबित होगा और आप अपनी इस परामर्श कौशल से दूसरों को प्रभावित करने में कामयाब रहेंगे।

कर्क राशि

कर्क राशि के जातकों के लिए बुध ग्रह का यह गोचर काफी मुश्किलों भरा साबित हो सकता है। क्योंकि स्वास्थ्य की दृष्टि से यह गोचर आपके लिए ज्यादा शुभ नहीं रहने वाला है। इस दौरान आपको त्वचा से संबंधित या तंत्रिका से संबंधित को समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। इसलिए आपको अपने स्वास्थ्य का इस दौरान विशेष ध्यान रखने की सलाह दी जाती है। यदि आप शोध के क्षेत्र से संबंधित है या पीएचडी कर रहे हैं कोई भी रिसर्च कार्य कर रहे हैं या फिर ज्योतिष और गूढ़ अध्ययन की कोशिश कर रहे तो आपको इस सन्दर्भ में लाभ प्राप्त होगा।

सिंह राशि 

सिंह राशि के जातकों के लिए बुध आपके वित्त का स्वामी है इसलिए बुध का यह गोचर व्यवसाय में नई साझेदारी शुरू करने की इच्छा रखने वाले जातकों के लिए फायदेमंद साबित होगा। आपके लग्न भाव पर बुध की दृष्टि आपको आकर्षक और युवा व्यक्तित्व प्रदान करेगी और लोग आपकी और ज्यादा से ज्यादा आकर्षित होंगे।  विवाहित जातकों के जीवन में प्रेम बढ़ेगा।

कन्या राशि 

कन्या राशि के जातकों के लिए बुध आपके लग्न भाव का स्वामी है और आप के छठे भाव में गोचर कर रहा है। ऐसे में इस समय अवधि में आपको अपने स्वास्थ्य का विशेष ध्यान देने की आवश्यकता पड़ेगी। अपने शरीर की ओर ध्यान देने से आपका स्वास्थ्य बेहतर होगा और यदि आपने स्वास्थ्य को नजरअंदाज किया तो आपको मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है। सेवा देने वाले क्षेत्र से संबंधित लोगों के लिए यह समय अच्छा साबित होगा। कोशिश करें और किसी ऋण और विवाद में पड़ने से बचें क्योंकि इन सब के लिए यह समय अनुकूल नहीं रहने वाला है।

 

मार्च 2022 में इन 3 बड़े ग्रह का राशि परिवर्तन, 5 राशियों को देगा छप्पर फाड़ कर फायदा!

 

तुला राशि 

तुला राशि के छात्रों के लिए यह समय बेहद ही अच्छा रहने वाला है। खासकर उनके लिए जो गणित, मास कम्युनिकेशन, राइटिंग और लैंग्वेज कोर्स की पढ़ाई कर रहे हैं। तुला राशि के जातक इस गोचर अवधि के दौरान शेयर बाज़ार में भी पैसा कमा सकते हैं। इस राशि के प्रेमी जातक रोमांटिक समय का आनंद लेंगे और आपका और आपके पार्टनर का रिश्ता मजबूत होगा। इसके अलावा आपके बच्चों के साथ भी आपका रिश्ता काफी मजबूत होने वाला है।

वृश्चिक राशि

वृश्चिक राशि के जातक इस समय अपने घर के लिए विलासिता के सामान खरीदने में ज्यादा धन खर्च करेंगे। आपका पारिवारिक जीवन खुशियों और समृद्धि से भरा रहने वाला है। आवश्यकता है आपको अपनी मां के स्वास्थ्य को लेकर सजग और सचेत रहने की। इस अवधि के दौरान आपको पैतृक संपत्ति से लाभ मिल सकता है या अपने पूर्वजों की विरासत संपत्ति से हिस्सा प्राप्त हो सकता है।

धनु राशि 

बुध का यह गोचर धनु राशि के जातकों के संचार कौशल को प्रभावशाली बनाने में मददगार साबित होगा जिससे आप अपने पेशेवर जीवन में सफलता के नए मुकाम हासिल करेंगे। मार्केटिंग, पत्रकारिता, मीडिया के क्षेत्र से संबंधित जातकों को अपनी प्रतिभा साबित करने के कई अवसर प्राप्त हो सकते हैं। निजी जीवन में आपको अपने छोटे भाई बहनों और चचेरे भाइयों का सहयोग प्राप्त होगा और आप उनके साथ किसी छोटी यात्रा की योजना बनाएंगे और उनके साथ क्वालिटी के समय का आनंद लेंगे।

मार्च 2022 में इन 3 बड़े ग्रह का राशि परिवर्तन, 5 राशियों को देगा छप्पर फाड़ कर फायदा!

 

मकर राशि 

मकर राशि के जातक इंसान आपकी बचत और पार्टनर के साथ आपके संयुक्त वित्त में वृद्धि देख सकते हैं। बैंकिंग क्षेत्र से संबंधित जातक और वित्त बाज़ार से संबंधित जातकों को इस गोचर से लाभ प्राप्त होगा। इसके अलावा यदि आप संपत्ति या घर में निवेश करते हैं तो भी आपको शुभ परिणाम हासिल होंगे। आप अपने परिवार के साथ क्वालिटी टाइम बिताएंगे। बुध के इस गोचर के प्रभाव स्वरूप आपकी वाणी आकर्षक बनेगी।

कुंभ राशि 

बुध ग्रह का यह गोचर कुम्भ जातकों के लग्न भाव में होगा। इससे प्रभाव स्वरूप आप जवान दिखने वाले और आकर्षक व्यक्तित्व के धनी बनेंगे। डाटा साइंटिस्ट, निर्यात आयात, वार्ताकार, बैंकिंग, चिकित्सा क्षेत्र व्यवसाय से संबंधित जातकों के लिए यह समय शानदार रहने वाला है। आपके सप्तम भाव पर बुध की दृष्टि आपकी पेशेवर साझेदारी में सुधार करने वाली साबित होगी और आपको उनका सहयोग प्राप्त होगा। विवाहित जातक अपने जीवन साथी के साथ शांतिपूर्ण और प्रेम संबंध का आनंद लेंगे।

मीन राशि

मीन राशि के जो जातक आयात निर्यात के व्यवसाय में है या बहुराष्ट्रीय कंपनियों या वैश्विक कंपनियों में काम कर रहे हैं उन्हें इस गोचर से लाभ प्राप्त होगा। हालांकि इस दौरान आपको अपने स्वास्थ्य का विशेष ध्यान देने की आवश्यकता पड़ेगी। सलाह दी जाती है कि अपने आसपास अच्छी स्वच्छता बनाए रखें और संतुलित आहार लें। बारहवां भाव खर्च और हानि का भी घर है इसलिए यह गोचर आपके खर्चा नुकसान को बढ़ाने वाला भी साबित हो सकता है। ऐसे में आपको इस मोर्चे पर सावधान रहने की सलाह दी जाती है।

 

 

मार्च 2022 में इन 3 बड़े ग्रह का राशि परिवर्तन, 5 राशियों को देगा छप्पर फाड़ कर फायदा!

इस गोचर के दौरान बुध के शुभ परिणाम प्राप्त करने के लिए अवश्य करें ये उपाय

  • गायों को प्रतिदिन हरा चारा खिलाएं।
  • भगवान गणेश की पूजा करें और उन्हें दूर्वा (घास) अर्पित करें।
  • प्रतिदिन बुध ग्रह के बीज मंत्र का जाप करें।
  • ट्रांसजेंडर (किन्नरों) का सम्मान करें और मुमकिन हो तो उन्हें कुछ गिफ्ट करें।
  • बुध यंत्र को घर और ऑफिस में स्थापित करें।
  • प्रतिदिन तुलसी के पौधे का दीपक जलाकर पूजा करें।
  •  बुधवार के दिन कन्याओं को हरी चूड़ियां उपहार स्वरुप भेंट करें।

इसी आशा के साथ कि, आपको यह लेख भी पसंद आया होगा omasttro के साथ बने रहने के लिए हम आपका बहुत-बहुत धन्यवाद करते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!

जयन्ती मङ्गला काली भद्रकाली कपालिनी। 
दुर्गा क्षमा शिवा धात्री स्वाहा स्वधा नमोऽस्तु ते।।
 
ॐ एस्ट्रो के सभी पाठको को
शारदीय नवरात्रि और विजयादशमी
की हार्दिक शुभकामनाये ||

Om Asttro / ॐ एस्ट्रो

आपका हार्दिक स्वागत करता है ,

ॐ एस्ट्रो से अभी जुड़े 

You have successfully subscribed to the newsletter

There was an error while trying to send your request. Please try again.

Om Asttro / ॐ एस्ट्रो will use the information you provide on this form to be in touch with you and to provide updates and marketing.
%d bloggers like this: