Omasttro

वैदिक ज्योतिष में शुक्र को प्रेम, सुख-समृद्धि, धन व ऐश्वर्य आदि का कारक माना गया है और अब यह 11 नवंबर 2022 को वृश्चिक राशि में प्रवेश करेंगे। शुक्र के वृश्चिक राशि में प्रवेश से 12 राशियां किस प्रकार प्रभावित होंगी, किन राशियों के लिए यह सौभाग्य लाएगा? आपका प्रेम जीवन कैसा रहेगा? आने वाले समय में आपका पेशेवर जीवन कैसा होगा? आपको मनचाही नौकरी मिलेगी या नहीं। इन सभी सवालों के जवाब मिलेंगे आपको Omasttro  के इस विशेष ब्लॉग में। इसके अलावा गोचर से जुड़ी अन्य महत्वपूर्ण जानकारियों से भी आपको अवगत कराएंगे।

 

शुक्र का वृश्चिक राशि में गोचर: तिथि और समय 

शुक्र करीब 23 दिनों में एक राशि से दूसरी राशि में प्रवेश करते हैं। 18 अक्टूबर 2022 को पुष्य नक्षत्र के अंतर्गत कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि को मंगलवार रात 09 बजकर 24 मिनट पर शुक्र तुला राशि में प्रवेश कर चुके हैं। इससे पहले शुक्र अपनी नीच राशि कन्या में थे। अब शुक्र 11 नवंबर 2022 को कृष्ण पक्ष की तृतीया तिथि में मृगशीर्ष नक्षत्र के तहत रात 07 बजकर 52 मिनट पर वृश्चिक राशि में गोचर करेंगे।

Shivvi Astrology में जाने क्या आपके मूलांक या भाग्यांक का स्वामी शुक्र है या कुछ और अभी जाने ।

 

 

शुक्र गोचर: उपाय और मंत्र

सूर्य तथा चंद्रमा के बाद अगर कोई ग्रह, तारा या आकाशीय पिंड सबसे चमकदार है तो वो शुक्र ग्रह है। सफेद रंग का संबंध शुक्र से होता है और ये सभी सफ़ेद चीज़ों जैसे सफेद खाद्य पदार्थ, सफेद कपड़े, चांदी के आभूषण, सफेद नीलम और हीरे आदि से जुड़ा हैं। ग्रहों की चाल, ग्रहों के गोचर या कहें ग्रहों के राशि परिवर्तन का व्यापक प्रभाव समस्त राशियों पर पड़ता है और हर राशि के लिए अलग-अलग उपाय हैं।

आमतौर पर, इन उपायों में गरीबों को दूध और चावल जैसे सफेद सामान या चांदी और शुक्र से संबंधित रत्नों से बने आभूषण दान करना शामिल होता है। हालांकि, किसी भी तरह के नकारात्मक प्रभावों को कम करने के लिए हमेशा ज्योतिषी के अनुसार ही रत्न धारण करने की सलाह दी जाती है। इसके अलावा शुक्र गोचर के सामान्य उपायों में जानवरों को भोजन खिलाना, कपूर का दीपक जलाना, नदी में सफेद फूल बहाना और शुक्र ग्रह से जुड़े मंत्रों का जाप करना भी शामिल है।

शुक्र गोचर के दौरान शांति के लिए दिए गए मंत्र का जाप करें:

  • ऊँ शुं शुक्राय नमः
  • ऊँ द्रां द्रीं द्रौं सः शुक्राय नमः

शुक्र का वृश्चिक राशि में गोचर: किस राशि के लिए होगा उत्तम और किस राशि पर डालेगा बुरा प्रभाव

मेष: मेष राशि के जातकों को शुक्र के वृश्चिक राशि में गोचर से सफलता की प्राप्ति होगी। 

  • इस गोचर के दौरान आप अपने पार्टनर के साथ मिलकर कोई नया निवेश करेंगे जिससे आपको सकारात्मक परिणामों की प्राप्ति होगी।
  • यदि आप वैदिक ज्योतिष से संबंधित कुछ नया सीखना चाहते हैं तो उसकी शुरुआत इस समय करना आपके लिए अनुकूल रहेगा।
  • इस समय आपका स्वास्थ्य अच्छा रहेगा, लेकिन साथी की सेहत के प्रति सावधानी बरतने की जरूरत होगी।

Shivvi Astrology में जाने क्या आपके मूलांक या भाग्यांक का स्वामी शुक्र है या कुछ और अभी जाने ।

वृषभ: शुक्र के वृश्चिक राशि में गोचर की वजह से वृषभ राशि के जातकों के लिए समय बेहद अनुकूल रहेगा और इससे आपको अच्छे परिणाम प्राप्त होंगे।

  • शुक्र के लिए यह स्थान बहुत अच्छा है और यह समय आपके रिश्ते को खूबसूरत बना सकता है। साथ ही, आपके प्यार में बढ़ोतरी देखने को मिलेगी। 
  • सप्तम भाव में शुक्र का गोचर होने से विवाह का प्रबल योग बन रहा है। ऐसे में शादी के योग्य जातक इस समय विवाह के बंधन में बंध सकते हैं। 
  • जो लोग पार्टनरशिप के व्यापार में हैं उनके लिए भी यह समय शुभ रहेगा।
  • आप अपने लुक्स पर ध्यान देंगे और अपने लिए एक आकर्षक व्यक्तित्व का निर्माण करेंगे।

Shivvi Astrology में जाने क्या आपके मूलांक या भाग्यांक का स्वामी शुक्र है या कुछ और अभी जाने ।

 मिथुन: मिथुन राशि वालों के लिए 11 नवंबर, 2022 को शुक्र का वृश्चिक राशि में गोचर ज्यादा ख़ास नहीं रहने की आशंका है।

  • शुक्र की स्थिति मिथुन जातकों को स्वास्थ्य संबंधी कुछ समस्याएं दे सकती है।
  • शादीशुदा जातकों को इस अवधि के दौरान किसी भी तरह के वाद-विवाद से खुद को दूर रखना ही बेहतर रहेगा।
  • शुक्र आपके बारहवें भाव पर भी दृष्टि डालेंगे जिससे आपका कुछ धन यात्रा पर भी खर्च होने की संभावना है।

 कर्क: शुक्र का वृश्चिक राशि में गोचर कर्क राशि के जातकों के लिए सौभाग्य लेकर आ रहा है।

  • कर्क राशि के वो छात्र जो डिजाइनिंग, रचनात्मकता, कविता आदि के क्षेत्र में हैं उनको नए-नए रचनात्मक विचार आएंगे और वे इस गोचर के दौरान फलते-फूलते दिखाई देंगे। 
  • इस राशि के अविवाहित लोगों की अच्छे जीवनसाथी की तलाश इस दौरान पूरी हो सकती है।
  • शुरुआत में प्रेमी जातकों को अपने रिश्ते में कुछ अहंकार की समस्या या संघर्ष का सामना करना पड़ सकता है, लेकिन अंत में वे अपने साथी के लिए मजबूत रिश्ते का अनुभव करेंगे और कई जातक शादी के बंधन में बंधने का फैसला भी ले सकते हैं।

 सिंह: सिंह राशि के जातकों को शुक्र के वृश्चिक राशि में गोचर से सकारात्मक परिणाम मिलेंगे।

  • आपके चौथे भाव में शुक्र का गोचर आपके घर में विलासिता को बढ़ाएगा।
  • घर-परिवार का वातावरण अच्छा रहेगा।
  • संभावना है कि आप इस दौरान कार्यक्षेत्र का सारा काम अपने घर से ही करना शुरू कर दें जिससे आपको अपने परिवार के साथ अधिक समय बिताने का अवसर मिलेगा। 
  • आप अपने छोटे भाई-बहन के साथ घर से कोई नया व्यवसाय शुरू करने की योजना भी बना सकते हैं।

Shivvi Astrology में जाने क्या आपके मूलांक या भाग्यांक का स्वामी शुक्र है या कुछ और अभी जाने ।

कन्या: शुक्र का वृश्चिक राशि में गोचर कन्या राशि के जातकों के लिए शुभ रहेगा।

  • जो जातक लेखन कौशल, ललित कला और साहित्य से जुड़े हैं वे इस दौरान अधिक रचनात्मक रहेंगे।
  • भाई-बहनों के साथ आपके संबंध और अधिक गहरे व मजबूत होंगे।
  • आप अचानक या गुप्त रूप से किसी छोटी दूरी की तीर्थस्थल की यात्रा पर जाने की योजना बना सकते हैं।

 तुला: शुक्र का वृश्चिक राशि में गोचर तुला राशि के जातकों के लिए आर्थिक दृष्टि से भाग्यशाली रहेगा।

  • आपकी आमदनी के स्रोतों में बढ़ोतरी होगी।
  • कोई दीर्घकालिक निवेश करने की योजना बना रहे हैं तो समय आपके लिए अनुकूल है।
  • महिलाओं को हार्मोन या मासिक धर्म से जुड़ी कुछ समस्याएं आ सकती है।
  • जो लोग परिवार से दूर रह रहे हैं वे अपने घर जाने की योजना बना सकते हैं।

Shivvi Astrology में जाने क्या आपके मूलांक या भाग्यांक का स्वामी शुक्र है या कुछ और अभी जाने ।

वृश्चिक: शुक्र का वृश्चिक राशि में गोचर वृश्चिक राशि के जातकों के जीवन में सकारात्मक बदलाव ला सकता है।

  • इस समय आप अपने स्वास्थ्य के साथ-साथ लुक में भी सुधार करने में सफल रहेंगे।
  • इस गोचर के दौरान प्रेम व वैवाहिक जीवन खुशियों से भरा रहेगा।
  • यदि आप सिंगल हैं तो शुक्र के वृश्चिक राशि में गोचर के दौरान आपको अपने सपनों का राजकुमार या राजकुमारी मिलने की संभावना है।
  • यदि आप आलीशान वस्तुओं से जुड़ा कोई निर्यात-आयात का व्यवसाय करते हैं तो ये समय आपको अपने व्यापार में अच्छा मुनाफा कमाने का भी अवसर देने वाला है।

 धनु: शुक्र के वृश्चिक राशि में गोचर के दौरान धनु राशि के जातकों के लिए समय ठीक रहेगा, लेकिन इन जातकों को कुछ सावधानियां बरतने की जरूरत होगी।

  • आप अपनी इच्छाओं की पूर्ति या समाजीकरण के लिए अपना धन खर्च कर सकते हैं। ऐसे में आपको थोड़ा सतर्क रहने की जरूरत है।
  • कुछ जातकों को लंबी दूरी की यात्रा पर जाने का अवसर मिलेगा जो उनके लिए अनुकूल होगी। इस यात्रा से उनको अपने करियर में मदद मिल सकती है।
  • यदि आप निर्यात-आयात से जुड़ा व्यवसाय करते हैं या किसी मल्टीनेशनल कंपनी में काम करते हैं तो आपको अच्छे परिणाम मिलने के योग बनेंगे।
  • शुक्र के वृश्चिक राशि में गोचर के दौरान किसी से भी क़र्ज़ या ऋण लेने से बचें।

Shivvi Astrology में जाने क्या आपके मूलांक या भाग्यांक का स्वामी शुक्र है या कुछ और अभी जाने ।

मकर: 11 नवंबर, 2022 को शुक्र के वृश्चिक राशि में गोचर के दौरान मकर राशि के जातकों के लिए यह समय काफी अनुकूल रहने वाला है।

  • अचानक से होने वाले धन लाभ के लिए यह अवधि उत्तम रहेगी।
  • कार्यक्षेत्र में आपके वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा आपके अच्छे काम को सराहना मिलेगी और ऐसे में, वेतन वृद्धि होने की संभावना है।
  • समाज में आपकी प्रतिष्ठा और मान-सम्मान में बढ़ोतरी होगी।
  • लोग आपसे सलाह-मशवरा लेंगे और उन्हें आपकी संगति भी पसंद आएगी।

 

कुंभ: शुक्र के वृश्चिक राशि में गोचर के दौरान कुंभ राशि वाले जातकों को भी अच्छे परिणाम प्राप्त होंगे।

  • वृश्चिक राशि में शुक्र के गोचर से जातकों को शोध और डिजाइन के क्षेत्र में नए अवसर प्राप्त होने की संभावना है।
  • आपकी सारी मेहनत और शोध को आपके वरिष्ठ द्वारा प्रोत्साहन मिलेगा और आपकी पदोन्नति भी हो सकती है।
  • अपने घर-परिवार के लिए कोई नया वाहन या लक्ज़री आइटम खरीदने के लिए यह अच्छा समय हैं।
  • आप घर में कोई धार्मिक पूजा या कार्यक्रम का आयोजन के लिए भी पैसा खर्च कर सकते हैं।

Shivvi Astrology में जाने क्या आपके मूलांक या भाग्यांक का स्वामी शुक्र है या कुछ और अभी जाने ।

मीन राशि: शुक्र का वृश्चिक राशि में गोचर मीन राशि के जातकों के लिए शुभ फल देने वाला है।

  • जीवन के हर क्षेत्र में भाग्य का पूरा साथ मिलेगा।
  • उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए विद्यार्थियों के लिए यह अवधि उत्तम रहेगी।
  • इस समय आपका झुकाव गुप्त विज्ञान की ओर अधिक देखने को मिलेगा।
  • आपका संचार कौशल उत्कृष्ट होगा और यदि आप किसी सलाहकार के रूप में काम करते हैं तो आपको सफलता मिलेगी।

  

शुक्र के वृश्चिक राशि में गोचर के दौरान करें शांति पूजा

अगर आपको लगता है कि शुक्र का वृश्चिक राशि में गोचर आप पर प्रतिकूल प्रभाव डाल सकता है तो ऐसे में शुक्र ग्रह शांति पूजा की जा सकती है। इस पूजा से नाम, लोकप्रियता, ग्लैमर और एक समृद्धशाली जीवन की प्राप्ति होती है। इसके अलावा यह पूजा आपको करियर और आर्थिक जीवन में भी सफलता प्रदान करती है। शुक्र ग्रह शांति पूजा से कुंडली में मौजूद शुक्र के सभी तरह के नकारात्मक प्रभाव को दूर किया जाता है। यदि आप अनुभवी पंडितों से पूजा संपन्न करवाना चाहते हैं तो आप हमारे द्वारा ऑनलाइन शुक्र ग्रह शांति पूजा करवा सकते हैं।

 इसी आशा के साथ कि, आपको यह लेख भी पसंद आया होगा omasttro के साथ बने रहने के लिए हम आपका बहुत-बहुत धन्यवाद करते हैं।

error: Content is protected !!

Om Asttro / ॐ एस्ट्रो

आपका हार्दिक स्वागत करता है ,

ॐ एस्ट्रो से अभी जुड़े 

You have successfully subscribed to the newsletter

There was an error while trying to send your request. Please try again.

Om Asttro / ॐ एस्ट्रो will use the information you provide on this form to be in touch with you and to provide updates and marketing.
%d bloggers like this: