Om Asttro / ॐ एस्ट्रो

News & Update

कुंडली रिपोर्ट , शनि रिपोर्ट , करियर रिपोर्ट , आर्थिक रिपोर्ट जैसी रिपोर्ट पाए और घर बैठे जाने अपना भाग्य अभी आर्डर करे
❣️❣️ वक्रतुण्ड महाकाय सूर्यकोटि समप्रभ।निर्विघ्नं कुरु मे देव सर्वकार्येषु सर्वदा ।❣️❣️ ज्योतिष: वेद चक्षु नमः शम्भवाय च मयोभवाय च नमः शंकराय च मयस्कराय च नमः शिवाय च शिव तराय च नमः।।>

Om Asttro / ॐ एस्ट्रो

February 7, 2023 19:39

Author: Omasttro

Valentine Day 2023: सोच रहे हैं कैसे करें प्रेमी/प्रेमिका के सामने अपने दिल की बात? राशि अनुसार ऐसे करें इज़हार!

वैलेंटाइन डे 2023: फरवरी का महीना दस्तक दे चुका है और इसी के साथ लव बर्ड्स को प्यार के समंदर में…

श्री रूद्र संहिता द्वितीय खंड  ( बत्तीसवां अध्याय ) शिवजी का क्रोध 

शिवजी का क्रोध         ब्रह्माजी कहते हैं-हे नारद! उस आकाशवाणी को सुनकर सभी देवता और मुनि आश्चर्य से…

श्री रूद्र संहिता द्वितीय खंड
( इकत्तीसवां अध्याय )
आकाशवाणी

ब्रह्माजी कहते हैं-हे नारद! जब दक्ष के उस महान यज्ञ में घोर उत्पात मचा हुआ था और सभी दर के…

February Grah Gochar 2023: फरवरी में 4 ग्रहों का राशि परिवर्तन; मेष सहित 5 राशि वालों के लिए खुलेंगे तरक्की के दरवाजे!

जब ग्रह अपनी राशि या स्थिति बदलते हैं तो लोगों के जीवन में भी कई बदलाव देखने को मिलते हैं।…

5 February: रवि पुष्य नक्षत्र योग है बेहद शुभ; यह एक चीज घर लाने से कभी नहीं होगी पैसों की कमी

Ravi Pushya Yog 2023: सनातन धर्म में किसी भी तरह का शुभ और मांगलिक कार्य करने से पहले शुभ मुहूर्त…

Falgun Month 2023: फाल्गुन मास में बनेगा मालव्य योग; राशि अनुसार करें ये उपाय मिलेंगे शानदार नतीजे!

आनंद और उल्लास का महीना फाल्गुन 06 फरवरी 2023 से शुरू हो रहा है, जो कि 7 मार्च 2023 तक…

श्री रूद्र संहिता द्वितीय खंड  ( तीसवां अध्याय ) सती द्वारा योगाग्नि से शरीर को भस्म करना 

सती द्वारा योगाग्नि से शरीर को भस्म करना           ब्रह्माजी से श्री नारद जी ने पूछा-हे पितामह!…

श्री रूद्र संहिता द्वितीय खंड ( उन्तीसवाँ अध्याय ) यज्ञशाला में सती का अपमान 

यज्ञशाला में सती का अपमान           ब्रह्माजी बोले-हे नारद! दक्षकन्या देवी सती उस स्थान पर गई जहां…

श्री रूद्र संहिता द्वितीय खंड  ( अट्ठाईसवां  अध्याय ) सती का दक्ष के यज्ञ में आना 

सती का दक्ष के यज्ञ में आना         ब्रह्माजी कहते हैं-नारद! जिस समय देवता और ऋषिगण दक्ष के…

श्री रूद्र संहिता द्वितीय खंड ( सत्ताईसवां अध्याय ) दक्ष द्वरा महान यज्ञ का आयोजन 

दक्ष द्वरा महान यज्ञ का आयोजन         ब्रह्माजी बोले-हे महर्षि नारद! इस प्रकार, क्रोधित व अपमानित दक्ष ने…

error: Content is protected !!
Join Omasttro
Scan the code