मंगलवार का दिन हनुमान जी को समर्पित माना जाता है. इस दिन हनुमान जी के पूजन से सभी बाधाओं का नाश हो जाता है. मंगलवार के दिन कई लोग सुंदर कांड का पाठ करते हैं. ऐसे में आज हम आपको बताने जा रहे हैं सुंदर कांड का पाठ करने से होने वाले लाभों के बारे में. आइए जानते हैं.


* कहा जाता है सुंदरकांड का पाठ करने वाले भक्त को हनुमान जी बल प्रदान करते हैं। जी हाँ और ऐसे भक्तों के आसपास भी नकारात्मक शक्ति भटक नहीं सकती।


* सुंदरकांड का पाठ करने वालों को शनिदेव परेशान नहीं करते. कहा जाता है जिन जातकों पर शनि की ढैय्या या फिर साढ़ेसाती चल रही हो, उन्हें रोजाना सुंदरकांड का पाठ करना चाहिए. क्योंकि ऐसा करने से शनि की महादशा का प्रभाव कम होता है।



* अगर संभव हो तो विद्यार्थियों को सुंदरकांड का पाठ करना चाहिए। जी दरअसल यह पाठ उनके भीतर आत्मविश्वास को जगाता है और उन्हें सफलता के और करीब ले जाता है.


* शास्‍त्रों के अनुसार जब घर पर रामायण पाठ रखा जाए तो उस पूर्ण पाठ में से सुंदरकांड का पाठ घर के किसी सदस्य को ही करना चाहिए। ऐसा करने से घर में सकारात्मक शक्तियों का प्रवाह होता है। केवल यही नहीं बल्कि इसका पाठ करने से रोग दूर रहते हैं। इससे आपकी दरिद्रता खत्म होती है।



* ज्योतिष के अनुसार यह पाठ घर के सभी सदस्यों के ऊपर मंडरा रहे अशुभ ग्रहों छुटकारा दिलाता है। अगर स्वयं यह पाठ ना कर सकें, तो कम से कम घर के सभी सदस्यों को यह पाठ सुनना जरूर चाहिए।



* कहा जाता है सुंदरकांड का पाठ नित्‍य तौर पर करने से कर्ज से छुटकारा मिलता है।



* अगर आपको रात में बहुत डर लगता है और बुरे सपने आते हैं तो आपको सुंदरकांड पाठ करना चाहिए। या हनुमान चालीसा का पाठ करना चाहिए.



* सुंदरकांड का पाठ करने से गृह क्लेश से छुटकारा मिलता है। इसका पाठ करने से सकारात्मक शक्ति घऱ में आती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: