चित्रा नक्षत्र का फल

चित्रा नक्षत्र का चिह्न

वैदिक ज्योतिष के अनुसार चित्रा नक्षत्र का स्वामी मंगल ग्रह है। यह मोती या मणि की तरह दिखायी देता है। इस नक्षत्र के तवशार या विशकर्मा और लिंग स्री है। यदि आप चित्रा नक्षत्र से संबंध रखते हैं, तो उससे जुड़ी अनेक जानकारियाँ जैसे व्यक्तित्व, शिक्षा, आय तथा पारिवारिक जीवन आदि यहाँ प्राप्त कर सकते हैं।

चित्रा नक्षत्र के जातक का व्यक्तित्व

आप कर्मठ व मिलनसार हैं और सभी के साथ आपके बेहतर सम्बन्ध हैं। जिससे भी आप मिलते हैं खुलकर मिलते हैं। वाक्पटुता आपकी विशेषता है और रिश्तों में आप हमेशा तालमेल बनाने की कोशिश करते हैं। रिश्तों के प्रति आप भावुक हैं लेकिन अपने लाभ-हानि को अच्छी तरह समझते हैं; इसलिए व्यावहारिक जीवन में भावुकता को हावी नहीं होने देते। ऊर्जा से आप हमेशा भरे रहते हैं और साहस भी आपमें कूट-कूट कर भरा हुआ है। किसी भी काम से आप पीछे नहीं हटते और अपनी ऊर्जा-शक्ति से कार्य को पूरा करके ही दम लेते हैं। विपरीत स्थितियों से घबराना तो आपने सीखा ही नहीं है, बल्कि पूरे साहस से आप उनका सामना करते हैं और कठिनाईयों पर विजय हासिल करके आगे बढ़ते हैं। कुछ विचित्र काम करने के आप इच्छुक हैं और निठल्ला बैठना तो आपको बिलकुल पसंद नहीं है। आप काम में कोई टाल-मटोल नहीं करते और जो भी काम करना होता है उसे जल्दी-से-जल्दी पूरा कर देते हैं। सदा व्यस्त रहना आपको पसंद है और एक काम पूरा करते ही आप तुरंत दूसरा काम करना शुरू कर देते हैं; शायद विश्राम शब्द से आप अनजान हैं। अपनी ज़िद के आप पक्के हैं। नौकरी की बजाय आप व्यवसाय को अधिक महत्व देते हैं क्योंकि व्यावसायिक मामलों में आपका दिमाग़़ ख़ूब चलता है। अपने इसी व्यावसायिक दिमाग़़ के कारण आप ख़ूब तरक़्क़ी करेंगे। बोलने की कला में आपको महारत हासिल है, मगर क्रोध से बचना चाहिए और संयम से काम लेना चाहिए। आप जल्दी निराश नहीं होते हैं क्योंकि आशावादी होना आपका एक अहम गुण है। धन-दौलत जमा करने के आप शौक़ीन हैं तथा विलासिता और भौतिकतापूर्ण जीवन जीना आपको पसंद है। कला और विज्ञान में आपकी सहज रुचि है। दुर्बलता छिपाने में आप कुशल हैं इसलिए अपनी गरिमा को बनाए रखना आपको आता है। आपकी अंतर्ज्ञान-शक्ति काफ़ी अच्छी है इसलिए आपके पूर्व-अनुमान अक्सर सही निकलते हैं। ज़िद की वजह से जीवन में आपको विरोध का सामना भी करना पड़ता है, लेकिन यह विरोध और बाधा ही आपकी प्रगति में सहायक होती है। समाज के वंचित वर्गों के प्रति भी आपकी सच्ची सहानुभूति है और उनके उत्थान के लिए भी आप हमेशा तैयार रहते हैं। 32 वर्ष की आयु तक आपके जीवन में कुछ संघर्ष मुमकिन है परन्तु 33 वर्ष की आयु से आप विशेष प्रगति करना शुरू करेंगे। पिता से आपको विशेष स्नेह और संरक्षण प्राप्त है। विज्ञान में आपकी रुचि होगी और संभव है कि इसी क्षेत्र में आप शिक्षा भी प्राप्त करें। आप आकर्षक, स्वतंत्रताप्रिय हैं, परन्तु कभी-कभी ग़ैर-ज़िम्मेदार व्यवहार भी कर सकते हैं।

शिक्षा और आय

आप वास्तुविद, फ़ैशन डिज़ाइनर, मॉडल, सौन्दर्य प्रसाधन से जुड़े कार्य, प्लास्टिक सर्जरी, शल्य चिकित्सक, फ़ोटोग्राफ़र, ग्राफ़िक डिज़ाइनिंग, गीत-संगीत रचनाकार, आभूषण निर्माता, पेंटर या चित्रकार, पटकथा लेखक, उपन्यासकार, नाटक-सिनेमा का सेट तैयार करने से जुड़े कार्य, कला निर्देशक, थिएटर सिनेमा व नाटक से जुड़े कार्य, दवाइयों से जुड़े कार्य, विज्ञापन से जुड़े कार्य आदि करके सफल हो सकते हैं।

पारिवारिक जीवन

अपने माता-पिता और भाई-बहनों से आपका प्यार निष्कपट है, परन्तु संभव है कि नौकरी या व्यवसाय के चलते आपको अपने परिवार से दूर जीवन बिताना पड़े। जिस घर में आपका जन्म हुआ है उस मकान को छोड़कर आप कहीं और रहेंगे इसलिए माता-पिता से पृथक होकर जीवन बिताना पड़ सकता है। वैवाहिक जीवन में लड़ाई-झगड़ों से आपको सदैव बचना चाहिए अन्यथा जीवनसाथी से मन-मुटाव रह सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: