By -: Healer Barkha Pandey 

Email :- Barkhapandeyastro@gmail.com

 

 

1. दुसरो के कर्मबंधन से कोई लेना देना नहीं होता।

मातृका हीलिंग में दुसरो के कर्मबंधन से कोई लेना देना नही है।
जबकि दूसरे तरह की हीलिंग मे उस व्यक्ति के कर्मबंधन से लेना-देना है। जब हीलर हीलिंग करते है तो उसके कर्मबंधन का असर हीलर पर भी पड़ता है।

 

2. सबसे पहले यह उस व्यक्ति के रुट को स्ट्रांग करता है।

मातृका हीलिंग मे सबसे पहले पहले उस व्यक्ति के रुट को स्ट्रांग किया जाता है। किसी बीमार व्यक्ति के रुट को अगर ठीक कर दिया जाता है।
जब व्यक्ति के प्रोब्लेम्स या बीमारी के रुट पे काम होता है तो वह व्यक्ति पूर्ण स्वस्थ हो जाता है।

 

3. यह हमें बहुत सारी विद्याऐ सिखने मे और उन्हें जल्दी याद करने में मदद करता है।

मातृका हीलिंग के द्वारा बहुत सारी विद्याएँ सिखने मे और उन्हें जल्दी याद करने मे मदद मिलती है। जिस किसी बच्चे को याद करने मे असुविधा होती है उन्हें इस प्रकार की हीलिंग के द्वारा ठीक किया जाता है।

4.आप अपने माइंड का एक अच्छा टूल बना सकते है, जिससे आप अपने आप को, दुसरो को,और लाइफ को संभाल सकते है।

इस प्रकार की हीलिंग मे आप अपने माइंड को एक अच्छा टूल बना सकते है। जिससे आप अपने आप को दुसरो के लाइफ को संभाल सकते है।
इस प्रकार की हीलिंग के बाद उस व्यक्ति के पर्सनल ग्रोथ मे बहुत तेज़ी से मदद मिलती है।

 

5. यह किसी भी व्यक्ति के पर्सनल ग्रोथ मे मदद करता है और  यह हमारे मस्तिष्क को अच्छे से विकसित करता है।।

मातृका हीलिंग के द्वारा व्यक्ति के पूर्णत: पर्सनालिटी को विकसित किया जाता है। जबकि दूसरे तरह की हीलिंग मे जहाँ बीमारी या प्रोब्लेम्स है उससे ठीक किया जाता है। पर यहाँ पूर्णतः ठीक किया जाता है।

6. यह हमारे कोस्मिक यूनिवर्स से हमारे माइंड को कनेक्ट करता है।

यह हीलिंग हमें कोस्मिक यूनिवर्स से हमारे माइंड को कनेक्ट करता है।
इस प्रकार मातृका हीलिंग और बाकि हीलिंग से अलग है।

 

मातृका हीलिंग मे अपने सब्जेक्ट को डायरेक्ट मातृका के हवाले कर दी जाती है।
जबकि और तरह की हीलिंग मे ऐसा नहीं है।

 

 

अगला टॉपिक :- बेनिफिट्स ऑफ़ मातृका हीलिंग

 

By -: Healer Barkha Pandey 

Email :- Barkhapandeyastro@gmail.com

 

 

 

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: