स्वप्न विचार, स्वप्न फल और सपनों का मतलब

स्वप्न विचार

स्वप्न फल, स्वप्न विचार, सपनों का सच या स्वप्न रहस्य क्या होता है? ये सवाल हमेशा से लोगों की रुचि के विषय रहे हैं। हम सपने क्यों देखते हैं, क्या सभी स्वप्न सच होते हैं, क्या सपने किसी बात के प्रतीक होते हैं? या फिर स्वप्न हमारी रोजमर्रा की जिंदगी की इच्छा, सोच और भय की तस्वीर मात्र है। अच्छे सपने और बुरे सपनों का मतलब क्या होता है? सपने में सांप देखना, सपने में बंदर देखना, ये ऐसी बातें हैं जो स्वप्न के रहस्य को लेकर मानव समुदाय की उत्सुकता को बढ़ाते हैं। हमारे मन में सपनों को लेकर इस तरह के तमाम सवाल हैं और इसका एक ही जवाब है, हां हर स्वप्न का एक अर्थ होता है लेकिन यह हमेशा सच हो ऐसा जरूरी नहीं है। नींद के दौरान आने वाले सपने कोई साधारण घटना नहीं बल्कि ये हमारे अतीत, वर्तमान और भविष्य के प्रतीक हैं। सपनों के इस संसार को जानने और समझने के लिए omasttro  ने एक पहल की है। हमारे इस लेख की मदद से आपको स्वप्न फल, स्वप्न विचार या सपनों के सच को समझने का अवसर मिलेगा कि, आखिर कैसे सपने आपके जीवन को प्रभावित करते हैं। इस कड़ी में हम आपके लिए लेकर आये हैं संपूर्ण स्वप्न विचार। हमने प्रयास किया है कि जहां तक हो सके आपको हर सपने का सही अर्थ बताया जाये। तो आईये चलते हैं सपनों के इस अनोखे संसार में और जानने की कोशिश करते हैं कि, स्वप्न फल से जुड़े अर्थ और अवधारणा आपके जीवन के लिए कितनी उपयोगी हो सकती हैं?

हम सब के जीवन में सपनों का बड़ा महत्व होता है। क्योंकि हर आदमी जीवन में कुछ करने का और कुछ बनने का सपना देखता है इसलिए मानव जीवन में स्वप्न का महत्व और बढ़ जाता है। सपनों का अपना एक संसार होता है, इनमें कई स्वप्न कुछ संकेत देते हैं हालांकि इसका अर्थ जानने के लिए स्वप्न विचार की सही व्याख्या बेहद जरूरी है। इस लेख में हम आपके लिए लेकर आये हैं ‘’ड्रीम्स डिक्शनरी ’’ यानि सपनों की शब्दावली। इस डिक्शनरी की मदद से आप जान सकेंगे सपनों के सही अर्थ। ऐसा कहा जाता है कि मनुष्य के जीवन कई अच्छे और बुरे अनुभव व इच्छाएं उसके अवचेतन मन में संग्रहित होती रहती है। चेतन अवस्था में आदमी जो भी सोचता है वह बातें उसके अवचेतन मन में घूमती रहती है। नींद के समय ये सभी इच्छाएं, अनुभव और भय स्वप्न के रूप में हमारे सामने आते हैं। सपने किसी बात के प्रतीक होते हैं और इनका अर्थ बहुत व्यापक होता है। अगर वास्तविक जीवन में स्वप्न फल या स्वप्न विचार की व्याख्या की जाये, तो हमें कई समस्याओं का समाधान मिल सकता है।

इसी कड़ी में omasttro ने ड्रीम्स डिक्शनरी के माध्यम से आपको आपके सपने का सही अर्थ बताने और उसकी सटीक व्याख्या करने की कोशिश की है। इसमें आप पाएंगे विभिन्न प्रकार के स्वप्न और उनके अर्थ। मानव सपनों की यह व्याख्या स्वप्न शास्त्रियों द्वारा तैयार की गई है इसलिए अब बिना देर करे, जानें सपनों का सच और उनके अर्थ।

 

 

 

सपने सभी मनुष्य देखतें हैं पर हर सपना अपने आप में कुछ कहना चाहता है। यहां जानिए 100 सपनों के मतलब

1- आंखों में काजल लगाना- शारीरिक कष्ट होना

2- स्वयं के कटे हाथ देखना- किसी निकट परिजन की मृत्यु

3- सूखा हुआ बगीचा देखना- कष्टों की प्राप्ति

4- मोटा बैल देखना- अनाज सस्ता होगा

5- पतला बैल देखना – अनाज महंगा होगा

6- भेडिय़ा देखना- दुश्मन से भय

7- राजनेता की मृत्यु देखना- देश में समस्या होना

8- पहाड़ हिलते हुए देखना- किसी बीमारी का प्रकोप होना

9- पूरी खाना- प्रसन्नता का समाचार मिलना

10- तांबा देखना- गुप्त रहस्य पता लगना

11- पलंग पर सोना- गौरव की प्राप्ति

12- थूक देखना- परेशानी में पडऩा

13- हरा-भरा जंगल देखना- प्रसन्नता मिलेगी

14- स्वयं को उड़ते हुए देखना- किसी मुसीबत से छुटकारा

15- छोटा जूता पहनना- किसी स्त्री से झगड़ा

16- स्त्री से मैथुन करना- धन की प्राप्ति

17- किसी से लड़ाई करना- प्रसन्नता प्राप्त होना

18- लड़ाई में मारे जाना- राज प्राप्ति के योग

19- चंद्रमा को टूटते हुए देखना- कोई समस्या आना

20- चंद्रग्रहण देखना- रोग होना

21- चींटी देखना- किसी समस्या में पढऩा

22- चक्की देखना- शत्रुओं से हानि

23- दांत टूटते हुए देखना- समस्याओं में वृद्धि

24- खुला दरवाजा देखना- किसी व्यक्ति से मित्रता होगी

25- बंद दरवाजा देखना- धन की हानि होना

26- खाई देखना- धन और प्रसिद्धि की प्राप्ति

27- धुआं देखना- व्यापार में हानि

28- भूकंप देखना- संतान को कष्ट

29- सुराही देखना- बुरी संगति से हानि

30- चश्मा लगाना- ज्ञान बढऩा

31- दीपक जलाना- नए अवसरों की प्राप्ति

32- आसमान में बिजली देखना- कार्य-व्यवसाय में स्थिरता

33- मांस देखना- आकस्मिक धन लाभ

34- विदाई समारोह देखना- धन-संपदा में वृद्धि

35- टूटा हुआ छप्पर देखना- गड़े धन की प्राप्ति के योग

36- पूजा-पाठ करते देखना- समस्याओं का अंत

37- शिशु को चलते देखना- रुके हुए धन की प्राप्ति

38- फल की गुठली देखना- शीघ्र धन लाभ के योग

39- दस्ताने दिखाई देना- अचानक धन लाभ

40- शेरों का जोड़ा देखना- दांपत्य जीवन में अनुकूलता

41- मैना देखना- उत्तम स्वास्थ्य की प्राप्ति

42- सफेद कबूतर देखना- शत्रु से मित्रता होना

43- बिल्लियों को लड़ते देखना- मित्र से झगड़ा

44- सफेद बिल्ली देखना- धन की हानि

45- मधुमक्खी देखना- मित्रों से प्रेम बढऩा

46- खच्चर दिखाई देना- धन संबंधी समस्या

47- रोता हुआ सियार देखना- दुर्घटना की आशंका

48- समाधि देखना- सौभाग्य की प्राप्ति

49- गोबर दिखाई देना- पशुओं के व्यापार में लाभ

50- चूड़ी दिखाई देना- सौभाग्य में वृद्धि

51 to 75

51- दियासलाई जलाना- धन की प्राप्ति

52- सीना या आंख खुजाना- धन लाभ

53- सूखा जंगल देखना- परेशानी होना

54- मुर्दा देखना- बीमारी दूर होना

55- आभूषण देखना- कोई कार्य पूर्ण होना

56- जामुन खाना- कोई समस्या दूर होना

57- जुआ खेलना- व्यापार में लाभ

58- धन उधार देना- अत्यधिक धन की प्राप्ति

59- चंद्रमा देखना- सम्मान मिलना

60- चील देखना- शत्रुओं से हानि

61- स्वयं को दिवालिया घोषित करना- व्यवसाय चौपट होना

62- चिडिय़ा को रोते देखता- धन-संपत्ति नष्ट होना

63- चावल देखना- किसी से शत्रुता समाप्त होना

64- चांदी देखना- धन लाभ होना

65- दलदल देखना- चिंताएं बढऩा

66- कैंची देखना- घर में कलह होना

67- सुपारी देखना- रोग से मुक्ति

68- लाठी देखना- यश बढऩा

69- खाली बैलगाड़ी देखना- नुकसान होना

70- खेत में पके गेहूं देखना- धन लाभ होना

71- फल-फूल खाना- धन लाभ होना

72- सोना मिलना- धन हानि होना

73- शरीर का कोई अंग कटा हुआ देखना- किसी परिजन की मृत्यु के योग

74- कौआ देखना- किसी की मृत्यु का समाचार मिलना

75- धुआं देखना- व्यापार में हानि

76 to 100

76- चश्मा लगाना- ज्ञान में बढ़ोत्तरी

77- भूकंप देखना- संतान को कष्ट

78- रोटी खाना- धन लाभ और राजयोग

79- पेड़ से गिरता हुआ देखना- किसी रोग से मृत्यु होना

80- श्मशान में शराब पीना- शीघ्र मृत्यु होना

81- रुई देखना- निरोग होने के योग

82- कुत्ता देखना- पुराने मित्र से मिलन

83- सफेद फूल देखना- किसी समस्या से छुटकारा

84- उल्लू देखना- धन हानि होना

85- सफेद सांप काटना- धन प्राप्ति

86- लाल फूल देखना- भाग्य चमकना

87- नदी का पानी पीना- सरकार से लाभ

88- धनुष पर प्रत्यंचा चढ़ाना- यश में वृद्धि व पदोन्नति

89- कोयला देखना- व्यर्थ विवाद में फंसना

90- जमीन पर बिस्तर लगाना- दीर्घायु और सुख में वृद्धि

91- घर बनाना- प्रसिद्धि मिलना

92- घोड़ा देखना- संकट दूर होना

93- घास का मैदान देखना- धन लाभ के योग

94- दीवार में कील ठोकना- किसी बुजुर्ग व्यक्ति से लाभ

95- दीवार देखना- सम्मान बढऩा

96- बाजार देखना- दरिद्रता दूर होना

97- मृत व्यक्ति को पुकारना- विपत्ति एवं दु:ख मिलना

98- मृत व्यक्ति से बात करना- मनचाही इच्छा पूरी होना

99- मोती देखना- पुत्री प्राप्ति

100- लोमड़ी देखना- किसी घनिष्ट व्यक्ति से धोखा मिलना

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!

जयन्ती मङ्गला काली भद्रकाली कपालिनी। 
दुर्गा क्षमा शिवा धात्री स्वाहा स्वधा नमोऽस्तु ते।।
 
ॐ एस्ट्रो के सभी पाठको को
शारदीय नवरात्रि और विजयादशमी
की हार्दिक शुभकामनाये ||

Om Asttro / ॐ एस्ट्रो

आपका हार्दिक स्वागत करता है ,

ॐ एस्ट्रो से अभी जुड़े 

You have successfully subscribed to the newsletter

There was an error while trying to send your request. Please try again.

Om Asttro / ॐ एस्ट्रो will use the information you provide on this form to be in touch with you and to provide updates and marketing.
%d bloggers like this: