कृत्तिका नक्षत्र का फल

वैदिक ज्योतिष के अनुसार कृत्तिका नक्षत्र का स्वामी सूर्य ग्रह है। यह लौ, छुरे की धार, कुल्हाड़ी, या चाकू की तरह दिखायी देता है। इस नक्षत्र के अग्नि और लिंग स्री है। यदि आप कृत्तिका नक्षत्र से संबंध रखते हैं, तो उससे जुड़ी अनेक जानकारियाँ जैसे व्यक्तित्व, शिक्षा, आय तथा पारिवारिक जीवन आदि यहाँ प्राप्त कर सकते हैं।

कृत्तिका नक्षत्र का चिह्न

कृत्तिका नक्षत्र के जातक का व्यक्तित्व

आप अच्छे सलाहकार और आशावादी सोच वाले हैं। शिष्ट आचरण और मर्यादित जीवन जीना आपकी विशेषता है। आपके चेहरे से एक तेज झलकता है और आप चलते भी तेज़ गति से हैं। कृतिका शब्द से अंग्रेज़ी भाषा का ‘क्रिटिकल’ शब्द बना है अतः मानवीय स्वभाव के दोषों को खोज निकालना और उन्हें दूर करने का प्रयास करना आपका विशेष गुण हैं। आप किसी भी कार्य के परिणाम का विश्लेषण करके उसमें छुपे गुण-दोष भी खोज निकालने में माहिर हैं। आप अपने वचनों के पक्के हैं और समाज-सेवा में भी रुचि रखते हैं। यश और ख्याति से तो आपको कुछ लेना-देना ही नहीं है तथा किसी की दया पर भी आश्रित नहीं रहना चाहते हैं। अपना हर काम आप ख़ुद करने में विश्वास रखते हैं। हालात के अनुसार ढलना भी आपको नहीं आता और अपने फ़ैसलों पर हमेशा अडिग रहते हैं। भले ही बाहर से आप कठोर नज़र आते हों परंतु आपके अंदर प्यार, ममता व दया छिपी हुई है। आपका क्रोध डराने के लिए नहीं बल्कि नीति-नियमों का पालन करने के लिए होता है। आध्यात्मिक क्षेत्र में भी आपकी रुचि है। आप जप-तप, व्रत-उपवास करके धार्मिक जीवन में उन्नति कर सकते हैं। एक बार अगर आप आध्यात्मिक पथ पर आगे बढ़ जाते हैं तो किसी प्रकार के माया-मोह के बंधन आपका रास्ता नहीं रोक सकते। अत्यधिक परिश्रमी होने से आप निरंतर कर्म करने में विश्वास रखते हैं। शिक्षा का क्षेत्र हो अथवा नौकरी, व्यवसाय का – आप सबसे आगे रहना पसंद करते हैं। पिछड़ना या पराजित होना तो आपको असह्य जान पड़ता है। आपका अत्यधिक ईमानदारी भरा व्यवहार आपको धोखा भी दिलवा सकता है। प्राय: जन्मभूमि से दूर रहकर ही आप ज़्यादा सफलता प्राप्त करेंगे। आप दूसरों को उनकी समस्याओं से निपटने के लिए अच्छी सलाह देने में सक्षम हैं। आपको ग़लत तरीक़ों से और दूसरों की दया से यश, धन और नाम कमाना बिलकुल पसंद नहीं है। आपमें धन कमाने की भी अपूर्व योग्यता है और किसी भी लक्ष्य के लिए कड़ा परिश्रम करना आपकी आदत में शुमार है। आपका सार्वजनिक जीवन भी यशस्वी होगा। आपका रूप आकर्षक होगा और साफ़-सफ़ाई पसंद करने वाले होंगे। आप जीवन को अपने नियमों और उसूलों से जियेंगे। आपकी संगीत और कला के प्रति भी बहुत रुचि होगी तथा आप सिखाने का काम भी बख़ूबी कर सकते हैं।

शिक्षा और आय

आप प्राय: अपने जन्म-स्थान पर नहीं टिकेंगे और रोज़गार के सिलसिले में परदेश जा सकते हैं। चिकित्सा, इंजीनियरिंग, दवाइयों से जुड़े क्षेत्र, आभूषण-निर्माण सम्बंधित कार्य, विश्वविद्यालय के उच्च अधिकारी या विभागाध्यक्ष, वकील, न्यायाधीश, सेना, पुलिस या सुरक्षा बल में नौकरी, अग्निशमन अधिकारी, पालना-घर, अनाथ आश्रम से जुड़े कार्य, व्यक्तित्व निखारने व आत्मविश्वास बढ़ाने से सम्बंधित कार्य, आध्यात्मिक गुरु या उपदेशक, अग्नि से जुड़े व्यवसाय जैसे हलवाई, बेकरी, वैल्डिंग, ढलाई का काम, सिलाई-कढ़ाई, दर्जी, चीनी मिट्टी या सिरेमिक की वस्तुएँ बनाने वाले तथा वे सभी कार्य जिसमें आग या तेज़ धार वाले औज़ारों का प्रयोग होता हो – आप उन्हें करके सफल हो सकते है।

पारिवारिक जीवन

आपका वैवाहिक जीवन सुखी रहेगा। जीवनसाथी गुणवान, समर्पित, निष्ठावान और घरेलू कार्य में निपुण होगा। इतने अनुकूल घरेलू वातावरण के बावजूद जीवनसाथी का स्वास्थ्य आपकी चिंता का विषय हो सकता है। आपका जीवनसाथी पूर्व परिचित हो सकता है। प्रेम विवाह की भी संभावना है। आप अपनी माता से विशेष लगाव रखते है और आपको अपनी माता से अन्य भाई व बहनों की अपेक्षा अधिक स्नेह मिलेगा। संभव है कि जीवन 50 वर्ष की आयु तक विशेष संघर्षशील रहे, लेकिन उसके उपरांत 50 वर्ष से 56 वर्ष की उम्र का समय बहुत अच्छा बीतेगा।

2 thoughts on “कृत्तिका नक्षत्र”
  1. Mera janam 1/4/1981ka he
    Mere Bare me kuch bataye
    Konse samay me ghar banega
    Vyapari khub Kab badega

    Mujhe jankari acchi lagi 10=9

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: