By :- Healer Barkha Pandey

Email -: Barkhapandeyastro@gmail.com

मातृका

हिन्दू धर्म मे मातृका हीलिंग मे देवियों का एक समूह है। इस समूह मे कहीं सात देवीया तो कहीं आठ देवीया होती है।

जिसे सप्तमातृका या अष्ठीमातृका कहते है। भगवान विष्णु ने इस विनाशकारी देवियों का निर्माण राक्षस , अंधकासुर के विरुद्ध भगवान शिव को युद्ध मे सहायता के लिए किया था।

शक्ति या ऊर्जा संप्रदाये मे देविशक्तियों का वर्णन राक्षसों के विरुद्ध युद्ध मे साधयक देवीयों के रूप मे किया जाता है।
इन मातृका के नाम :-

  • ब्राह्मणी
  • वैष्णवी
  • माहेश्वरी
  • कौमारी
  • इन्द्राणी
  • वाराही
  • चामुंडा
  • नरसिंही

प्रमुख रूप से ये देवीया हिन्दू देवताओं की शक्तियां है और मुख्य रूप से अपने देवत्य के लिए प्रतिष्ठित है।
शास्त्रों का कहना है की वो देवीया शिव संप्रदाय से जुडी हुई है। इनका उल्लेख ऋग्वेद मे किया गया है।
धार्मिक सथलो या गुफाओ मे मत्रिकाओं की पत्थर की मुर्तिया उनके मातृत्व तथा विनाशकारी रूप को दर्शाती है

अगला लेख मातृका हीलिंग और बाकि हैलिंगो मे क्या डिफरेंस है

By :- Healer Barkha Pandey

Email -: Barkhapandeyastro@gmail.com

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: