मघा नक्षत्र का फल

मघा नक्षत्र का चिह्न

वैदिक ज्योतिष के अनुसार मघा नक्षत्र का स्वामी केतु ग्रह है। यह सिंहासन-कक्ष या पालकी की तरह दिखायी देता है। इस नक्षत्र के पिटिस और लिंग स्री है। यदि आप मघा नक्षत्र से संबंध रखते हैं, तो उससे जुड़ी अनेक जानकारियाँ जैसे व्यक्तित्व, शिक्षा, आय तथा पारिवारिक जीवन आदि यहाँ प्राप्त कर सकते हैं।

मघा नक्षत्र के जातक का व्यक्तित्व

आपका व्यक्तित्व प्रभावशाली है और आप जहाँ भी जाते हैं अपना दबदबा बनाकर रखते हैं। आप ऊर्जावान और कर्मठ हैं, इसलिए जिस काम का ज़िम्मा आप लेते हैं उसे जल्द-से-जल्द पूरा करने की कोशिश करते हैं। आपका रवैया सकारात्मक है, इसलिए कभी-कभी आप ऐसे कार्य कर देते हैं जिससे देखने वाले अचंभित रह जाते हैं। आपमे स्वाभिमान की भावना भी कुछ अधिक है और अपने स्वाभिमान के आगे आप कभी समझौता नहीं करते हैं। अपना मान-सम्मान बचाए रखने का आप हर संभव प्रयास करते हैं और हर कार्य सोच-विचार कर करते हैं। ईश्वर में आपका पूर्ण विश्वास है। सरकार या सरकारी विभागों से आपका गहरा सम्बन्ध होगा और समाज के उच्च वर्ग के लोगों से भी आपका अच्छा रिश्ता रहेगा। इन संबंधों से आपको काफ़ी लाभ भी मिल सकता है। आप मीठा बोलने वाले और वैज्ञानिक विषयों में पैठ रखने वाले हैं। विभिन्न कलाओं में भी आपकी रुचि है। अपने शांत स्वभाव, शांतिप्रिय जीवन की कामना और समझदारी के कारण आप समाज में सम्मानित हैं। क्रोध या गर्म मिज़ाज से आपको बचना चाहिए। सच्चाई के ख़िलाफ़ कोई बात, कोई कार्य करना आपको पसंद नहीं है। आप भरसक प्रयास करते हैं कि आपके व्यवहार से किसी को ठेस नहीं पहुँचे। अगर कभी आपको लगता है की आपके कारण किसी को दुःख पहुँचा है तो आप तत्काल क्षमा मांग लेते हैं। निजी स्वार्थ से कोसों दूर, समाज के लिए कुछ-न-कुछ उपयोगी व हितकर कार्य करना आपको अच्छा लगता है और इसके बदले में आप किसी से कुछ भी अपेक्षा नहीं करते हैं। व्यवसाय या नौकरी में अत्यधिक ईमानदारी के कारण कभी-कभी आपको हानि भी हो सकती है परन्तु आप अपना हर कार्य पूरी ईमानदारी से करते हैं। धनी-मानी लोगों के सहयोग से आप सभी सुख-सुविधाएँ जुटाने में सफल रहेंगे, परन्तु सत्ता व शक्ति के अभिमान से आपको सदैव दूर रहना चाहिए। भौतिक और लौकिक सुख-सुविधाओं को जुटाना आपको पसंद है, लेकिन आपकी आध्यात्मिक और धार्मिक चीज़ों में भी बहुत रुचि है। आदर्शवादी और सत्यनिष्ठ होना आपकी विशेषता है और परम्पराओं व पूर्वजों के प्रति भी आपका आदर-भाव है। आप पूर्ण सांसारिक साधनों का उपभोग करने वाले हैं और आपके पास कई काम करने वाले हैं। अपने अधीन काम करने वाले लोगों के प्रति आपका दयालु व सम्मान-जनक रवैया है। धन और सम्पत्ति के मामले में आप काफ़ी समझदारी दिखाते हैं और आर्थिक लाभ का जब मामला होता है तब अपनी पूरी क्षमता लगा देते हैं–इसलिए सफलता अक्सर आपके क़दम चूमती है। आप विभिन्न विषयों में पारंगत हैं। सामाजिक कार्यों में भी आपकी रुचि है इसलिए आप ऐसे कार्यों में बढ़-चढ़ कर हिस्सा लेते हैं। उन लोगों को आप बिलकुल पसंद नहीं करते हैं जो दूसरों के कार्यों में रुकावट डालकर उन्हें परेशान करते हैं; इसी वजह से आपके कई छुपे शत्रु भी हैं। जहाँ तक मित्रता का प्रश्न है तो आपके अधिक मित्र नहीं हैं, परन्तु जितने भी मित्र हैं उनसे आप प्रेम करते हैं। आपका व्यक्तित्व सुन्दर और आकर्षक होगा और निःस्वार्थ भाव से सबकी सेवा करना आपकी आदत है। स्पष्टवादिता आपकी पहचान भी है और ताक़त भी।

शिक्षा और आय

आपके पास धन-सम्पत्ति और सेवक होंगे। आप दुर्लभ वस्तुओं के व्यापारी, राज्य स्तर के उच्च अधिकारी, बड़े व्यापारी, वकील, न्यायाधीश, राजनीतिज्ञ, इतिहासकार, प्रवचनकर्ता, कलाकार, ज्योतिषी, भवन का डिज़ाइन बनाने वाले, प्रशासक, किसी संस्थान के अध्यक्ष, प्राचीन सभ्यता और संस्कृति से जुड़े व्यवसाय आदि करके सफल हो सकते हैं।

पारिवारिक जीवन

आप प्राय: ख़ुशहाल और आनंदपूर्ण वैवाहिक जीवन जिएंगे और आपकी संतानें भी भाग्यशाली होंगी। जीवनसाथी काफ़ी समझदार और दैनिक कार्यों में निपुण होगा। वह परिवार की ज़िम्मेदारी भी बख़ूबी पूरी करेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: