Omasttro के इस विशेष ब्लॉग में हम आपको जल्द होने वाले बुध मार्गी होने की महत्वपूर्ण ज्योतिषीय घटना के बारे में जानकारी प्रदान करने जा रहे हैं। जानकारी के लिए बता दें 3 जून, 2022 को वृषभ राशि में बुध मार्गी होने जा रहे हैं। ज्योतिष के अनुसार बात करें तो बुध ग्रह को ज्ञान और बुद्धि का कारक माना गया है। साथ ही प्रगतिशील होने का अर्थ होता है कि कथित ग्रह के चरणों में विकास होना। तो आइये आगे बढ़ते हैं और जानते हैं कि बुध का मार्गी होना विभिन्न राशियों और देश और दुनिया पर क्या कुछ प्रभाव डालेगा।

वृषभ राशि में बुध मार्गी

वृषभ राशि शुक्र के स्वामित्व वाली राशि है और यह इस बात का संकेत है कि बुध का वृषभ राशि में मार्गी होना जातकों को उनकी इच्छाओं को पूरा करने का पर्याप्त अवसर प्रदान करेगा। बुध ग्रह का यह विशेष परिवर्तन इस बात की तरफ ही प्रबल संकेत कर रहा है कि इस दौरान जातकों के ज्ञान में वृद्धि, धन प्राप्त करने की ढेरों अवसर, परिवार के प्रति प्रतिबद्धता दिखाने के शुभ अवसर और बच्चों के विकास की खुशी उनके जीवन में दस्तक दे सकती है। इसके अलावा ज्योतिष के अनुसार बुध की वृषभ राशि में यह स्थिति एक शुभ स्थिति मानी जा रही है इसलिए इस अवधि के दौरान जातक खुद को स्थिर करने की स्थिति में नजर आएंगे।

 

हालांकि यहां यह बात जाना बेहद आवश्यक हो जाता है कि बुध ग्रह किसी व्यक्ति की कुंडली में कैसी स्थिति में है इसके आधार पर ही व्यक्ति को सकारात्मक या नकारात्मक परिणाम प्राप्त होते हैं।

जातकों पर बुध की मार्गी स्थिति का प्रभाव

  • जो जातक व्यापार और व्यवसाय के क्षेत्र से जुड़े हुए हैं उन्हें अपने व्यापार में अच्छे और शुभ फल प्राप्त होंगे और आप वृद्धि देखेंगे।
  • इसके अलावा बुध की यह स्थिति जातकों के जीवन में धन प्रवाह में वृद्धि और धन संचित करने की संभावना भी लेकर आएगी।
  • इसके अलावा जो जातक ललित कला आदि से संबंधित व्यवसाय से जुड़े हैं उन्हें इस समय अवधि के दौरान अच्छे विकास का शुभ दौर देखने को मिलेगा।
  • साथ ही जो जातक धन से संबंधित कोई निर्णय लेना चाहते हैं जैसे कि कोई निवेश करना चाहते हैं इस दौरान वो अपने मकसद में कामयाब हो सकते हैं।

भारत और विश्व पर बुध मार्गी का प्रभाव

  • बुध ग्रह के मार्गी होने के प्रभाव स्वरूप दुनिया भर में व्यापार की अच्छी संभावना देखने को मिलेगी।
  • इसके अलावा इस दौरान उच्च लाभ और सफलता प्राप्त करना संभव होगा।
  • अध्यात्म और मनोगत प्रथाओं से संबंधित गतिविधियों में रुचि देखने को मिल सकती है।
  • आउटसोर्सिंग बढ़ने से कारोबार में तेजी आने की संभावना है।
  • स्नायु संबंधित समस्याएं, त्वचा संबंधित समस्याएं होने की भी प्रबल आशंका है। ऐसे में इस पक्ष पर सावधान रहने की सलाह दी जाती है।
  • व्यापार, नेटवर्किंग, और संचार से संबंधित गतिविधियां इस दौरान अच्छी तरह से फलती फूलती नजर आएंगी।
  • इसके अलावा बुध की यह स्थिति शिक्षा के परिदृश्य में विकास लेकर आएगी।

 

मार्गी बुध किन राशियों के लिए अनुकूल किनके लिए प्रतिकूल?

इन राशियों को मिलेंगे शुभ परिणाम

  • कन्या राशि: कन्या राशि के जातकों के जीवन में प्रगति प्राप्त होगी और आप अपने द्वारा किए जा रहे प्रयासों से संतुष्ट नजर आएंगे। बुध की इस स्थिति के दौरान आपको अपने जीवन में वित्तीय स्वतंत्रता प्राप्त होगी। इसके अलावा पारिवारिक विकास शानदार रहेगा और आपको अपने बच्चों से भरपूर सहयोग मिलेगा।

साथ ही आपको ऐसे मौके भी मिलेंगे जहां पर आप अपने बच्चों की वजह से गौरवान्वित महसूस करेंगे। यदि आप कोई नया निवेश करना चाहते हैं या ऐसा कोई भी महत्वपूर्ण निर्णय लेना चाहते हैं तो उसके लिए यह समय आदर्श समय साबित होगा। इसके अलावा इस समय अवधि में आप अपने विचारों को रचनात्मक बनाने और ज्यादा से ज्यादा विकसित करके उनका उपयोग करने में कामयाब रहेंगे।

  • कुंभ राशि: कुंभ राशि के जातक इस समय अवधि में अपने करियर में अच्छा प्रदर्शन करने में कामयाब होंगे। साथ ही इस राशि के नौकरी पेशा जातकों को नौकरी के नए अवसर भी प्राप्त होने की संभावना बन रही है। जिससे आपके जीवन में सफलता आएगी। अपने करियर में अपनी बुद्धि का उपयोग करना आपके लिए शुभ साबित होगा।

इसके अलावा अपने समर्पण और कड़ी मेहनत के दम पर आपको पदोन्नति के अवसर भी मिल सकते हैं। इस राशि के कुछ जातकों को करियर से संबंधित किसी लंबी दूरी की यात्रा पर भी जाने का सौभाग्य प्राप्त हो सकता है और ऐसी यात्रा आपके लिए फायदेमंद साबित होगी।

  • मीन राशि: इस राशि के जातक इस समय अवधि में अपनी इच्छाओं को पूरा करने में कामयाब होंगे। साथ ही आपको आर्थिक लाभ मिलेगा। इसके साथ-साथ करियर में विकास भी मुमकिन होगा। मीन राशि के जातकों को बुध की मार्गी स्थिति के दौरान अपने भाई बहनों का उत्तम सहयोग प्राप्त होगा।

इसके अलावा इस दौरान आप अपने दोस्तों और रिश्तेदारों से मिलेंगे और इनकी कंपनी आपके लिए फायदेमंद साबित होगी। इस राशि के कुछ जातकों को सट्टा बाजारी के माध्यम से अच्छा लाभ भी मिल सकता है।

 

इन राशियों को एक सतर्क रहने की आवश्यकता है

  • धनु राशि: इस राशि के जातकों को अपने करियर पर ज्यादा ध्यान देने और स्थिरता की दिशा में काम करने की आवश्यकता पड़ेगी क्योंकि मुमकिन है कि इस समय अवधि के दौरान नौकरी में ज्यादा दबाव आप महसूस कर सकते हैं जिससे आपको अपने करियर में रुकावटों का सामना करना पड़ सकता है।

इसके अलावा आर्थिक पक्ष में भी आपको उतार-चढ़ाव की स्थिति देखने को मिलेगी और मुमकिन है कि इस दौरान आप धन संचित करने में असफल महसूस करें। इस राशि के व्यवसाई जातक अपेक्षित लाभ प्राप्त करने में सक्षम नहीं होंगे। इसके अलावा धनु राशि के जातकों को अपने स्वास्थ्य का विशेष ध्यान रखने की भी सलाह दी जाती है क्योंकि इस दौरान आपको गले से संबंधित या फिर पीठ दर्द की आशंका बन रही है। कोई भी महत्वपूर्ण फैसला लेने का विचार कर रहे हैं तो आपको बहुत यह सोच समझकर कदम आगे बढ़ाने की सलाह दी जाती है।

  • कर्क राशि: इस अवधि के दौरान कर्क राशि के जातकों को अपने जीवन में विकास में कुछ देरी का सामना करना पड़ सकता है। साथ ही संचार समस्याओं के चलते परिवार के सदस्यों के साथ भी आपके रिश्ते नकारात्मक रूप से प्रभावित हो सकते हैं। ऐसे में आपको धैर्य पूर्वक और शांति से अपनी बात रखने की सलाह दी जाती है।

कोई भी महत्वपूर्ण फैसला लेते समय आप थोड़ा डगमग आया हुआ महसूस कर सकते हैं क्योंकि बुध की इस स्थिति से आपके अंदर आत्मविश्वास की कमी देखने को मिल सकती है। इसके अलावा इस अवधि के दौरान कर्क जातकों को आर्थिक परेशानियों से भी दो-चार होना पड़ सकता है।

  • वृश्चिक राशि: बुध की इस स्थिति के दौरान वृश्चिक राशि के जातकों को अपने विकास में कुछ दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है जिसकी वजह से आपकी सफलता में देरी होने की प्रबल संकेत मिल रहे हैं। रिश्तो में रुकावटें आ सकती हैं और इस वजह से गलतफहमियां पैदा हो सकती हैं।

धन का प्रवाह डगमगा सकता है। साथ ही मुमकिन है कि इस दौरान आपके खर्चे बढ़ जाए। इसके अलावा वृश्चिक राशि के जातकों को अपने जीवन साथी के स्वास्थ्य पर भी मोटा धन खर्च करना पड़ सकता है।

 इस अवधि में बुध के शुभ प्रभाव को बढ़ाने के लिए अवश्य करें ये ज्योतिषीय उपाय

  • प्रतिदिन 41 बार “ॐ बुधाय नमः” का जाप करें।
  • बुधवार के दिन बुध के लिए हवन करें।
  • बुधवार के दिन विकलांगों को भोजन दान करें।
  • प्रतिदिन ‘ॐ ब्रं ब्रीं ब्रौं सह बुधाय नमः’ का जाप करें।

 

इसी आशा के साथ कि, आपको यह लेख भी पसंद आया होगा omasttro के साथ बने रहने के लिए  हम आपका बहुत-बहुत धन्यवाद करते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: