Omasttro

अक्टूबर का महीना बस कुछ ही दिनों में शुरू होने वाला है। यह महीना तमाम त्योहारों, बैंक अवकाशों  से सजा और भरा रहने वाला है। ऐसे में स्वाभाविक है कि आप भी समय से पहले ही यह जानना चाहेंगे कि आखिर त्योहारों से सजे इस महीने का क्या आप खुलकर आनंद ले पाएंगे? क्या आपकी आर्थिक स्थिति इतनी मजबूत रहने वाली है कि आप तनावमुक्त होकर इन त्योहारों का खुलकर आनंद ले सकें? इस दौरान आपका स्वास्थ्य आपके पक्ष में रहेगा? इत्यादि।

 

अगर आपके मन में भी इस तरह के सवाल हैं तो आप एकदम सही जगह पर आए हैं क्योंकि omasttro का यह विशेष मासिक राशिफल ब्लॉग आपके इन्हीं सवालों को आधार बनाकर तैयार किया गया है जो वैदिक ज्योतिष की गणना पर आधारित और हमारे विद्वान ज्योतिषियों द्वारा तैयार किया जाता है। यहां आपको अपने सभी सवालों का जवाब मिलेगा। साथ ही इस महीने को और भी ज्यादा उपयोगी और कारगर बनाने के उपायों की जानकारी भी आपको यहाँ प्रदान की जा रही है।

तो आइए आगे बढ़ते हैं और जान लेते हैं अक्टूबर का महीना सभी 12 राशियों के लिए कितना खास रहेगा और साथ ही जानते हैं सभी 12 राशियों की विस्तृत भविष्यवाणी क्या कुछ कहती है।

 

अक्टूबर मासिक राशिफल में क्या है ख़ास?

  • व्रत त्योहारों की संपूर्ण सूची
  • ग्रहण और गोचर की विस्तृत जानकारी
  •  स्टॉक मार्किट भविष्यवाणी
  • इस महीने जन्मे नामचीन लोगों की जानकारी
  • सभी बारह राशियों की मासिक भविष्यवाणी 

इस महीने का हिन्दू पंचाग 

हिंदू पंचांग की गणना के अनुसार अक्टूबर 2022 महीने की शुरूआत होगी ज्येष्ठा नक्षत्र के तहत आश्विन मास में शुक्ल पक्ष की षष्ठी तिथि से और यह महीना उत्तराषाढ़ा नक्षत्र के तहत कार्तिक महीने के शुक्ल पक्ष की सप्तमी तिथि के साथ समाप्त होगा। 

 

अक्टूबर में आएंगे आश्विन कार्तिक के महीने 

हिंदू पंचांग की गणना के अनुसार आश्विन मास हिंदू पंचांग का सातवां महीना और अंग्रेजी कैलेंडर के दसवें महीने अक्टूबर को कहा जाता है। यह महीना इसलिए भी खास होता है क्योंकि इसी माह में पितृपक्ष की समाप्ति होती है और शारदीय नवरात्रि का प्रारंभ होता है। ऐसे में अपने पितरों का आशीर्वाद प्राप्त करने और साथ ही देवी दुर्गा की कृपा अपने जीवन पर प्राप्त करने के लिहाज से इस महीने का विशेष महत्व माना गया है। 

इसके अलावा इस महीने में सूर्य धीरे-धीरे कमजोर होने लगता है और शनि और तमस का प्रभाव बढ़ने लगता है। आश्विन माह के दो पक्षों की बात करें तो जहां कृष्ण पक्ष पूर्वजों की आत्मा की शांति के लिए समर्पित होता है वहीं शुक्ल पक्ष को मां दुर्गा की पूजा के लिए समर्पित माना गया है।

इसके बाद अक्टूबर के महीने में ही कार्तिक मास का प्रारंभ भी हो जाएगा। कार्तिक मास का सनातन धर्म में विशेष महत्व माना गया है। ऐसा इसलिए क्योंकि यह चातुर्मास का आखरी महीना होता है। यानी इसके बाद चातुर्मास समाप्त हो जाएंगे और शुभ कार्य वापस से किए जाएंगे। इस महीने में दान पुण्य और पूजा-पाठ का विशेष महत्व बताया गया है। 

त्योहारों की बात करें तो इस महीने में सुहागिनों का सबसे विशेष त्यौहार करवा चौथ मनाया जाएगा, अहोई अष्टमी, रमा एकादशी, धनतेरस, दिवाली, गोवर्धन पूजा, भैया दूज, और छठ पूजा, जैसे बड़े पर्व भी कार्तिक माह में मनाए जाते हैं।

अश्विन और कार्तिक माह के ये उपाय दिलाएँगे सुख-समृद्धि 

  • आश्विन माह में पड़ने वाली अमावस्या के दिन यदि कोई व्यक्ति दान पुण्य करता है तो उसकी कुंडली से पितृदोष, छाया दोष और मानसिक समस्याएं दूर होने लगती हैं। 
  • इसके अलावा आर्थिक संपन्नता के लिए आश्विन मास में चीटियों, पशु पक्षियों, गायों, कुत्तों, को भोजन अवश्य दें। 
  • इसके अलावा आश्विन मास में खीर बनाकर ब्राह्मणों को अवश्य खिलाएं। ऐसा करने से आपके जीवन में स्थिरता आती है और मनोकामनाएं पूरी होती हैं। 
  • बात करें कार्तिक माह में किए जाने वाले उपायों की तो कार्तिक मास के शुक्रवार के दिन विशेष तौर पर मां लक्ष्मी की पूजा करें। ऐसा करने से आपके जीवन में आर्थिक संपन्नता आजीवन बनी रहेगी। 
  • इसके अलावा अपने घर में शंख और घंटी स्थापित करें। ऐसा करने से भी मां लक्ष्मी प्रसन्न होती हैं। 
  • मुमकिन हो तो कार्तिक माह के शुक्रवार के दिन लक्ष्मी नारायण का पाठ कराएं और खीर का भोग लगाएं।

 

2022 अक्टूबर महीने में पड़ने वाले व्रत और त्योहार

दिन और वार व्रत और त्योहार
02 अक्टूबर 2022 रविवार गाँधी जयंती , सरस्वती आवाहन , दुर्गा पूजा
03 अक्टूबर 2022 सोमवार सरस्वती पूजा , दुर्गाष्टमी व्रत
04 अक्टूबर 2022 मंगलवार सरस्वती बलिदान , महा नवमी , विश्व पशु दिवस , सरस्वती विसर्जन
05 अक्टूबर 2022 बुधवार विजय दशमी
06 अक्टूबर 2022 गुरुवार पापांकुशा एकादशी
07 अक्टूबर 2022 शुक्रवार प्रदोष व्रत
09 अक्टूबर 2022 रविवार मीलाद उन-नबी , सत्य व्रत , कार्तिक स्नान , काजोगरा पूजा , वाल्मीकि जयंती , पूर्णिमा , सत्य व्रत , शरद पूर्णिमा , पूर्णिमा व्रत
13 अक्टूबर 2022 गुरुवार करवा चौथ , संकष्टी गणेश चतुर्थी
17 अक्टूबर 2022 सोमवार तुला संक्रांति , कालाष्टमी , अहोई अष्टमी
23 अक्टूबर 2022 रविवार धनतेरस , प्रदोष व्रत , काली चौदस , मास शिवरात्रि
24 अक्टूबर 2022 सोमवार नरक चतुर्दशी , दिवाली
25 अक्टूबर 2022 मंगलवार भौमवती अमावस्या , अमावस्या , गोवर्धन पूजा
26 अक्टूबर 2022 बुधवार अन्नकूट , चंद्र दर्शन , भाई दूज
28 अक्टूबर 2022 शुक्रवार वरद चतुर्थी
29 अक्टूबर 2022 शनिवार लाभ पंचमी
30 अक्टूबर 2022 रविवार षष्टी , छठ पूजा
31 अक्टूबर 2022 सोमवार सोमवार व्रत

अक्टूबर 2022 महीने के लिए शेयर मार्केट भविष्यवाणी

  • वैदिक ज्योतिष पर आधारित स्टॉक मार्केट भविष्यफल 2022 के अनुसारअक्टूबर के महीने में कच्चे तेल के शेयरों की कीमत में उछाल देखने को मिल सकता है। 
  • इसके अलावा बाजार में महंगाई बढ़ने की भी प्रबल संभावना बनती नजर आ रही है। 
  • अक्टूबर में 2 तारीख को बुध ग्रह मार्गी होने जा रहे हैं जिसका सीधा प्रभाव खाद्य, तेल और उपभोक्ता वस्तुओं (जैसे ब्रिटानिया, नेस्ले, मिल्क फूड) की मांग में बढ़ोतरी की तरफ इशारा कर रहा है। 
  • इस अवधि में सोने, हीरे, और कीमती आभूषणों की कीमत में वृद्धि के संकेत मिल रहे हैं। मुमकिन है इससे बाज़ार में भी तेज़ी देखने को मिल सकती है। 

(यदि आप अक्टूबर 2022 के लिए शेयर मार्केट की भविष्यवाणी विस्तार से 

अक्टूबर 2022

मुफ्त शेयर बाजार भविष्यवाणी 2022 से पता चलता है कि कच्चे तेल (भारत पेट्रोलियम, हिंदुस्तान पेट्रोलियम, ओएनजीसी) के शेयरों की कीमत में उछाल आने की संभावना है। बाजार में महंगाई बढ़ने की आशंका है। 2 अक्टूबर 2022 को बुध मार्गी होगा जिसकी वजह से खाद्य तेल और उपभोक्ता वस्तुओं (ब्रिटानिया, जुबिलेंट, नेस्ले, मिल्क फूड) की मांग में बढ़ोतरी दर्ज की जा सकती है। इस अवधि में सोने, हीरे और कीमती आभूषणों की मांग में भी वृद्धि होने की संभावना है जिसकी वजह से इसके शेयरों की कीमतों में भी उछाल देखने को मिल सकता है।

16 अक्टूबर 2022 को मंगल ग्रह मिथुन राशि में गोचर करेगा। इस दौरान रियल एस्टेट के शेयरों में गिरावट देखने को मिल सकती है और वहीं आईटी क्षेत्र (इन्फोसिस, एचसीएल, विप्रो) के शेयरों की कीमत में वृद्धि होने की संभावना है।

18 अक्टूबर को शुक्र ग्रह तुला राशि में गोचर करेगा जिसकी वजह से लग्जरी ऑटोमोबाइल क्षेत्र की कंपनियों और रसायन उद्योग (एशियन पेंट्स, आरती इंडस्ट्रीज, एचएसआईएल) की मांग में तेजी आने की उम्मीद है। शेयर बाजार 2022 भविष्यवाणी के अनुसार सेंसेक्स पर चांदी और तांबे की भी चमक रहने की संभावना है। सोना, कपड़ा, कपास, ऊनी और चीनी उद्योग की मांग में और भी वृद्धि देखी जा सकती है। तेजी का यह रुख महीने के अंत तक जारी रहने की संभावना है।

 

मेष का मासिक राशिफल / Mesh Masik Rashifal in Hindi

October, 2022
सामान्य
मेष राशि के जातकों के लिए अक्टूबर का महीना कई मायनों में सकारात्मक रहने की संभावना है। इस महीने की शुरुआत में आपके छठे भाव में तीन ग्रह आपस में युति करेंगे जिसका सकारात्मक प्रभाव आपके स्वास्थ्य जीवन पर पड़ने की संभावना है। वहीं शनि इस महीने आपके कर्म भाव में स्थित रहेगा जिसकी वजह से करियर के दृष्टिकोण से आपको इस महीने अच्छे परिणाम प्राप्त हो सकते हैं। मेष राशि के जातकों का प्रेम जीवन इस महीने सुखद रह सकता है। हालांकि आपका वैवाहिक जीवन उतार-चढ़ाव से भरा रहने की आशंका है। ऐसे में आपको इस महीने अपने क्रोध पर नियंत्रण रखने की सलाह दी जाती है अन्यथा वैवाहिक जीवन में समस्याओं की वृद्धि हो सकती है। महीने के उत्तरार्ध में आपकी राशि का स्वामी मंगल आपके तृतीय भाव में गोचर करेगा जिसकी वजह से आप शिक्षा के क्षेत्र में भी उम्मीद के अनुरूप नतीजे प्राप्त करने में सफल रह सकते हैं। अक्टूबर का यह महीना आपके जीवन के लिए कैसा रहेगा और परिवार, करियर, स्वास्थ्य, प्रेम आदि क्षेत्रों में आपको कैसे फल प्राप्त होंगे, यह जानने के लिए विस्तार से राशिफल पढ़ें।
कार्यक्षेत्र
मेष राशि के जातकों के लिए अक्टूबर का महीना करियर के दृष्टिकोण से सकारात्मक रहने की संभावना है। इस महीने शनि जो कि धनिष्ठा नक्षत्र में स्थित है, आपके दशम भाव यानी कि कर्म भाव में 24 डिग्री पर स्थित रहेगा। इसके साथ-साथ मंगल की दृष्टि आपके नवम भाव यानी कि भाग्य भाव पर पड़ेगी जिसकी वजह से आपको इस महीने अपने कार्य में भाग्य का पूर्ण साथ मिलने की संभावना है। पुराने रुके हुए कार्य या बिगड़े हुए कार्य इस दौरान आपको बनते हुए नजर आ सकते हैं। साथ ही इस अवधि में मेष राशि के वह जातक जो नया व्यवसाय शुरू करना चाहते हैं या अच्छी नौकरी की तलाश कर रहे हैं, उन्हें लाभ हो सकता है। महीने के उत्तरार्ध में मंगल आपके तीसरे भाव यानी कि पराक्रम के भाव में गोचर करेगा और इस स्थान से यह आपके कर्म भाव पर दृष्टि डालेगा जिससे आपको करियर के क्षेत्र में लाभदायक परिणाम प्राप्त हो सकते हैं। इस दौरान आपके आत्मविश्वास में वृद्धि होने की संभावना है जिसका सकारात्मक प्रभाव आपके कार्य पर देखने को मिल सकता है। मेष राशि के वह जातक जो संपत्ति से जुड़ा व्यवसाय करते हैं या फिर चिकित्सा के क्षेत्र से जुड़े हैं, उनके लिए भी यह समय अनुकूल रहने की संभावना है।
आर्थिक
आर्थिक जीवन के लिहाज से अक्टूबर का महीना मेष राशि के जातकों को मिश्रित परिणाम दे सकता है। इस महीने के पूर्वार्ध में आपके द्वितीय भाव यानी कि धन भाव में आपके राशि का स्वामी मंगल स्थित रहेगा जिसकी वजह से आपको इस अवधि में परिवार में आयोजित होने वाले किसी मांगलिक कार्य के लिए धन खर्च करना पड़ सकता है। महीने के उत्तरार्ध में मंगल आपके दूसरे भाव से तीसरे भाव यानी कि सहोदर भाव में गोचर कर जाएगा तब आपको इस अवधि में अपने भाई-बहनों से आर्थिक रूप में सहयोग प्राप्त हो सकता है। इस दौरान आपकी आर्थिक स्थिति बेहतर होगी। संभावना है कि इस अवधि में आपको अचानक ही कहीं से धन प्राप्त हो सकता है जिससे आपकी आर्थिक स्थिति को और भी बल मिलेगा। इसके अलावा आपको अपने परिवार से भी आर्थिक सहायता प्राप्त हो सकती है। शनि जो कि आपके ग्यारहवें भाव यानी कि लाभ भाव का भी स्वामी है, वह इस महीने आपके दशम भाव यानी कि कर्म भाव में स्थित रहेगा जिसकी वजह से इस महीने आपकी आय में वृद्धि होने के भी योग बन रहे हैं। संभावना है कि आप इस अवधि में आय के अन्य स्रोत ढूंढने में सफल रहेंगे या फिर आपके वेतन में वृद्धि हो सकती है जिसकी वजह से आपकी आय में वृद्धि होगी।
स्वास्थ्य
स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से अक्टूबर का महीना मेष राशि के जातकों के लिए सुखद रहने की संभावना है। इस महीने की शुरुआत में आपके छठे भाव यानी कि रोग भाव में तीन ग्रहों यानी कि सूर्य, शुक्र और बुध की युति हो रही है। सूर्य और बुध आपस में युति कर के आपके छठे भाव में बुधादित्य योग का निर्माण कर रहे हैं जिसकी वजह से इस अवधि में आपका स्वास्थ्य अच्छा रहने की संभावना है। वहीं महीने के उत्तरार्ध में सूर्य और शुक्र आपके सप्तम भाव यानी कि कलत्र भाव में गोचर कर जाएंगे। ऐसे में बुध आपके छठे भाव में स्थित रहेगा। साथ ही इस दौरान मंगल की दृष्टि भी आपके छठे भाव पर पड़ेगी। आशंका है कि इसकी वजह से आपको इस अवधि में छोटी-मोटी बीमारियों का सामना करना पड़ सकता है। ऐसे में आपको इस दौरान अपने स्वास्थ्य का ख्याल रखने की सलाह दी जाती है।
प्रेम व वैवाहिक
इस महीने की शुरुआत में आपके पंचम भाव यानी कि प्रेम भाव का स्वामी सूर्य आपके छठे भाव में शुक्र और बुध के साथ स्थित रहेगा जिसकी वजह से आपके छठे भाव में सूर्य और बुध आपस में युति कर बुधादित्य योग का निर्माण करेंगे। ग्रहों की इस स्थिति की वजह से मेष राशि के जातकों का प्रेम जीवन इस अवधि में सुखद रहने की संभावना है। इस दौरान आपके प्रेम जीवन में आप अपने प्रेमी/प्रेमिका के नजदीक आ सकते हैं। साथ ही आप दोनों एक दूसरे को इस अवधि में अच्छी तरह से समझने में सफल रह सकते हैं जिसकी वजह से आपके बीच गज़ब का तालमेल देखने को मिल सकता है। इसके अलावा मेष राशि के जातक इस महीने अपने प्रेमी/प्रेमिका के साथ कहीं बाहर घूमने जाने की योजना भी बना सकते हैं जिससे आपके संबंध और भी मधुर होंगे। हालांकि महीने के मध्य में सूर्य और शुक्र आपके सप्तम भाव यानी कि कलत्र भाव में गोचर करेंगे जिसकी वजह से आप दोनों के बीच किसी बात को लेकर विवाद होने की आशंका है। दूसरी तरफ मेष राशि के वह जातक जो विवाहित हैं उनके लिए यह महीना थोड़ा मुश्किलों से भरा रह सकता है। इस महीने आपके सप्तम भाव यानी कि कलत्र भाव में केतु स्थित रहेगा और महीने के उत्तरार्ध में सूर्य व शुक्र के साथ बुध भी आपके सप्तम भाव में गोचर कर जाएगा। ग्रहों की इस स्थिति की वजह से आपका वैवाहिक जीवन थोड़ा तनावपूर्ण रह सकता है। इस दौरान आपके बीच छोटी-छोटी बातों को लेकर विवाद हो सकते हैं। आपको सलाह दी जाती है कि आप स्वयं के क्रोध पर काबू रखें और अहंकार को किनारे कर संयम के साथ जीवनसाथी की बात को समझने और उसकी समस्याओं को हल करने का प्रयास करें अन्यथा स्थिति और भी बिगड़ सकती है।
पारिवारिक
मेष राशि के जातकों के लिए अक्टूबर का महीना पारिवारिक दृष्टिकोण से मिश्रित परिणामों से भरा रह सकता है। इस महीने के पूर्वार्ध में मंगल जो कि मृगशिरा नक्षत्र में स्थित रहेगा वह 26 डिग्री के साथ आपके दूसरे भाव यानी कि कुटुंब भाव में स्थित रहेगा जिसकी वजह से इस अवधि में आपका पारिवारिक जीवन सुखद रहने की संभावना है। मंगल का मेष राशि के कुटुंब भाव में स्थित होने से यह संभावना भी बन रही है कि इस दौरान आपके घर-परिवार में किसी मांगलिक कार्य का आयोजन हो सकता है। महीने के उत्तरार्ध में मंगल आपके तीसरे भाव यानी कि सहोदर भाव में गोचर करेगा। मंगल के इस गोचर की वजह से आपको इस अवधि में अपने भाई-बहनों का पूर्ण समर्थन और सहयोग प्राप्त हो सकता है। आप इस दौरान अपने परिवार के साथ सुखद समय बिताने में सफल रह सकते हैं और साथ ही आपके परिवार के सदस्यों के बीच आत्मीयता में भी वृद्धि देखी जा सकती है जिससे आपका मन प्रसन्न रहने वाला है। हालांकि आपको सलाह भी दी जाती है कि इस दौरान आप अपने क्रोध पर नियंत्रण रखें और शांति व धैर्य के साथ ही किसी मुद्दे पर विचार रखें। इसके अलावा आपको यह भी सलाह दी जाती है कि बिना घर के बड़ों व बुजुर्गों की सहमति लिए कोई भी फैसला न लें अन्यथा इसका नकारात्मक असर आपके पारिवारिक जीवन पर पड़ सकता है।
उपाय
नहाने के पानी में काला तिल डालकर स्नान करें।
हनुमान चालीसा का पाठ करें।
तीन मुखी रुद्राक्ष धारण करें।
 
 

 

वृष का मासिक राशिफल / Vrishabha Masik Rashifal in Hindi

October, 2022
सामान्य
अक्टूबर का महीना वृषभ राशि के जातकों के लिए कुल मिलाकर देखा जाए तो अच्छा रहने की संभावना है। महीने की शुरुआत में आपके पंचम भाव में सूर्य और बुध ग्रह मिलकर बुधादित्य योग का निर्माण कर रहे हैं जिसकी वजह से आपको जीवन के विभिन्न क्षेत्रों में इसका सकारात्मक फल प्राप्त होता दिख रहा है। इसके अलावा शुक्र भी आपके पंचम भाव में स्थित रहेगा। न्याय और कर्म का देवता शनि इस महीने आपके भाग्य भाव में स्थित रहेगा जिसकी वजह से आपको इस महीने कार्यक्षेत्र में भाग्य का साथ मिल सकता है। पारिवारिक जीवन सुखद रहने की संभावना है लेकिन कुंडली में राहु की स्थिति की वजह से आपको कुछ परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। शिक्षा के लिहाज से यह महीना वृषभ राशि के जातकों के लिए लाभदायक सिद्ध हो सकता है। प्रतियोगी परीक्षाओं में सफलता मिल सकती है। प्रेम जीवन सुखद रहने की संभावना है और आप दोनों के बीच का संबंध और भी मजबूत हो सकता है। वहीं स्वास्थ्य को लेकर आपको थोड़ा सजग रहने की जरूरत है। अक्टूबर का यह महीना आपके जीवन के लिए कैसा रहेगा और परिवार, करियर, स्वास्थ्य, प्रेम आदि क्षेत्रों में आपको कैसे फल प्राप्त होंगे, यह जानने के लिए विस्तार से राशिफल पढ़ें।
कार्यक्षेत्र
वृषभ राशि के जातकों के लिए अक्टूबर का महीना करियर के दृष्टिकोण से बेहतर रहने की उम्मीद है। इस महीने आपके दशम भाव यानी कि कर्म भाव का स्वामी शनि आपके नवम भाव यानी कि भाग्य भाव में स्थित रहेगा। ऐसे में यदि वृषभ राशि के जातक कोई नया व्यवसाय शुरू करने की योजना बना रहे हैं तो इस महीने उस कार्य को शुरू करने से आपको सकारात्मक फल प्राप्त हो सकते हैं। नौकरीपेशा जातकों के लिए भी किसी नई कंपनी से जुड़ने के लिए यह महीना काफी फलदाई साबित होने की संभावना है। पदोन्नति के भी प्रबल योग बन रहे हैं। सरकारी क्षेत्र से जुड़ा कार्य करने वाले वृषभ राशि के जातकों के लिए भी यह अवधि सकारात्मक रहने की संभावना है। कर्म भाव के स्वामी का आपके भाग्य भाव में स्थित रहने की वजह से कार्य में भी आपको भाग्य का साथ मिलता नजर आ रहा है। नौकरीपेशा वृषभ राशि के जातकों का यदि कार्यक्षेत्र में किसी प्रकार का विवाद चल रहा था तो उस विवाद को भी आप इस महीने खत्म करने में सफल रह सकते हैं। कार्यक्षेत्र में आपके कार्य की आपके वरिष्ठों और सहकर्मियों के द्वारा सराहना की जा सकती है जिससे आपका आत्मविश्वास बढ़ेगा।
आर्थिक
अक्टूबर का महीना वृषभ राशि के जातकों के लिए आर्थिक लिहाज से मिश्रित फल देने वाला महीना सिद्ध हो सकता है। महीने के पूर्वार्ध में मंगल आपके प्रथम भाव में स्थित रहेगा जहां से यह आपके सप्तम भाव यानी कि कलत्र भाव पर दृष्टि डालेगा जिसकी वजह से इस दौरान आपके परिवार में किसी मांगलिक कार्य का आयोजन हो सकता है जिससे आपके खर्चों में वृद्धि हो सकती है। ऐसे में आपको फिजूलखर्ची से बचने की सलाह दी जाती है। सरकारी स्रोत से धन प्राप्त होने के भी योग बन रहे हैं। नौकरीपेशा जातकों का इस अवधि में पदोन्नति होने के योग बन रहे हैं। ऐसे में संभावना है कि इस दौरान आपके वेतन में भी बढ़ोतरी हो सकती है जिसकी वजह से आपकी आर्थिक स्थिति को बल मिल सकता है।
स्वास्थ्य
वृषभ राशि के जातकों का स्वास्थ्य अक्टूबर महीने में उतार-चढ़ाव से भरा रहने की संभावना है। इस महीने आपके छठे भाव यानी कि रोग के भाव में केतु स्थित रहेगा जिसकी वजह से आपको इस दौरान स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं परेशान कर सकती हैं। वृषभ राशि के वह जातक जो पहले से ही किसी बीमारी से पीड़ित हैं, इस अवधि में उनकी इस समस्या में वृद्धि हो सकती है। महीने के उत्तरार्ध में सूर्य और शुक्र भी आपके छठे भाव में गोचर कर जाएंगे। ग्रहों की इस स्थिति की वजह से आपके स्वास्थ्य में कुछ सुधार आने की संभावना है। पुराने रोगों से छुटकारा भी मिल सकता है। हालांकि घर के किसी बड़े-बुजुर्ग के बिगड़ते स्वास्थ्य को लेकर आपकी चिंता बढ़ सकती है। ऐसे में आपको सलाह दी जाती है कि घर के बड़े-बुजुर्गों के स्वास्थ्य का ध्यान रखें और खान-पान संबंधी परहेज के नियमों का पालन करें।
प्रेम व वैवाहिक
प्रेम जीवन के दृष्टिकोण से अक्टूबर का महीना वृषभ राशि के जातकों के लिए बेहतर रहने की संभावना है। इस महीने आपके पंचम भाव यानी कि प्रेम भाव में बुध और सूर्य की युति होगी जिसकी वजह से बुधादित्य योग का निर्माण होगा। इसके साथ ही शुक्र भी आपके पंचम भाव में स्थित रहेगा। ग्रहों की इस स्थिति की वजह से वृषभ राशि के जातक इस महीने एक दूसरे को बेहतर तरीके से समझने में सफल रह सकते हैं। इस दौरान आपदोनों के बीच बेजोड़ तालमेल देखने को मिल सकता है। संभावना है कि आप दोनों साथ में कुछ समय बिताने के लिए किसी यात्रा पर जाने की योजना भी बना सकते हैं। हालांकि मंगल की दृष्टि भी महीने के उत्तरार्ध में आपके पंचम भाव पर पड़ेगी जिसकी वजह से इस महीने आप अपने प्रेम जीवन में कभी-कभी उग्र भी हो सकते हैं जिसका नकारात्मक प्रभाव आपके प्रेम जीवन पर पड़ने की आशंका है। ऐसे में आपको सलाह दी जाती है कि अपने प्रेमी/प्रेमिका से संवाद करते वक्त अपने शब्दों का ख्याल रखें और धैर्य व शांति से किसी भी मुद्दे या समस्या को समझने का प्रयत्न करें। महीने के उत्तरार्ध में ही शुक्र और सूर्य आपके छठे भाव में गोचर कर जाएंगे, ऐसे में आशंका है कि इस दौरान आप दोनों के बीच किसी बात को लेकर विवाद हो सकता है। वहीं वृषभ राशि के विवाहित जातकों की बात की जाए तो अक्टूबर के महीने की शुरुआत में मंगल की दृष्टि आपके सप्तम भाव यानी कि कलत्र भाव पर रहेगी जिसकी वजह से आपका आपके जीवनसाथी के साथ किसी बात को लेकर मतभेद हो सकता है। ऐसी किसी भी स्थिति में क्रोधित होने के बजाय शांत मन से जीवनसाथी के साथ बैठ कर समस्या का समाधान करें।
पारिवारिक
अक्टूबर का महीना वृषभ राशि के जातकों के लिए पारिवारिक जीवन के दृष्टिकोण से औसत परिणाम देने वाला महीना सिद्ध हो सकता है। इस महीने आपके द्वितीय भाव यानी कि कुटुंब भाव का स्वामी बुध अपनी स्वराशि कन्या में आपके पंचम भाव में सूर्य और शुक्र के साथ स्थित रहेगा। इसके अलावा महीने के पूर्वार्ध में मंगल आपके प्रथम भाव में स्थित रहेगा। ग्रहों की इस स्थिति की वजह से इस दौरान आपको अपने परिवार का भरपूर सहयोग और समर्थन प्राप्त होने की संभावना है। साथ ही इस अवधि में घर में किसी नए मेहमान का आगमन हो सकता है जिसकी वजह से परिवार का माहौल सुखद रहेगा। वहीं महीने के उत्तरार्ध में मंगल आपके द्वितीय भाव यानी कि कुटुंब भाव में गोचर करेगा जिसकी वजह से घर में किसी प्रकार के मांगलिक कार्य का आयोजन हो सकता है। भूमि और भवन से किसी प्रकार का लाभ प्राप्त होने के भी योग बन रहे हैं जिससे घर में आनंदमय माहौल रहने की उम्मीद है। हालांकि इस महीने आपके द्वादश भाव यानी कि व्यय भाव में राहु के स्थित रहने की वजह से आपके ऊपर इस दौरान नकारात्मक विचार हावी रह सकते हैं। आशंका है कि आपके आत्मविश्वास में भी इस दौरान कमी आ सकती है। ऐसे में आपको सलाह दी जाती है कि आप ऐसे किसी भी विचार से स्वयं को दूर रखें और हर चीज के सकारात्मक पहलू पर ध्यान दें।
उपाय
शिवजी की आराधना करें। शिवलिंग का जलाभिषेक करें।
घर में पोछा लगाते वक्त पानी में हल्का सा नमक मिला लें।
शुक्रवार को सफेद वस्त्र दान करें।
 
 
 

मिथुन का मासिक राशिफल / Mithun Masik Rashifal in Hindi

October, 2022
सामान्य
मिथुन राशि के जातकों के लिए अक्टूबर का महीना उतार-चढ़ाव से भरा हुआ रह सकता है। इस महीने कुछ समय के लिए चंद्रमा और राहु आपके ग्यारहवें भाव में युति करेंगे जिसकी वजह से आपके जीवन के विभिन्न क्षेत्रों पर इसका नकारात्मक प्रभाव पड़ने की आशंका है। यह महीना करियर के लिहाज से आपके लिए सुखद रह सकता है। बृहस्पति आपके कर्म भाव में स्थित रहेगा जिसकी वजह से करियर में आपको सकारात्मक फल प्राप्त हो सकते हैं। वहीं आर्थिक रूप से आपको इस महीने सचेत रहने की सलाह दी जाती है अन्यथा आपको महीने के अंत में कर्ज या उधार मांगना पड़ सकता है। साथ ही अक्टूबर का महीना मिथुन राशि के जातकों के लिए स्वास्थ्य के लिहाज से भी सजग रहने का महीना है। इस महीने आपको न सिर्फ शारीरिक रूप से परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है बल्कि ग्रहों की स्थिति की वजह से आप मानसिक रूप से भी तनाव का सामना कर सकते हैं। अक्टूबर का यह महीना आपके जीवन के लिए कैसा रहेगा और परिवार, करियर, स्वास्थ्य, प्रेम आदि क्षेत्रों में आपको कैसे फल प्राप्त होंगे, यह जानने के लिए विस्तार से राशिफल पढ़ें।
कार्यक्षेत्र
करियर के दृष्टिकोण से अक्टूबर का महीना मिथुन राशि के जातकों के लिए अच्छे फल देने वाला महीना सिद्ध हो सकता है। इस महीने आपके दशम भाव यानी कि कर्म भाव में बृहस्पति स्थित रहेगा और साथ ही शनि की दृष्टि भी आपके कर्म भाव पर पड़ रही है जिसकी वजह से इस अवधि में आपको सकारात्मक परिणाम प्राप्त करने के लिए जरूरत से अधिक मेहनत करनी पड़ सकती है। इसके अलावा सूर्य, बुध और शुक्र महीने की शुरुआत में आपके चतुर्थ भाव यानी कि सुख भाव में स्थित रहकर आपके कर्म भाव पर दृष्टि डालेंगे जिसकी वजह से मिथुन राशि के वह जातक जो व्यवसाय करते हैं, उन्हें इस दौरान लाभ प्राप्त हो सकता है। मिथुन राशि के वह जातक जो नौकरी में नए और अच्छे अवसर की तलाश कर रहे हैं, उन्हें इस दौरान अच्छे परिणाम प्राप्त होने की संभावना है। सूर्य की दृष्टि आपके दशम भाव पर पड़ रही है, ऐसे में इस समय नौकरी में बदलाव करना आपके लिए लाभदायक सिद्ध हो सकता है। शनि इस महीने अपनी स्वराशि और आपके अष्टम भाव में स्थित रहेगा जिसकी वजह से विदेश से धन प्राप्त होने के प्रबल योग बन रहे हैं। ऐसे में मिथुन राशि के वह जातक जो इंपोर्ट और एक्सपोर्ट यानी कि आयात-निर्यात के व्यवसाय से जुड़े हैं, वे अच्छा लाभ प्राप्त करने में सफल रह सकते हैं।
आर्थिक
मिथुन राशि के जातकों के लिए अक्टूबर का महीना आर्थिक जीवन के लिहाज से थोड़ा परेशानियों से भरा रह सकता है। इस महीने की दस तारीख के आसपास आपके द्वितीय भाव का स्वामी चंद्रमा आपके एकादश भाव में स्थित राहु के साथ कुछ दिनों के लिए युति कर ग्रहण योग का निर्माण करेगा जिसकी वजह से आपके खर्चों में अप्रत्याशित रूप से वृद्धि होने की आशंका है। ऐसे में आपको सलाह दी जाती है कि आप इस महीने अपनी फिजूलखर्ची पर लगाम लगाएं अन्यथा आप आर्थिक रूप से काफी कमजोर हो सकते हैं। इसके अलावा बृहस्पति की दृष्टि भी आपके द्वितीय भाव यानी कि धन भाव पर पड़ रही है जिसकी वजह से संभावना है कि इस महीने आपकी आय तो होगी लेकिन आपके बढ़े हुए खर्चों की वजह से आप धन का संचय करने में असफल रह सकते हैं। इस महीने मिथुन राशि के जातकों को अपनी आय और व्यय के बीच संतुलन बनाने की जरूरत है अन्यथा महीने के अंत तक आपको किसी से उधार या कर्ज लेना पड़ सकता है।
स्वास्थ्य
स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से देखा जाये तो अक्टूबर का महीना आपके जीवन में मिश्रित फल देने वाला महीना सिद्ध हो सकता है। इस महीने आपके छठे भाव यानी कि रोग भाव का स्वामी मंगल आपके द्वादश भाव यानी कि व्यय भाव में गोचर कर रहा है और यहाँ से मंगल की दृष्टि आपके छठे भाव पर पड़ेगी। ऐसे में मंगल की यह स्थिति मिथुन राशि के जातकों के स्वास्थ्य को और भी बेहतर करने में सहायक सिद्ध हो सकती है। इस दौरान लंबे समय से चली आ रही किसी स्वास्थ्य समस्या से भी आपको आराम मिल सकता है। हालांकि इस अवधि में आपको अपने सिर और पैर का ख्याल रखने की जरूरत है क्योंकि मंगल का वृश्चिक राशि या फिर कहें तो आपके छठे भाव पर दृष्टि डालना किसी प्रकार के चोट लगने की आशंका को प्रबल करता है। ऐसे में आपको सलाह दी जाती है कि सड़क पर वाहन चलाते वक्त या फिर पैदल ही चलते वक्त पूरी सतर्कता बरतें। इस महीने आपके नकारात्मक विचार आपके ऊपर हावी रह सकते हैं जिसकी वजह से आप मानसिक तौर पर परेशान रह सकते हैं। मानसिक तनाव की यह समस्या आपको शारीरिक तौर पर भी नकारात्मक रूप से प्रभावित कर सकती है। ऐसे में आपको सलाह दी जाती है कि बेवजह की बातों को सोचने से बचें और हर मुद्दे के सकारात्मक पहलू पर नजर डालें।
प्रेम व वैवाहिक
प्रेम जीवन के दृष्टिकोण से अक्टूबर का महीना मिथुन राशि के जातकों को मिश्रित परिणाम देने वाला महीना सिद्ध हो सकता है। इस महीने आपके पंचम भाव यानी कि प्रेम भाव में केतु स्थित रहेगा। इसके अलावा राहु की पूर्ण दृष्टि भी आपके पंचम भाव पर पड़ेगी जिसकी वजह से इस अवधि में प्रेमी जोड़ों के बीच भ्रम की स्थिति पैदा हो सकती है। इस दौरान आप दोनों के बीच भरोसे में कमी आ सकती है और साथ ही आप दोनों के मन में एक दूसरे के लिए नकारात्मक विचारों की वृद्धि हो सकती है। आशंका है कि आप दोनों का आपस में किसी बात को लेकर विवाद हो लेकिन आपको सलाह दी जाती है कि अपने प्रेमी/प्रेमिका से संवाद करते वक्त अपनी भाषा पर नियंत्रण रखें। साथ ही यह भी याद रखें कि आवेग में लिए गए फैसलों का परिणाम हमेशा नकारात्मक ही प्राप्त होता है। इस दौरान आप किसी दूसरे की कही-सुनी गई बातों पर यकीन न करें और स्वयं सत्यता की जांच-पड़ताल करें क्योंकि पंचम भाव में केतु का होना आपके बीच के विवाद में और भी वृद्धि कर सकता है। हालांकि महीने के उत्तरार्ध में जब सूर्य और शुक्र आपके पंचम भाव में गोचर करेगा तब आपके प्रेम जीवन में मौजूद समस्याओं में कमी आ सकती है। ऐसे में आपको सलाह दी जाती है कि इस दौरान आप पुरानी बातों को भूलकर अपने प्रेम जीवन को एक नए तरीके से शुरू करें। वहीं दूसरी तरफ मिथुन राशि के वह जातक जो विवाहित हैं उनके लिए यह महीना अच्छा रहने की संभावना है। इस महीने आपके सप्तम भाव का स्वामी बृहस्पति अपनी स्वराशि मीन में स्थित रहेगा जिसकी वजह से हंस योग का निर्माण हो रहा है। बृहस्पति की इस स्थिति की वजह से विवाहित जोड़े इस दौरान एक दूसरे के साथ अधिक समय व्यतीत करते नजर आ सकते हैं। इस अवधि में आप दोनों एक दूसरे के प्रति समर्पित नजर आ सकते हैं जिसकी वजह से आप दोनों के बीच का रिश्ता और भी मजबूत होगा।
पारिवारिक
पारिवारिक जीवन के लिहाज से अक्टूबर का महीना मिथुन राशि के जातकों के लिए थोड़ा परेशानियों से भरा हुआ रह सकता है। इस महीने आपके द्वितीय भाव यानी कि कुटुंब भाव का स्वामी चंद्रमा 10 तारीख के आसपास कुछ दिनों के लिए राहु के साथ आपके ग्यारहवें भाव यानी कि लाभ भाव में युति करेगा जिसकी वजह से आशंका है कि इस महीने आपको अपने परिवार में किसी प्रकार की हानि हो सकती है। इसके अलावा शनि की दृष्टि भी आपके कुटुंब भाव यानी कि द्वितीय भाव पर पड़ रही है। ऐसे में आशंका है कि इस अवधि में आपके परिवार में किसी प्रकार का विवाद हो जिसकी वजह से आपको मानसिक तनाव का सामना करना पड़ सकता है। आपको सलाह दी जाती है कि इस अवधि में आवेग में आकर किसी भी तरह का निर्णय लेने से बचें और समझदारी व शांति के साथ विवाद को खत्म करने की कोशिश करें अन्यथा स्थिति और भी बिगड़ सकती है। हालांकि शुभ फल दाता बृहस्पति की दृष्टि भी इस महीने आपके द्वितीय भाव पर पड़ेगी जिसकी वजह से संभावना है कि आपके परिवार में किसी प्रकार का मांगलिक या धार्मिक कार्य का आयोजन होगा।
उपाय
हनुमान चालीसा का पाठ करें।
मंगलवार के दिन हनुमान जी का ध्यान कर मंदिर में बूंदी का भोग लगाएं।
हर बुधवार गाय को हरा चारा खिलाएं। चिड़िया को बाजरा खिलाएं।
 
 

कर्क का मासिक राशिफल / Karka Masik Rashifal in Hindi

October, 2022
सामान्य
कुल मिला कर देखा जाए तो कर्क राशि के जातकों के लिए अक्टूबर का महीना उतार-चढ़ाव से भरा हुआ रह सकता है। इस महीने आपके दशम भाव में कुछ दिनों के लिए राहु और चंद्रमा युति कर ग्रहण योग बना रहे हैं जिसकी वजह से आपको इस महीने जीवन के विभिन्न पहलुओं विशेषकर करियर में कठिनाइयों का सामना करना पड़ सकता है। वहीं आपके तृतीय भाव में बुध और सूर्य युति कर बुधादित्य योग का निर्माण करेंगे जिसकी वजह से आपका पारिवारिक जीवन सकारात्मक रूप से प्रभावित होगा। शिक्षा के क्षेत्र में महीने के पूर्वार्ध में आपको बेहतर परिणाम प्राप्त हो सकते हैं जबकि उत्तरार्ध में कुछ समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। कर्क राशि के विवाहित जातकों के लिए भी यह महीना कठिनाइयों से भरा रह सकता है। जीवनसाथी से विवाद हो सकता है। हालांकि स्वास्थ्य के लिहाज से यह महीना कर्क राशि के जातकों के लिए सकारात्मक रहने की उम्मीद है। अक्टूबर का यह महीना आपके जीवन के लिए कैसा रहेगा और परिवार, करियर, स्वास्थ्य, प्रेम आदि क्षेत्रों में आपको कैसे फल प्राप्त होंगे, यह जानने के लिए विस्तार से राशिफल पढ़ें।
कार्यक्षेत्र
करियर के दृष्टिकोण से अक्टूबर का महीना कर्क राशि के जातकों को मिश्रित परिणाम देने वाला महीना रह सकता है। 10 अक्टूबर के आसपास आपके दशम भाव यानी कि कर्म भाव में चंद्रमा कुछ दिनों के लिए राहु के साथ युति करके ग्रहण योग का निर्माण करेगा। इसके अलावा केतु आपके चौथे भाव यानी कि सुख भाव में स्थित रहेगा और इस दौरान राहु की उपस्थिति आपके दशम भाव यानी कि कर्म भाव में होगी। केतु की इस स्थिति की वजह से इस दौरान आपके ऊपर नकारात्मक विचार हावी हो सकते हैं जिसकी वजह से आपके आत्मविश्वास में भी कमी आने की आशंका है। यही वजह है कि आपको इस दौरान कोई भी निर्णय लेने में परेशानी महसूस हो सकती है जिसका नकारात्मक प्रभाव आपके करियर पर पड़ सकता है। हालांकि महीने के उत्तरार्ध में सूर्य और शुक्र आपके चौथे भाव में गोचर करेंगे जहां से ये दोनों ग्रह आपके कर्म भाव यानी कि दशम भाव पर दृष्टि डालेंगे जिसकी वजह से करियर में आ रही समस्याओं में कुछ कमी आ सकती है। सरकारी क्षेत्र से जुड़ा कोई कारोबार कर रहे जातकों को इस दौरान लाभ हो सकता है। संभावना है कि इस अवधि में आप किसी सरकारी अनुबंध यानी कि कांट्रैक्ट को प्राप्त करने में सफल रह सकते हैं। करियर को लेकर की गई कोशिशों का आपको इस अवधि में लाभ प्राप्त हो सकता है।
आर्थिक
आर्थिक जीवन के दृष्टिकोण से यह महीना कर्क राशि के जातकों के लिए मिलाजुला रहने की संभावना है। अक्टूबर महीने के पूर्वार्ध में आपके द्वितीय भाव यानी कि धन भाव का स्वामी सूर्य आपके तृतीय भाव में बुध के साथ स्थित रहकर बुधादित्य योग का निर्माण करेगा। ग्रहों की इस स्थिति की वजह से इस समय आपको आर्थिक तौर पर लाभ हो सकता है। परिवार की तरफ से आर्थिक सहयोग प्राप्त होने के भी योग बन रहे हैं जिससे आपकी आर्थिक स्थिति को बल प्राप्त होगा। जमीन-संपत्ति से जुड़े लाभ होने की भी संभावना है। हालांकि महीने के उत्तरार्ध में सूर्य और शुक्र का आपके चौथे भाव यानी कि सुख भाव में गोचर होगा जिसकी वजह से आपके खर्चों में वृद्धि हो सकती है। ऐसे में आपको सलाह दी जाती है कि इस दौरान किसी भी तरह की फिजूलखर्ची से बचें और धन संचय करने की कोशिश करें अन्यथा समस्या बढ़ सकती है।
स्वास्थ्य
स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से अक्टूबर का महीना कर्क राशि के जातकों के लिए सकारात्मक रहने की उम्मीद है। इस महीने आपके छठे भाव यानी कि रोग भाव का स्वामी बृहस्पति आपके नवम भाव यानी कि भाग्य भाव में स्थित रहने वाला है। ऐसे में आपको इस महीने स्वास्थ्य जीवन में भाग्य का साथ मिल सकता है। हालांकि महीने के उत्तरार्ध में मंगल का आपके द्वादश भाव यानी कि व्यय भाव में गोचर होगा जहां से यह आपके छठे भाव यानी कि रोग भाव पर दृष्टि डालेगा जिसकी वजह से इस दौरान आपको छोटी-मोटी स्वास्थ्य संबंधित समस्याएं परेशान कर सकती हैं। हालांकि इसकी आशंका बेहद कम है कि कोई बड़ी स्वास्थ्य समस्या इस दौरान आपको परेशान करे लेकिन फिर भी आप अपने खानपान को लेकर परहेज करें।
प्रेम व वैवाहिक
कर्क राशि के जातकों के प्रेम जीवन की बात की जाए तो अक्टूबर के महीने में आपके पंचम भाव यानी कि प्रेम भाव का स्वामी मंगल आपके ग्यारहवें भाव यानी कि लाभ भाव में स्थित रहकर आपके पंचम भाव पर दृष्टि डालेगा। मंगल की इस स्थिति की वजह से कर्क राशि के जातकों का प्रेम जीवन इस अवधि में मिला-जुला रहने की संभावना है। इस अवधि में कर्क राशि के वह जातक जो अपने प्रेम जीवन को वैवाहिक रिश्ते में बदलने की योजना बना रहे हैं, उनके लिए यह अवधि इस कार्य के लिए अनुकूल रह सकता है। महीने के उत्तरार्ध में जब मंगल आपके द्वादश भाव यानी कि व्यय भाव में गोचर करेगा तब आप दोनों के बीच किसी बात को लेकर विवाद हो सकता है। वहीं कर्क राशि के वैवाहिक जीवन की बात की जाए तो इस महीने आपके सप्तम भाव यानी कि कलत्र भाव का स्वामी शनि आपके सप्तम भाव में ही वक्री अवस्था में स्थित रहेगा जिसकी वजह से विवाहित जातकों का अपने जीवनसाथी से किसी छोटी बात को लेकर विवाद हो सकता है जोकि किसी बड़े झगड़े का रूप ले सकता है। ऐसे में आपको सलाह दी जाती है कि आप इस अवधि में अपने जीवनसाथी से संवाद करते वक्त अपनी भाषा और अपने क्रोध पर नियंत्रण रखें अन्यथा स्थिति बिगड़ सकती है। इस अवधि में अपने जीवनसाथी से किसी भी प्रकार का झूठ बोलने से बचें। साथ ही एक दूसरे की भावनाओं को समझें और उसकी कद्र करें।
पारिवारिक
पारिवारिक जीवन के दृष्टिकोण से अक्टूबर का महीना कर्क राशि के जातकों के लिए उतार-चढ़ाव से भरा हुआ रह सकता है। महीने की शुरुआत में आपके द्वितीय भाव यानी कि कुटुंब भाव का स्वामी सूर्य आपके तृतीय भाव यानी कि सहोदर के भाव में बुध और शुक्र के साथ स्थित रहेगा। इस दौरान बुध और सूर्य युति कर बुधादित्य योग का निर्माण करेंगे जिसका सकारात्मक प्रभाव आपके पारिवारिक जीवन पर पड़ सकता है। इस दौरान आपके परिवार के सदस्य आपका हर तरह से सहयोग व समर्थन करते नजर आ सकते हैं। इसके अलावा घर के छोटे भाई-बहनों का भी आपको अपने कार्य में सहयोग प्राप्त हो सकता है जिसकी वजह से आपके संबंध उनके साथ और भी मधुर होंगे। परिवार में चल रहा कोई पुराना विवाद भी इस अवधि में आप सुलझाने में सफल रह सकते हैं जिसकी वजह से परिवार का माहौल सुखद रह सकता है। महीने के उत्तरार्ध में सूर्य और शुक्र आपके चौथे भाव यानी कि मातृ भाव में गोचर करेगा जहां पहले से ही केतु स्थित रहेगा। ग्रहों की इस स्थिति की वजह से इस अवधि में आपका आपकी माता के साथ किसी बात को लेकर वाद-विवाद हो सकता है। साथ ही इस दौरान परिवार के बीच किसी जमीन को लेकर विवाद भी हो सकता है। ऐसे में आपको सलाह दी जाती है कि आप इस दौरान किसी भी प्रकार का बड़ा निर्णय लेने से परहेज करें।
उपाय
पानी में दूध डालकर स्नान करें।
चांदी का छल्ला धारण करें।
भगवान शिव को जल अर्पित करें। शिव चालीसा का पाठ करें।
 
 

सिंह का मासिक राशिफल / Simha Masik Rashifal in Hindi

October, 2022
सामान्य
सिंह राशि के जातकों के लिए अक्टूबर का महीना अनुकूल रह सकता है। इस महीने मंगल आपके दशम भाव में स्थित रहेगा जिसकी वजह से करियर में आपको सकारात्मक परिणाम प्राप्त हो सकते हैं। आय में वृद्धि के भी योग बन रहे हैं। वहीं सूर्य और बुध आपके परिवार के भाव में युति कर रहे हैं जिसकी वजह से आपका पारिवारिक जीवन भी सुखद रह सकता है। इस महीने शिक्षा के क्षेत्र में भी आप बेहतर प्रदर्शन करते नजर आ सकते हैं। हालांकि स्वास्थ्य को लेकर इस महीने सिंह राशि के जातकों को सजग रहने की जरूरत है। स्वास्थ्य संबंधी कोई भी समस्या होने पर चिकित्सीय सलाह अवश्य लें। वैवाहिक जीवन और प्रेम जीवन में संबंधों में मधुरता आने की संभावना है। इस महीने आप जीवनसाथी को अपने दिल की बात कहने में सफल रह सकते हैं। साथ ही इस दौरान आप अपने परिवार के साथ सुखद समय व्यतीत कर सकते हैं जिसकी वजह से आपका मन प्रसन्न रहेगा। अक्टूबर का यह महीना आपके जीवन के लिए कैसा रहेगा और परिवार, करियर, स्वास्थ्य, प्रेम आदि क्षेत्रों में आपको कैसे फल प्राप्त होंगे, यह जानने के लिए विस्तार से राशिफल पढ़ें।
कार्यक्षेत्र
करियर के लिहाज से देखा जाए तो यह महीना सिंह राशि के जातकों के लिए मिश्रित परिणाम देने वाला महीना सिद्ध हो सकता है। अक्टूबर महीने की शुरुआत में मंगल आपके दशम भाव यानी कि कर्म भाव में स्थित रहेगा जिसकी वजह से सिंह राशि के उन जातकों को लाभ हो सकता है जो जमीन, संपत्ति या भवन निर्माण के कार्य से जुड़े हैं। इसके अलावा वे जातक जो पुलिस, न्यायालय, सेना आदि के क्षेत्र से जुड़ा कार्य कर रहे हैं उनके लिए भी यह अवधि अनुकूल रहने की संभावना है। महीने के उत्तरार्ध में जब मंगल आपके दशम भाव से गोचर कर आपके एकादश भाव यानी कि लाभ भाव में गोचर करेगा तब इस दौरान आपकी आय में वृद्धि हो सकती है। इस महीने शनि की दृष्टि भी आपके दशम भाव यानी कि कर्म भाव पर रहने वाली है जिसकी वजह से आपको करियर में सफलता प्राप्त करने के लिए जरूरत से अधिक मेहनत करनी पड़ सकती है। हालांकि नौकरीपेशा जातकों के लिए इस महीने पदोन्नति के योग बन रहे हैं। इसके अलावा सिंह राशि के वह जातक जो स्थानांतरण यानी कि ट्रांसफर की इच्छा रखते हैं, उनकी यह इच्छा इस महीने पूरी हो सकती है।
आर्थिक
यदि सिंह राशि के आर्थिक जीवन पर दृष्टि डाली जाए तो यह कहा जा सकता है कि यह महीना सिंह राशि के जातकों के लिए आर्थिक दृष्टिकोण से अनुकूल रहने की संभावना है। महीने की शुरुआत में मंगल का गोचर आपके दशम भाव यानी कि कर्म भाव में रहेगा जो कार्य में स्थितियों को मजबूत बनाएगा और महीने के उत्तरार्ध में जब मंगल आपके एकादश भाव में होगा तो उस दौरान आर्थिक स्थिति में बड़ा अच्छा इजाफा देखने को मिलेगा। इस अवधि में आपकी आमदनी में बढ़ोतरी की संभावना है और आपकी तनख्वाह में भी वृद्धि के संकेत मिलते हैं। महीने के पूर्वार्ध में सूर्य देवता बुध और शुक्र के साथ आपकी कुंडली के दूसरे भाव यानी कि धन भाव में स्थित होंगे। यह स्थिति भी आर्थिक दृष्टिकोण से आपके लिए अच्छी रहेगी और आप इस दौरान धन संचय कर पाने में भी सफल रह सकते हैं। महीने के उत्तरार्ध में सूर्य आप की राशि से तीसरे भाव में चले जाएंगे और आपकी आर्थिक स्थिति को मजबूत बनाने का काम करेंगे। इस दौरान आपको सरकारी क्षेत्र से भी लाभ मिलने के योग बन रहे हैं। आपके निजी प्रयास भी आपको आर्थिक उन्नति प्रदान करने वाले साबित होंगे।
स्वास्थ्य
स्वास्थ्य के लिहाज से देखा जाए तो सिंह राशि के जातकों के लिए अक्टूबर का महीना मिश्रित परिणाम देने वाला सिद्ध हो सकता है। इस महीने आपके छठे भाव यानी कि रोग भाव में शनि वक्री अवस्था में स्थित रहने वाला है जिसकी वजह से आप इस महीने जोड़ों के दर्द से परेशान रह सकते हैं। सिंह राशि के जातकों को इस महीने चोट लगने की आशंका है। ऐसे में आपको सलाह दी जाती है कि वाहन चलाते वक्त या फिर सड़क पार करते वक्त अतिरिक्त सावधानी बरतें। इस महीने आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता भी कमजोर रहने की आशंका है। ऐसे में बदलते मौसम को नजरअंदाज न करें और जहां तक संभव हो बाहरी खान पान से परहेज करें। योग और व्यायाम को अपनी दिनचर्या में शामिल कर आप अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बेहतर कर सकते हैं।
प्रेम व वैवाहिक
प्रेम व वैवाहिक जीवन के लिहाज से अक्टूबर का महीना सिंह राशि के जातकों के लिए सकारात्मक रहने की संभावना है। इस महीने आपके पंचम भाव यानी कि प्रेम के भाव का स्वामी बृहस्पति आपके अष्टम भाव में स्थित रहेगा। बृहस्पति की इस स्थिति की वजह से सिंह राशि के प्रेमी जोड़े इस दौरान सुखद जीवन व्यतीत करते नजर आ सकते हैं। इस दौरान आप दोनों एक दूसरे के करीब आ सकते हैं जिसकी वजह से आपके संबंधों में और भी मजबूती आएगी। वहीं वैवाहिक जीवन की बात की जाए तो सिंह राशि के जातकों के सप्तम भाव यानी कि कलत्र भाव का स्वामी शनि इस महीने अपनी स्वराशि मकर और आपके छठे भाव में स्थित रहेगा। शनि की इस स्थिति की वजह से सिंह राशि के जातकों का वैवाहिक जीवन इस महीने अनुकूल रहने की संभावना है। इस दौरान आपको अपने जीवनसाथी का भरपूर सहयोग और समर्थन प्राप्त हो सकता है। इस अवधि में आप दोनों का एक दूसरे पर विश्वास बढ़ेगा जिसकी वजह से आपके बीच बेहतर तालमेल देखने को मिल सकता है। इस महीने आप अपने जीवनसाथी के साथ अपनी दिल की बात साझा करने में सफल रह सकते हैं। साथ ही इस दौरान आप पूर्व में चल रहे किसी विवाद को आपस में बैठ कर सुलझाने में भी सफल रह सकते हैं।
पारिवारिक
पारिवारिक जीवन के दृष्टिकोण से तो सिंह राशि के जातकों के लिए अक्टूबर का महीना अनुकूल रहने की संभावना है। इस महीने की शुरुआत में आपके द्वितीय भाव यानी कि कुटुंब भाव में सूर्य और बुध आपस में युति करके बुधादित्य योग का निर्माण कर रहे हैं। ऐसे में इस अवधि में सिंह राशि के जातकों को परिवार का सहयोग व समर्थन प्राप्त हो सकता है। साथ ही परिवार की संपत्ति से भी इस दौरान आप लाभ अर्जित करने में सफल रह सकते हैं। परिवार का माहौल सुखद बना रह सकता है और परिवार के सदस्यों के बीच भाईचारे और सौहार्द की भावना में वृद्धि देखी जा सकती है। महीने के उत्तरार्ध में सूर्य और शुक्र आपके तृतीय भाव यानी कि सहोदर के भाव में गोचर करेंगे जिसकी वजह से इस अवधि में आपको छोटे भाई-बहनों का सहयोग प्राप्त हो सकता है। इस दौरान आप कुछ मजबूत फैसले भी कर सकते हैं जिसकी वजह से परिवार को लाभ होने की संभावना है। परिवार में सुख शांति का माहौल बना रह सकता है और इस महीने आप परिवार के साथ काफी अच्छा वक्त बिताते नजर आ सकते हैं।
उपाय
शनिवार के दिन सरसों के तेल का दान करें।
पानी में चंदन डालकर भगवान सूर्य को अर्पित करें।
आदित्य हृदय स्तोत्र का पाठ करें।
 
 

कन्या का मासिक राशिफल / Kanya Masik Rashifal in Hindi

October, 2022
सामान्य
कन्या राशि के जातकों के लिए यह महीना यानी कि अक्टूबर का महीना उतार-चढ़ाव से भरा हुआ रह सकता है। इस महीने आपके धन भाव में केतु के स्थित होने और राहु व चंद्रमा की कुछ दिनों के लिए आपके धन भाव पर दृष्टि रहने की वजह से आप इस अवधि में आर्थिक तौर पर मुश्किलों का सामना कर सकते हैं। वहीं प्रेम जीवन में भी आपको कुछ परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। कन्या राशि के विवाहित जातकों के लिए यह महीना सकारात्मक रहने की संभावना है क्योंकि उनके विवाह के भाव का स्वामी बृहस्पति इस महीने अपनी स्वराशि में स्थित रहेगा। शिक्षा भाव यानी कि पंचम भाव में शनि का वक्री अवस्था में स्थित रहना कन्या राशि के छात्रों के लिए शिक्षा के क्षेत्र में समस्याएं उत्पन्न कर सकता है। हालांकि दूसरी तरफ स्वास्थ्य और करियर के दृष्टिकोण से यह महीना कन्या राशि के जातकों के लिए सुखद रहने की संभावना है। अक्टूबर का यह महीना आपके जीवन के लिए कैसा रहेगा और परिवार, करियर, स्वास्थ्य, प्रेम आदि क्षेत्रों में आपको कैसे फल प्राप्त होंगे, यह जानने के लिए विस्तार से राशिफल पढ़ें।
कार्यक्षेत्र
करियर के लिहाज से देखा जाए तो अक्टूबर का महीना कन्या राशि के जातकों के लिए सकारात्मक रहने की संभावना है। इस महीने आपके दशम भाव यानी कि कर्म भाव का स्वामी बुध आपके प्रथम भाव में गोचर कर रहा है। इसके अलावा महीने के पूर्वार्ध में बुध और सूर्य की युति से आपके प्रथम भाव में बुधादित्य योग का निर्माण होगा। ग्रहों की इस स्थिति की वजह से आपको इस दौरान करियर के क्षेत्र में नए अवसर प्राप्त हो सकते हैं। कन्या राशि के वह जातक जो नए व्यवसाय को शुरू करने की योजना बना रहे हैं, उनके लिए इस कार्य हेतु यह अवधि अनुकूल सिद्ध हो सकती है। वह जातक जो सरकारी क्षेत्र से जुड़ा कोई कार्य करते हैं, उन्हें भी इस अवधि में लाभ प्राप्त हो सकता है। इसके अलावा नौकरीपेशा जातकों के लिए भी यह अवधि सकारात्मक रहने की संभावना है। पदोन्नति के योग बन रहे हैं। साथ ही इस दौरान आपके करियर में चल रही समस्या को भी आप इस दौरान सुलझाने में सफल रह सकते हैं। हालांकि महीने के उत्तरार्ध में बुध और शुक्र आपके दूसरे भाव यानी कि धन भाव में युति करेंगे। इस दौरान आपको अपने लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए जरूरत से अधिक कार्य करने की जरूरत पड़ सकती है। हालांकि आप अपनी मेहनत से अपने लक्ष्यों को प्राप्त करने में सफल रह सकते हैं।
आर्थिक
कन्या राशि के जातकों के लिए आर्थिक जीवन के लिहाज से अक्टूबर का महीना मिश्रित अनुभवों से भरा रह सकता है। इस महीने आपके द्वितीय भाव यानी कि धन भाव में केतु स्थित रहेगा। इसके अलावा 10 अक्टूबर के आसपास चंद्रमा राहु के साथ आपके अष्टम भाव में गोचर कर कुछ दिनों के लिए ग्रहण योग का निर्माण करेंगे और यहाँ से दोनों ही ग्रहों की दृष्टि आपके द्वितीय भाव पर पड़ेगी। ग्रहों की इस स्थिति की वजह से इस महीने आपके खर्चों में वृद्धि हो सकती है। आशंका है कि इस महीने आपके किसी गलत निर्णय की वजह से आपको व्यवसाय में किसी प्रकार का आर्थिक नुकसान उठाना पड़ सकता है। ऐसे में आपको सलाह दी जाती है कि इस महीने आप आर्थिक जीवन से जुड़ा कोई भी निर्णय लेते वक्त हड़बड़ी न दिखाएं और जांच-परख कर ही किसी भी प्रकार का निवेश करें। बड़े निवेशों से बचें और फिजूलखर्ची पर रोक लगा कर धन संचय करने का प्रयास करें अन्यथा समस्या बढ़ सकती है।
स्वास्थ्य
स्वास्थ्य के लिहाज से अक्टूबर का महीना कन्या राशि के जातकों के लिए राहत भरा रहने की संभावना है। इस महीने आपके छठे भाव यानी कि रोग भाव का स्वामी शनि अपनी स्वराशि मकर में स्थित रहेगा जिसकी वजह से इस महीने आपको स्वास्थ्य से जुड़े सकारात्मक परिणाम प्राप्त हो सकते हैं। कन्या राशि के जातक यदि किसी पुरानी बीमारी से पीड़ित हैं तो उन्हें इस रोग से भी इस महीने राहत मिलने की संभावना है जिसकी वजह से वे स्वयं को काफी चुस्त महसूस कर सकते हैं। आपके साथ-साथ आपके घर के बुजुर्गों के स्वास्थ्य में भी इस महीने सुधार देखने को मिल सकता है जिसकी वजह से आप मानसिक तौर पर राहत महसूस कर सकते हैं।
प्रेम व वैवाहिक
प्रेम व वैवाहिक जीवन के दृष्टिकोण से अक्टूबर का महीना कन्या राशि के जातकों के लिए मिश्रित अनुभवों वाला रह सकता है। इस महीने आपके पंचम भाव यानी कि प्रेम के भाव का स्वामी शनि अपनी ही राशि में वक्री अवस्था में स्थित रहेगा जिसकी वजह से कन्या राशि के जातक अपने प्रेम जीवन में सकारात्मक फल प्राप्त कर सकते हैं। हालांकि आप दोनों के बीच किसी बात को लेकर विवाद होने की भी आशंका है। ऐसे में आपको सलाह दी जाती है कि प्रेमी/प्रेमिका से संवाद करते वक्त अपनी भाषा का ध्यान रखें और अपने क्रोध पर नियंत्रण रखें अन्यथा छोटे-मोटे विवाद बड़ा रूप ले सकते हैं। आपको यह भी सलाह दी जाती है कि किसी भी सुनी-सुनाई बात पर तब तक विश्वास न करें जब तक आप उसे स्वयं जांच नहीं लेते हैं। वहीं आपके सप्तम भाव यानी कि कलत्र भाव का स्वामी बृहस्पति अपनी स्वराशि मीन और आपके सप्तम भाव में स्थित रहेगा जिसकी वजह से कन्या राशि के विवाहित जातकों के लिए यह महीना सुखद रहने की संभावना है। इस महीने आप अपने जीवनसाथी के साथ किसी धार्मिक यात्रा पर जाने की योजना बना सकते हैं जिसकी वजह से आप दोनों के संबंधों में और भी मधुरता आ सकती है। जीवनसाथी से बेहतर तालमेल रहने की संभावना है जिसकी वजह से आपका मन प्रसन्न रहेगा। इसके अलावा हर मुद्दे पर आपको उनका सहयोग व समर्थन भी प्राप्त हो सकता है।
पारिवारिक
पारिवारिक जीवन के लिहाज से अक्टूबर का महीना कन्या राशि के जातकों के लिए थोड़ा कठिनाइयों से भरा रह सकता है। इस महीने केतु आपके दूसरे भाव यानी कि कुटुंब भाव में स्थित रहेगा। इसके अलावा 10 अक्टूबर के आसपास चंद्रमा और राहु आपके अष्टम भाव में युति कर ग्रहण योग का निर्माण करेंगे और यहाँ से आपके परिवार भाव पर दृष्टि डालेंगे। ग्रहों की इस स्थिति की वजह से कन्या राशि के जातकों के परिवार में किसी प्रकार का विवाद होने की आशंका है। परिवार के सदस्यों के बीच आपसी तालमेल में कमी देखी जा सकती है जिसकी वजह से परिवार के सदस्यों के बीच गलतफहमी पैदा होने की प्रबल आशंका है। छोटी बातों को लेकर शुरू हुआ विवाद बड़ा रूप धारण कर सकता है। इस दौरान परिवार में नकारात्मकता का माहौल रहने की वजह से आपका मन खिन्न रहने की आशंका है। ऐसे में आपको सलाह दी जाती है कि आप इस दौरान अपने क्रोध पर नियंत्रण रखें और धैर्य व शांति के साथ स्थिति को संभालने की कोशिश करें। साथ ही कोई भी बड़ा फैसला लेने से पहले परिवार के सभी सदस्यों की सहमति अवश्य लें अन्यथा समस्या और भी बढ़ सकती है। हालांकि महीने के उत्तरार्ध में जब बुध और शुक्र आपके द्वितीय भाव यानी कि कुटुंब भाव में गोचर करेंगे तब इस स्थिति में सुधार होता नजर आ सकता है।
उपाय
गुरुवार के दिन विष्णु जी की आराधना करें पीली चीजों का दान करें
भगवान गणेश को भोग लगाएं और उनके मंत्रों का जाप करें।
ब्राह्मणों को भोजन कराएं। पूर्वजों को वस्त्र अर्पित करें।
 
 

तुला का मासिक राशिफल / Tula Masik Rashifal in Hindi

October, 2022
सामान्य
तुला राशि के जातकों को अक्टूबर के महीने में जीवन के विभिन्न क्षेत्रों में मिश्रित परिणाम प्राप्त हो सकते हैं। इस महीने आप अपने वैवाहिक जीवन में कठिनाइयों का सामना कर सकते हैं। कुंडली में राहु और केतु के स्थिति की वजह से तुला राशि के जातकों का वैवाहिक जीवन में छोटी-छोटी बातों को लेकर विवाद हो सकता है। वहीं प्रेम जीवन के लिहाज से अक्टूबर का महीना आपके लिए अनुकूल रहने की संभावना है। इस दौरान आप अपने प्रेमी/प्रेमिका से विवाह करने की योजना भी बना सकते हैं और यह अवधि इस कार्य के लिए अनुकूल भी सिद्ध हो सकती है। स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से यह महीना आपके लिए मिश्रित फलदायी सिद्ध हो सकता है। महीने के पूर्वार्ध में स्वास्थ्य बेहतर रहने की संभावना है जबकि महीने के उत्तरार्ध में छोटी-मोटी स्वास्थ्य समस्याएं आपको परेशान कर सकती हैं। मंगल की आपके धन भाव पर दृष्टि रहने की वजह से इस महीने घर में किसी मांगलिक कार्य का आयोजन हो सकता है जो आपको आर्थिक रूप से प्रभावित करेगा। अक्टूबर का यह महीना आपके जीवन के लिए कैसा रहेगा और परिवार, करियर, स्वास्थ्य, प्रेम आदि क्षेत्रों में आपको कैसे फल प्राप्त होंगे, यह जानने के लिए विस्तार से राशिफल पढ़ें।
कार्यक्षेत्र
करियर के दृष्टिकोण से तुला राशि के जातकों के लिए अक्टूबर का महीना सकारात्मक रहने की संभावना है। इस महीने आपके कर्म भाव यानी कि दशम भाव का स्वामी चंद्रमा राहु के साथ 10 अक्टूबर के आसपास आपके सप्तम भाव यानी कि कलत्र भाव में गोचर करेगा। इसके अलावा शनि आपके चौथे भाव यानी कि सुख भाव और अपनी स्वराशि मकर में स्थित रहेगा और आपके कर्म भाव पर दृष्टि डालेगा। ग्रहों की इस स्थिति की वजह से तुला राशि के नौकरीपेशा जातकों को सकारात्मक फल प्राप्त हो सकते हैं। पदोन्नति के प्रबल योग बन रहे हैं। इसके साथ ही वे जातक जो किसी नई नौकरी की तलाश में हैं, इस महीने उनकी यह तलाश पूरी हो सकती है। तुला राशि के बेरोजगार जातकों के लिए यह समय अनुकूल रहने की संभावना है और इस दौरान उन्हें नौकरी मिल सकती है। महीने के पूर्वार्ध में सूर्य और बुध आपके बारहवें भाव यानी कि व्यय भाव में युति कर बुधादित्य योग का निर्माण कर रहे हैं जिसकी वजह से विदेशी कंपनी में काम कर रहे या विदेश से जुड़ा कोई व्यापार करने वाले तुला राशि के जातकों के लिए भी यह समय लाभदायक रहने की संभावना है। आयात व निर्यात का व्यवसाय करने वाले जातकों के लिए यह अवधि अत्यंत लाभदायक सिद्ध हो सकती है। इस दौरान ऐसे व्यवसायियों को कोई बड़ा अनुबंध प्राप्त हो सकता है जो उनकी करियर की उन्नति में सहायक रहेगा। महीने के उत्तरार्ध में जब सूर्य, शुक्र और बुध आपके प्रथम भाव में गोचर करेंगे, तब तुला राशि के जातकों के अंदर आत्मविश्वास में वृद्धि आने की संभावना है। इस दौरान आप करियर से जुड़े मजबूत निर्णय लेते नजर आ सकते हैं जो आपके लिए करियर में नई ऊंचाइयों को प्राप्त करने में सहायक सिद्ध होंगे।
आर्थिक
आर्थिक जीवन के लिहाज से अक्टूबर का महीना तुला राशि के जातकों के लिए मिश्रित अनुभवों वाला महीना रह सकता है। इस महीने के पूर्वार्ध में आपके कुटुंब भाव का स्वामी मंगल आपके अष्टम भाव में स्थित रहेगा जहां से यह आपके कुटुंब भाव पर दृष्टि डालेगा जिसकी वजह से आपके परिवार में किसी तरह के मांगलिक कार्य का आयोजन हो सकता है। आशंका है कि आपको इस मांगलिक में अत्यधिक धन खर्च करना पड़ सकता है। हालांकि महीने के उत्तरार्ध में आपके धन भाव का स्वामी मंगल आपके नवम भाव यानी कि भाग्य भाव में गोचर करेगा जिसकी वजह से आपको इस अवधि में आर्थिक लाभ होने के योग बन रहे हैं। साथ ही इस दौरान आपको आर्थिक जीवन में भाग्य का साथ भी मिल सकता है। इसके अलावा महीने के पूर्वार्ध में बुध और शुक्र आपके बारहवें भाव यानी कि व्यय भाव में स्थित रहेगा जिसकी वजह से आपको इस दौरान विदेश से धन लाभ होने की भी संभावना है। विदेश से जुड़ा व्यवसाय करने वाले जातकों के लिए यह महीना आर्थिक जीवन के लिहाज से बेहतर सिद्ध हो सकता है।
स्वास्थ्य
स्वास्थ्य के लिहाज से देखा जाए तो तुला राशि के जातकों को अक्टूबर के महीने में मिश्रित फल प्राप्त हो सकते हैं। इस महीने आपके छठे भाव यानी कि रोग के भाव का स्वामी बृहस्पति अपनी स्वराशि और आपके छठे भाव में स्थित रहेगा जिसकी वजह से आपके स्वास्थ्य में सुधार देखने को मिल सकता है। इस महीने तुला राशि के उन जातकों को भी राहत मिलने की संभावना है जो किसी पुरानी बीमारी से पीड़ित हैं। हालांकि इस महीने शनि की दृष्टि भी आपके छठे भाव पर रहने वाली है जिसकी वजह से आपको छोटी-मोटी स्वास्थ्य समस्या परेशान कर सकती है। रोग प्रतिरोधक क्षमता में गिरावट आने की आशंका है। ऐसे में तुला राशि के जातक इस महीने बदलते मौसम का विशेष ध्यान रखें और जरूरी परहेज करें। हालांकि इस महीने आपका किसी बड़ी बीमारी से पीड़ित होने की आशंका बेहद ही कम है लेकिन फिर भी आपको खानपान संबंधित परहेज की सलाह दी जाती है। वहीं इस महीने परिवार के किसी बुजुर्ग सदस्य के स्वास्थ्य में भी सुधार आ सकता है जिससे आप मानसिक हसानती का अनुभव करेंगे। महीने के पूर्वार्ध में सूर्य, शुक्र और बुध की युति आपके बारहवें भाव यानी कि व्यय भाव में हो रही है जहां से इसकी दृष्टि आपके छठे भाव यानी कि रोग भाव पर पड़ेगी जिसकी वजह से आपको स्वास्थ्य लाभ मिल सकता है। हालांकि महीने के उत्तरार्ध में सूर्य, शुक्र और बुध की युति आपके प्रथम भाव में होगी जहां केतु पहले से ही स्थित रहेगा जिसकी वजह से आपको इस दौरान स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। ऐसे में आपको इस अवधि में अपने स्वास्थ्य के प्रति सजग रहने की सलाह दी जाती है।
प्रेम व वैवाहिक
प्रेम व वैवाहिक जीवन के दृष्टिकोण से तुला राशि के जातकों के लिए अक्टूबर का महीना अनुकूल रहने की उम्मीद है। इस महीने आपके पंचम भाव यानी कि प्रेम के भाव का स्वामी शनि अपने भाव से द्वादश स्थान यानी कि आपके चौथे भाव में स्थित रहेगा जिसकी वजह से तुला राशि के जातकों को इस महीने अपने प्रेम जीवन में सकारात्मक परिणाम प्राप्त हो सकते हैं। तुला राशि के वह जातक जो विवाह के बंधन में बंधने के इच्छुक हैं, उनके इस कार्य के लिए यह अवधि अनुकूल रहने सिद्ध हो सकती है। इस अवधि में तुला राशि के जातक यदि अपने परिवार वालों के सामने अपने प्रेमी/प्रेमिका से विवाह करने की इच्छा जाहिर करते हैं तो इस बात की प्रबल संभावना है कि उनके परिवार वाले इस रिश्ते को लेकर हामी भर दें। वहीं तुला राशि के वह जातक जो विवाहित हैं उनके लिए यह महीना कठिनाइयों से भरा रह सकता है। इस महीने भरणी नक्षत्र में स्थित राहु आपके सप्तम भाव यानी कि कलत्र भाव में 20 डिग्री के साथ स्थित रहेगा जिसकी वजह से आपके वैवाहिक जीवन में कलह होने की आशंका है। इस दौरान आपका अपने जीवनसाथी से छोटी-छोटी बातों को लेकर विवाद हो सकता है जिसकी वजह से आपका मन खिन्न रहेगा। वहीं इस महीने केतु आपके प्रथम भाव में स्थित रहेगा। ऐसे में इस दौरान आपके अंदर अहंकार की वृद्धि हो सकती है जिसकी वजह से आपको अपने जीवनसाथी से तालमेल बैठाने में मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है। आपको सलाह दी जाती है कि आप इस महीने अपने क्रोध पर काबू रखें और जीवनसाथी की बातों को समझने व प्रेम से उन्हें अपनी बात समझाने का प्रयास करें।
पारिवारिक
तुला राशि के जातकों के लिए अक्टूबर का महीना पारिवारिक जीवन के दृष्टिकोण से मिश्रित अनुभवों से भरा रह सकता है। इस महीने के पूर्वार्ध में आपके द्वितीय भाव यानी कि कुटुंब भाव का स्वामी मंगल आपके अष्टम भाव में स्थित रहेगा जहां से यह आपके कुटुंब भाव पर दृष्टि डालेगा। मंगल की इस स्थिति की वजह से तुला राशि के जातकों के परिवार में किसी प्रकार का मांगलिक कार्य आयोजित हो सकता है। इसके अलावा घर में किसी नए मेहमान के आगमन के भी योग बन रहे हैं जिसकी वजह से परिवार में उत्साह का माहौल रहेगा। इस महीने मृगशिरा नक्षत्र में स्थित मंगल 26 डिग्री के साथ आपके अष्टम भाव में स्थित रहेगा जिसकी वजह से आपके परिवार का माहौल सुखद रहने की संभावना बन रही है। महीने के उत्तरार्ध में मंगल आपके नवम भाव यानी कि भाग्य भाव में गोचर करेगा। इस दौरान आपके परिवार में किसी बात को लेकर विवाद होने की आशंका है। ऐसे में आपको सलाह दी जाती है कि इस अवधि में आप स्वयं के गुस्से व भाषा पर नियंत्रण रखें अन्यथा स्थिति बिगड़ सकती है। साथ ही प्रेम, शांति व धैर्य के साथ परिवार के सदस्यों को समझने व उन्हें समझाने का प्रयास करें।
उपाय
अपनी इष्ट देवी की आराधना करें और उनकी प्रतिमा के आगे घी का दीपक जलाएं।
मां भगवती की पूजा करें उन्हें लाल वस्त्र अर्पित करें।
बड़े बुजुर्गों की सेवा व सम्मान करें और उनका आशीर्वाद लें।
 
 
 

वृश्चिक का मासिक राशिफल / Vrishchika Masik Rashifal in Hindi

October, 2022
सामान्य
वृश्चिक राशि के जातकों के लिए अक्टूबर का महीना सुखद रहने की संभावना है। हालांकि स्वास्थ्य के प्रति आपको इस महीने सजग रहने की जरूरत है क्योंकि आपके रोग भाव में छाया ग्रह राहु स्थित रहेगा जिसकी वजह से आप स्वास्थ्य को लेकर थोड़े परेशान रह सकते हैं। वहीं बृहस्पति का वृश्चिक राशि के पंचम भाव में स्थित रहने की वजह से इस महीने वृश्चिक राशि के जातक शिक्षा के क्षेत्र में बेहतर प्रदर्शन करते नजर आ सकते हैं। साथ ही प्रतियोगी परीक्षाओं में भी आप अच्छा परिणाम प्राप्त करने में सफल रह सकते हैं। परिवार के भाव पर मंगल की दृष्टि पड़ने की वजह से परिवार में किसी मांगलिक कार्य का आयोजन हो सकता है। परिवार का माहौल सुखद रहने की संभावना है। प्रेम जीवन में प्रेमी/प्रेमिका के साथ रिश्ते में मधुरता आ सकती है। वहीं वैवाहिक जीवन भी इस महीने अनुकूल रहने की संभावना है। हालांकि आर्थिक जीवन के लिहाज से आपको थोड़ी-बहुत समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। अक्टूबर का यह महीना आपके जीवन के लिए कैसा रहेगा और परिवार, करियर, स्वास्थ्य, प्रेम आदि क्षेत्रों में आपको कैसे फल प्राप्त होंगे, यह जानने के लिए विस्तार से राशिफल पढ़ें।
कार्यक्षेत्र
करियर के लिहाज से वृश्चिक राशि के जातकों के लिए अक्टूबर का महीना बेहतर रहने की संभावना है। इस महीने के पूर्वार्ध में आपके दशम भाव यानी कि कर्म भाव का स्वामी सूर्य आपके ग्यारहवें भाव यानी कि आय भाव में शुक्र और बुध के साथ स्थित रहेगा जिसकी वजह से इस अवधि में आपकी आय में वृद्धि होने के प्रबल योग बन रहे हैं। सूर्य और बुध आपके आय भाव में बुधादित्य योग का निर्माण करेंगे जो कि वैदिक ज्योतिष के अनुसार एक शुभ योग है। ऐसे में इस दौरान आय में वृद्धि के साथ-साथ वृश्चिक राशि के जातकों को अचानक से धन प्राप्त होने के भी प्रबल योग बन रहे हैं। वृश्चिक राशि के वह जातक जो सरकारी क्षेत्र से जुड़ा व्यवसाय करते हैं, वे इस अवधि में सरकार की तरफ से लाभदायक कांट्रैक्ट यानी कि अनुबंध प्राप्त करने में सफल रह सकते हैं। महीने के उत्तरार्ध में सूर्य, बुध और शुक्र आपके बारहवें भाव यानी कि व्यय भाव में गोचर करेंगे जिसकी वजह से वृश्चिक राशि के जातकों को विदेश से लाभ प्राप्त हो सकता है। यह समय विदेश से जुड़ा व्यापार जैसे कि आयात-निर्यात, स्टॉक मार्केट आदि करने वाले जातकों के लिए अनुकूल रह सकता है। यह अवधि उन जातकों के लिए भी अनुकूल रहने की संभावना है जो कोई नया व्यवसाय शुरू करने की योजना बना रहे हैं क्योंकि इस अवधि में नया व्यापार शुरू करने से आपको लाभ हो सकता है।
आर्थिक
वृश्चिक राशि के जातकों के लिए अक्टूबर का महीना आर्थिक दृष्टिकोण से मिश्रित परिणाम देने वाला महीना सिद्ध हो सकता है। इस महीने आपके द्वितीय भाव यानी कि धन भाव का स्वामी बृहस्पति आपके पंचम भाव और अपनी स्वराशि में स्थित रहेगा जिसकी वजह से इस दौरान आपके आय में वृद्धि के योग बन रहे हैं। वहीं इस महीने केतु आपके बारहवें भाव यानी कि व्यय भाव में स्थित रहेगा जिसकी वजह से आपके खर्चों में वृद्धि हो सकती है। ऐसे में आपको सलाह दी जाती है कि इस महीने आप फिजूलखर्ची से बचें और धन संचय करने का प्रयास करें अन्यथा समस्याएं बढ़ सकती हैं। महीने के पूर्वार्ध में सूर्य और बुध आपके आय भाव में स्थित रहेंगे और बुधादित्य योग का निर्माण करेंगे जिसकी वजह से इस अवधि में आपके आय में वृद्धि होने के प्रबल योग बन रहे हैं लेकिन अत्यधिक खर्चों की वजह से आप इस दौरान धन का संचय करने में समस्याओं का सामना कर सकते हैं। विदेश से जुड़ा कोई व्यवसाय या विदेश से जुड़ी कंपनी में नौकरी करने वाले जातकों के लिए यह समय आर्थिक लिहाज से अनुकूल रहने की संभावना है। वहीं वे जातक जो कपड़े, खिलौने, खाने-पीने, मार्केटिंग, मनोरंजन आदि के व्यवसाय से जुड़े हैं, उन्हें भी इस महीने आर्थिक तौर पर लाभ होने के योग बन रहे हैं।
स्वास्थ्य
स्वास्थ्य के लिहाज से अक्टूबर का महीना वृश्चिक राशि के जातकों के लिए कठिनाइयों से भरा रह सकता है। इस महीने आपके छठे भाव यानी कि रोग के भाव में 10 अक्टूबर के आसपास चंद्रमा गोचर कर राहु के साथ युति करेगा और ग्रहण योग का निर्माण करेगा जिसकी वजह से इस अवधि में आपको स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। आपको सलाह दी जाती है कि इस महीने थोड़ी सी भी स्वास्थ्य समस्या होने पर लापरवाही न बरतें और जल्द से जल्द चिकित्सीय परामर्श लें अन्यथा समस्या में वृद्धि हो सकती है। राहु का इस महीने आपके छठे भाव में स्थित रहने से आपको पूरे महीने छोटी-मोटी स्वास्थ्य समस्या का सामना करना पड़ सकता है। इस महीने जोड़ों का दर्द, सिर दर्द आदि की समस्या विशेष रूप से आपको परेशान कर सकती हैं। अवसाद के भी योग बन रहे हैं। ऐसे में आपको सलाह दी जाती है कि आप अपनी सोच को सकारात्मक रखें और अपने आत्मविश्वास को किसी भी स्थिति में कम न होने दें। इस अवधि में बासी, तले-भुने, मसालेदार और बाहर के खाने से परहेज करें अन्यथा आपको अपच, गैस आदि की समस्या भी परेशान कर सकती है।
प्रेम व वैवाहिक
अक्टूबर के महीने में आपके पंचम भाव यानी कि प्रेम भाव का स्वामी बृहस्पति अपनी स्वराशि मीन और आपके पंचम भाव में स्थित रहेगा। इसके अलावा महीने के पूर्वार्ध में सूर्य, शुक्र और बुध आपके ग्यारहवें भाव यानी कि आय भाव में स्थित रहेंगे और यहाँ से आपके पंचम भाव पर दृष्टि डालेंगे जिसकी वजह से वृश्चिक राशि के जातकों का प्रेम जीवन इस अवधि में सुखद रहने की संभावना है। इस महीने आप अपने प्रेमी के साथ अच्छा समय बिताते नजर आ सकते हैं। एक दूसरे के प्रति विश्वास में वृद्धि हो सकती है और साथ ही आप दोनों के रिश्तों में भी मधुरता आ सकती है। संभावना है कि आप दोनों इस दौरान कहीं बाहर घूमने जाने की योजना बनाएं। केतु इस महीने आपके बारहवें भाव यानी कि व्यय भाव में स्थित रहेगा, जहां महीने के उत्तरार्ध में सूर्य, शुक्र और बुध गोचर करेंगे। यह अवधि प्रेमी जोड़ों के लिए थोड़ा मुश्किलों से भरा हुआ रहने की आशंका है। इस दौरान आप दोनों के बीच किसी बात को लेकर विवाद हो सकता है जिससे आपका मन खिन्न रहेगा। वहीं वृश्चिक राशि के विवाहित जातकों की बात की जाए तो इस महीने के पूर्वार्ध में मंगल आपके सप्तम भाव यानी कि कलत्र भाव में स्थित रहेगा जिसकी वजह से आपका वैवाहिक जीवन सुखद रहने की संभावना है। मंगल की इस स्थिति की वजह से आप दोनों के बीच प्रेम में वृद्धि होगी और आपको अपने जीवनसाथी का हर मुद्दे पर पूरा सहयोग व समर्थन प्राप्त हो सकता है।
पारिवारिक
पारिवारिक जीवन के लिहाज से अक्टूबर का महीना वृश्चिक राशि के जातकों के लिए अनुकूल रहने की संभावना है। इस महीने आपके द्वितीय भाव यानी कि कुटुंब भाव का स्वामी बृहस्पति आपके पंचम भाव यानी कि प्रेम, शिक्षा, संतान आदि के भाव में स्थित रहेगा जिसकी वजह से इस दौरान आपको अपने परिवार का पूर्ण सहयोग व समर्थन प्राप्त हो सकता है। मंगल जो कि आपके प्रथम भाव का स्वामी है, उसकी दृष्टि इस महीने आपके कुटुंब भाव पर पड़ेगी जिसकी वजह से इस महीने आपके परिवार में किसी प्रकार के मांगलिक कार्य का आयोजन हो सकता है। परिवार में छोटे भाई-बहनों का आपको पूरा सहयोग और समर्थन प्राप्त हो सकता है। आप अपनी कोशिशों से इस महीने अपने परिवार का माहौल सुखद बनाए रखने में सफल रह सकते हैं। इस महीने आप अपने परिवार के साथ किसी धार्मिक यात्रा पर जाने की योजना बना सकते हैं। कुल मिलाकर देखा जाए तो आप इस महीने अपने परिवार के साथ अच्छा व सुखद समय बिताने में सफल रह सकते हैं।
उपाय
हनुमान चालीसा का पाठ करें। हनुमान जी का ध्यान कर उनके मंत्रों का जप करें।
नहाने के पानी में सिंदूर डालकर स्नान करें।
किसी धार्मिक ग्रंथ का दान करें।

 

 

 

धनु का मासिक राशिफल / Dhanu Masik Rashifal in Hindi

October, 2022
सामान्य
अक्टूबर का महीना धनु राशि के जातकों के लिए सकारात्मक रहने की संभावना है। इस महीने आप करियर, आर्थिक जीवन, पारिवारिक जीवन में अनुकूल परिणाम प्राप्त करने में सफल रह सकते हैं। वहीं शिक्षा के क्षेत्र में धनु राशि के जातकों को समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। मंगल का इस महीने आपके रोग भाव में स्थित होना, आपको किसी प्रकार का चोट लगने की आशंका को प्रबल करता है। ऐसे में आपको सलाह दी जाती है कि वाहन चलाते वक्त सजग रहें। वहीं वैवाहिक जीवन की बात की जाए तो धनु राशि के विवाह भाव का स्वामी बुध इस महीने सूर्य के साथ युति कर बुधादित्य योग का निर्माण करेगा जिसकी वजह से धनु राशि के जातकों का वैवाहिक जीवन सुखद रहने की संभावना है। जीवनसाथी का आपको पूर्ण सहयोग व समर्थन प्राप्त हो सकता है जिससे आपका मन प्रसन्न रहेगा। अक्टूबर का यह महीना आपके जीवन के लिए कैसा रहेगा और परिवार, करियर, स्वास्थ्य, प्रेम आदि क्षेत्रों में आपको कैसे फल प्राप्त होंगे, यह जानने के लिए विस्तार से राशिफल पढ़ें।
कार्यक्षेत्र
करियर के दृष्टिकोण से अक्टूबर का महीना धनु राशि के जातकों के लिए सकारात्मक रहने की संभावना है। इस महीने के पूर्वार्ध में आपके दशम भाव यानी कि कर्म भाव में सूर्य, शुक्र और बुध की युति हो रही है जिसकी वजह से धनु राशि के जातकों को करियर में अच्छे परिणाम प्राप्त हो सकते हैं। नौकरीपेशा जातकों के लिए यह समय अनुकूल साबित हो सकता है। पदोन्नति के योग बन रहे हैं। धनु राशि के वह जातक जो लंबे समय से नई और अच्छी नौकरी की तलाश कर नौकरी बदलने की योजना बना रहे हैं, उनके लिए यह अवधि बेहद अनुकूल रह सकती है। वे जातक जो सरकारी क्षेत्र से जुड़ा कोई व्यवसाय करते हैं, उन्हें इस दौरान लाभ हो सकता है। इसके अलावा महीने के उत्तरार्ध में जब सूर्य, शुक्र और बुध आपके आय भाव यानी कि ग्यारहवें भाव में गोचर करेंगे तब आपकी आय में वृद्धि हो सकती है। इस दौरान आप करियर में नई ऊंचाइयों को छू सकते हैं। इसके अलावा आपके चौथे भाव यानी कि सुख और माता के भाव में बृहस्पति विराजमान रहेंगे और यहाँ से वह आपके दशम भाव यानी कि कर्म भाव पर दृष्टि डालेंगे। ऐसे में इस अवधि में शिक्षा के क्षेत्र से जुड़े जातकों की पदोन्नति हो सकती है।
आर्थिक
आर्थिक जीवन के दृष्टिकोण से अक्टूबर का महीना धनु राशि के जातकों के लिए मिलाजुला रहने की संभावना है। इस महीने आपके द्वितीय भाव यानी कि धन भाव में शनि स्थित रहने वाले हैं जिसकी वजह से धनु राशि के जातकों को इस अवधि में अपने परिवार के सदस्यों से किसी प्रकार का आर्थिक सहयोग प्राप्त होने की संभावना है। परिवार से संपत्ति का लाभ मिलने के भी योग बन रहे हैं। महीने के उत्तरार्ध में सूर्य, शुक्र और बुध आपके आय भाव में गोचर करेंगे जिसकी वजह से आपको आर्थिक तौर पर लाभ हो सकता है। विशेषकर व्यवसाय करने वाले जातकों के लिए यह अवधि अनुकूल रहने की संभावना है। इस दौरान वे जातक जो जमीन व संपत्ति से जुड़ा व्यवसाय करते हैं, उन्हें अच्छा मुनाफा होने की संभावना है। हालांकि आपको सलाह दी जाती है कि इस दौरान आप अति आत्मविश्वास से बचें और कहीं भी निवेश करने या कोई आर्थिक फैसला लेने से पहले अच्छी तरह सोच विचार लें। इस महीने आपको अपने पिता से भी आर्थिक सहयोग प्राप्त हो सकता है।
स्वास्थ्य
स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से अक्टूबर का महीना धनु राशि के जातकों के लिए परेशानियों से भरा रह सकता है। इस महीने के पूर्वार्ध में आपके छठे भाव यानी कि रोग के भाव में मंगल स्थित रहेगा जिसकी वजह से आपको चोट लगने के योग बन रहे हैं। ऐसे में आपको सलाह दी जाती है कि वाहन चलाते वक्त या फिर सड़क को पार करते वक्त अतिरिक्त सावधानी बरतें। अपने सिर और पैर का विशेष ख्याल रखें। परिवार में किसी बुजुर्ग का स्वास्थ्य बिगड़ सकता है जिसकी वजह से आप मानसिक तौर पर परेशान रह सकते हैं। हालांकि आपको यह सलाह दी जाती है कि इस दौरान आप अपने ऊपर नकारात्मक विचार हावी न होने दें क्योंकि यह परिस्थिति समय के साथ खुद ब खुद सुधर जाएंगी।
प्रेम व वैवाहिक
प्रेम व वैवाहिक जीवन के लिहाज से देखा जाए तो अक्टूबर का महीना धनु राशि के जातकों के लिए उतार-चढ़ाव से भरा हुआ रह सकता है। इस महीने आपके पंचम भाव यानी कि प्रेम संबंध के भाव में राहु स्थित रहेगा। ग्रहों की इस स्थिति की वजह से आपका आपके साथी से किसी बात को लेकर विवाद होने की आशंका है। साथ ही इस दौरान आप दोनों के बीच भ्रम यानी कि गलतफहमी भी पैदा हो सकती है। ऐसे में आपको सलाह दी जाती है कि आप किसी भी बात पर तब तक विश्वास न करें जब तक कि आप उसकी सत्यता स्वयं से नहीं जांच लेते हैं। वहीं धनु राशि के विवाहित जातकों के लिहाज से देखा जाए तो इस महीने के पूर्वार्ध में आपके सप्तम भाव यानी कि कलत्र भाव का स्वामी बुध आपके दशम भाव में सूर्य और शुक्र के साथ स्थित रहेगा जिसकी वजह से आपको सकारात्मक फल प्राप्त हो सकते हैं। इस दौरान धनु राशि के जातकों को न सिर्फ निजी जीवन में बल्कि व्यावसायिक जीवन में भी अपने जीवनसाथी का सम्पूर्ण समर्थन व सहयोग प्राप्त हो सकता है। महीने के उत्तरार्ध में जब सूर्य, बुध और शुक्र आपके आय भाव यानी कि ग्यारहवें भाव में गोचर करेंगे तब इस अवधि के दौरान आप अपने जीवनसाथी की सहायता से आय में भी वृद्धि करने में सफल रह सकते हैं।
पारिवारिक
पारिवारिक जीवन के लिहाज से अक्टूबर का महीना धनु राशि के जातकों के लिए अच्छा रहने की संभावना है। इस महीने आपके द्वितीय भाव यानी कि कुटुंब के भाव का स्वामी शनि अपनी स्वराशि मकर और आपके द्वितीय भाव में स्थित रहेगा जिसकी वजह से इस अवधि में आपको अपने परिवार का पूर्ण समर्थन और सहयोग प्राप्त हो सकता है। परिवार में शांति का माहौल बना रह सकता है। साथ ही इस दौरान परिवार में लंबे समय से चले आ रहे किसी विवाद को भी घर के सदस्य आपस में सुलझाने में सफल रह सकते हैं। छोटे भाई-बहन आपके कार्य में आपका सहयोग करते नजर आ सकते हैं जिसकी वजह से आपके बीच के रिश्ते और भी मधुर होंगे। महीने के पूर्वार्ध में आपके दशम भाव में सूर्य, बुध और शुक्र की युति हो रही है जिसकी वजह से परिवार में किसी प्रकार का मांगलिक कार्य आयोजित किया जा सकता है। साथ ही आपको इस दौरान पैतृक संपत्ति से भी लाभ प्राप्त हो सकता है। पिता के साथ-साथ ननिहाल पक्ष से भी सहयोग प्राप्त होने के योग बन रहे हैं।
उपाय
नहाने के पानी में काला तिल डालकर स्नान करें।
माथे पर दही का तिलक लगाएं।
विष्णु सहस्त्रनाम का पाठ करें। गाय को हरा चारा खिलाएं।
 
 

मकर का मासिक राशिफल / Makara Masik Rashifal in Hindi

October, 2022
सामान्य
कुल मिला कर देखा जाए तो मकर राशि के जातकों के लिए अक्टूबर का महीना अच्छा रहने की उम्मीद है। इस महीने आपकी राशि के स्वामी शनि आपके प्रथम भाव में स्थित रहेंगे जिसकी वजह से मकर राशि के जातकों को जीवन के विभिन्न क्षेत्रों में सकारात्मक परिणाम प्राप्त होंगे। शनि आपके दूसरे भाव यानी कि धन और कुटुंब भाव के भी स्वामी हैं। ऐसे में शनि की इस स्थिति की वजह से आपका पारिवारिक और आर्थिक जीवन सुखद रह सकता है। परिवार के सदस्यों के बीच इस महीने प्रेम व सौहार्द में वृद्धि देखी जा सकती है। वहीं आर्थिक जीवन में मकर राशि के जातकों को आर्थिक लाभ होने के प्रबल योग बन रहे हैं। हालांकि करियर व स्वास्थ्य को लेकर आपको इस महीने थोड़ी-बहुत समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। करियर के क्षेत्र में आपको इस अवधि में जरूरत से अधिक मेहनत करनी पड़ सकती है जिसकी वजह से आपके मन में नकारात्मक विचार हावी हो सकते हैं। वहीं स्वास्थ्य के लिहाज से इस महीने आपको पेट व त्वचा संबंधी बीमारियां परेशान कर सकती हैं। अक्टूबर का यह महीना आपके जीवन के लिए कैसा रहेगा और परिवार, करियर, स्वास्थ्य, प्रेम आदि क्षेत्रों में आपको कैसे फल प्राप्त होंगे, यह जानने के लिए विस्तार से राशिफल पढ़ें।
कार्यक्षेत्र
करियर के दृष्टिकोण से मकर राशि के जातकों के लिए अक्टूबर का महीना परेशानियों से भरा रह सकता है। इस महीने आपके कर्म भाव यानी कि दशम भाव में केतु स्थित रहेगा जिसकी वजह से आपको अपने करियर में बाधाओं का सामना करना पड़ सकता है। इस महीने मकर राशि के जातकों को अच्छे परिणाम प्राप्त करने के लिए जरूरत से अधिक मेहनत करनी पड़ सकती है। इस दौरान आपके चौथे भाव में राहु स्थित रहने वाला है जिसकी दृष्टि आपके दशम भाव यानी कि कर्म भाव पर पड़ेगी। ऐसे में इस अवधि में आपके अंदर आत्मविश्वास की कमी रहने की आशंका है। हालांकि आपको यह सलाह दी जाती है कि आप इस दौरान निराश न हों और अपने मन में नकारात्मक विचारों को जगह न बनाने दें क्योंकि आपको सफलता मिल सकती है लेकिन इसे पाने के लिए आपको बस थोड़ी ज्यादा मेहनत करने की जरूरत है। करियर में भाग्य का आपको साथ मिलता नजर आ रहा है। मकर राशि के वह जातक जो शिक्षा के क्षेत्र से जुड़े हैं, उन्हें इस दौरान कुछ बेहतर अवसर प्राप्त होने की संभावना है।
आर्थिक
आर्थिक जीवन के दृष्टिकोण से अक्टूबर का महीना मकर राशि के जातकों के लिए मिलाजुला रहने की संभावना है। इस महीने आपकी आय में वृद्धि हो सकती है लेकिन उसके साथ ही आपके खर्चे भी बढ़ सकते हैं। आपके द्वितीय भाव यानी कि धन भाव का स्वामी शनि इस दौरान आपके प्रथम भाव में स्थित रहेगा। ऐसे में मकर राशि के जातकों को आर्थिक तौर पर सकारात्मक नतीजे प्राप्त हो सकते हैं। इस अवधि में नौकरीपेशा व व्यवसाय करने वाले सभी जातकों को धन लाभ होने की संभावना है। आर्थिक जीवन में इस महीने आपको भाग्य का साथ भी मिलता नजर आ रहा है जो आपकी आर्थिक स्थिति को मजबूत करने में सहायक सिद्ध हो सकता है। महीने के उत्तरार्ध में सूर्य, शुक्र और बुध आपके दशम भाव यानी कि कर्म भाव में गोचर करेंगे। ग्रहों की इस स्थिति की वजह से आपको व्यवसाय में अचानक लाभ हो सकता है। हालांकि आपको सलाह दी जाती है कि आर्थिक लाभ होने पर आप धन को व्यर्थ की चीजों में खर्च करने से बचें और इसे भविष्य के संभावित बुरे समय के लिए जमा करने की कोशिश करें।
स्वास्थ्य
स्वास्थ्य के लिहाज से अक्टूबर का महीना मकर राशि के जातकों के लिए सकारात्मक रहने की संभावना है। महीने के पूर्वार्ध में आपके छठे भाव यानी कि रोग के भाव का स्वामी बुध आपके नवम भाव यानी कि भाग्य भाव में सूर्य और शुक्र के साथ स्थित रहेगा। ऐसे में आपको इस अवधि में स्वास्थ्य जीवन में भाग्य का साथ मिलता नजर आ रहा है। संभावना है कि इस दौरान मकर राशि के जातकों को पुराने रोगों से आराम मिल सकता है। वहीं महीने के उत्तरार्ध में बुध, शुक्र और सूर्य गोचर करके आपके दसवें भाव में युति करेंगे। ग्रहों की इस स्थिति की वजह से इस अवधि में आपको स्वास्थ्य के प्रति सजग रहने की सलाह दी जाती है। इस अवधि में मकर राशि के जातक गैस, अपच आदि जैसी बीमारियों से परेशान रह सकते हैं। साथ ही इस महीने आपके रोग भाव पर शनि की दृष्टि भी पड़ रही है जिसकी वजह से आपको इस दौरान पेट व त्वचा संबंधी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। इस अवधि में खानपान संबंधी परहेज करना आपके स्वास्थ्य के लिए उत्तम रह सकता है।
प्रेम व वैवाहिक
प्रेम व वैवाहिक जीवन के लिहाज से देखा जाए तो अक्टूबर के महीने में मकर राशि के जातकों को मिश्रित परिणाम मिलने की संभावना है। इस महीने आपके पंचम भाव यानी कि प्रेम संबंध के भाव में मंगल स्थित रहेगा और यहाँ से यह आपके आय के भाव यानी कि ग्यारहवें भाव पर दृष्टि डालेगा। वहीं शनि की दृष्टि आपके सप्तम भाव यानी कि वैवाहिक जीवन के भाव पर पड़ेगी। ऐसे में संभावना है कि इस दौरान विवाहित जातकों का अपने जीवनसाथी से किसी बात को लेकर विवाद हो सकता है। ऐसे में आपको सलाह दी जाती है कि ऐसी स्थिति में आप स्वयं के क्रोध पर नियंत्रण रखें और जीवनसाथी से बात करते वक्त अपनी भाषा का ध्यान रखें अन्यथा स्थिति बिगड़ सकती है। वहीं जो प्रेमी जोड़े विवाह के बंधन में बंधने की योजना बना रहे हैं, उनके लिए यह समय अनुकूल सिद्ध हो सकता है। संभावना है कि इस दौरान परिवार के लोगों से इस मुद्दे पर बात करने पर आपको अनुकूल परिणाम मिलेंगे और वे आपके इस रिश्ते को लेकर हामी भर दें। वहीं दूसरी तरफ मकर राशि के वे जातक जो विवाहित हैं, उनके लिए महीने के उत्तरार्ध का समय अच्छा रहने की संभावना है। इस अवधि में आपको अपने जीवनसाथी का भरपूर सहयोग और समर्थन प्राप्त हो सकता है और आप दोनों एक दूसरे के साथ यादगार समय बिताने में सफल रह सकते हैं।
पारिवारिक
पारिवारिक जीवन के लिहाज से मकर राशि के जातकों के लिए अक्टूबर का महीना अच्छा रहने की संभावना है। इस महीने आपके दूसरे भाव यानी कि कुटुंब भाव का स्वामी शनि आपके प्रथम भाव में स्थित रहेगा। शनि का अपनी ही राशि में स्थित होने की वजह से मकर राशि के जातकों को पारिवारिक जीवन में सकारात्मक फल प्राप्त हो सकते हैं। इस दौरान परिवार के सदस्यों का आपको पूरा सहयोग प्राप्त हो सकता है जिसकी वजह से आपका मन प्रसन्न रहेगा। साथ ही आप इस अवधि में परिवार में चल रहे किसी पुराने विवाद को सुलझाने में सफल रह सकते हैं जिससे घर का माहौल खुशनुमा रह सकता है। घर के सदस्यों के बीच सौहार्द और प्रेम की भावना में वृद्धि देखने को मिल सकती है। कार्यक्षेत्र में भाई-बहनों का सहयोग प्राप्त हो सकता है और उनसे आपके संबंध और भी बेहतर हो सकते हैं। परिवार में सुख और शांति रहने की संभावना है।
उपाय
माथे पर दही का तिलक लगाएं। नहाने के पानी में थोड़ा दूध डालकर स्नान करें।
शनि चालीसा का पाठ करें।
काले तिल का दान करें।
 
 
 

 

कुम्भ का मासिक राशिफल / Kumbha Masik Rashifal in Hindi

October, 2022
सामान्य
कुंभ राशि के जातकों के लिए अक्टूबर का महीना सकारात्मक रहने की संभावना है। इस महीने आपके कर्म भाव का स्वामी मंगल अपने ही भाव पर दृष्टि डालेगा जिसकी वजह से आपको करियर के क्षेत्र में उत्कृष्ट परिणाम प्राप्त हो सकते हैं। इसके अलावा सूर्य और बुध की युति आपके अष्टम भाव में होगी जिससे कुंभ राशि के उन जातकों को लाभ होने की संभावना है जो विदेश से जुड़ा व्यापार करते हैं या फिर विदेश में उच्च शिक्षा प्राप्त करने की इच्छा रखते हैं। वहीं इस महीने आपके कुटुंब भाव में शुभ फल दाता गुरु स्थित रहेगा जिसकी वजह से आपका पारिवारिक जीवन सुखद रहने की उम्मीद है। वहीं बृहस्पति की वजह से आपको आर्थिक लाभ भी हो सकता है। इसके अलावा इस महीने आपके प्रेम भाव का स्वामी बुध आपके अष्टम भाव में सूर्य के साथ युति कर बुधादित्य योग का निर्माण करेगा जिसकी वजह से आपका प्रेम जीवन सुखद रहेगा। इस दौरान आपके संबंध अपने प्रेमी/प्रेमिका के साथ और भी मधुर हो सकते हैं। बुध के साथ युति करने वाला सूर्य आपके सप्तम भाव यानी कि विवाह भाव का स्वामी है। ऐसे में बुधादित्य योग के निर्माण का लाभ आपको वैवाहिक जीवन में भी मिलेगा। इस दौरान आप और आपके जीवनसाथी के बीच बेहतर तालमेल देखने को मिल सकता है और आप दोनों एक दूसरे की भावनाओं को समझने में सफल रह सकते हैं। अक्टूबर का यह महीना आपके जीवन के लिए कैसा रहेगा और परिवार, करियर, स्वास्थ्य, प्रेम आदि क्षेत्रों में आपको कैसे फल प्राप्त होंगे, यह जानने के लिए विस्तार से राशिफल पढ़ें।
कार्यक्षेत्र
करियर के दृष्टिकोण से कुंभ राशि के जातकों के लिए साल 2022 का अक्टूबर महीना शानदार रहने की संभावना है। इस महीने के पूर्वार्ध में आपके दशम भाव यानी कि कर्म भाव का स्वामी मंगल आपके चौथे भाव में विराजमान रहेगा और यहाँ से यह आपके कर्म भाव पर दृष्टि डालेगा। मंगल का अपने ही भाव पर दृष्टि डालने की वजह से इस अवधि में कुंभ राशि के जातकों को करियर के क्षेत्र में कई नए व आकर्षक अवसर प्राप्त होने के योग बन रहे हैं। इसके अलावा जमीन और संपत्ति से जुड़ा लाभ भी आपको इस दौरान प्राप्त हो सकता है। कुंभ राशि के वह जातक जो शेयर मार्केट या फाइनेंस के क्षेत्र से जुड़े हैं, उन्हें इस अवधि में अनुकूल परिणाम प्राप्त होने की संभावना है। भाग्य के प्रबल रहने की उम्मीद है जिसकी वजह से इस समय थोड़ी मेहनत करने पर भी आपको अधिक परिणाम प्राप्त हो सकते हैं। इसके अलावा आपके अष्टम भाव यानी कि विदेश भाव में सूर्य और बुध युति करके बुधादित्य योग का निर्माण कर रहे हैं जिसकी वजह से कुंभ राशि के जातक इस दौरान विदेश से लाभ प्राप्त कर सकते हैं। यह समय उन जातकों के लिए अनुकूल रहने की संभावना है जो विदेश से जुड़ा कोई व्यवसाय जैसे कि आयात-निर्यात आदि करते हैं। वहीं नौकरीपेशा जातकों की पदोन्नति के योग बन रहे हैं। कार्यक्षेत्र में वरिष्ठों के द्वारा आपकी सराहना की जा सकती है।
आर्थिक
आर्थिक जीवन के दृष्टिकोण से अक्टूबर का महीना कुंभ राशि के जातकों के लिए सकारात्मक नतीजे लेकर आ सकता है। इस महीने आपके द्वितीय भाव यानी कि कुटुंब भाव के स्वामी बृहस्पति अपनी स्वराशि मीन में आपके द्वितीय भाव में स्थित रहेंगे। इसके अलावा महीने के पूर्वार्ध में आपके अष्टम भाव में बुधादित्य योग का निर्माण कर रहे सूर्य, शुक्र और बुध की दृष्टि भी आपके धन भाव पर रहेगी जिसकी वजह से इस अवधि में आपको आर्थिक रूप से मजबूती मिलने के योग बन रहे हैं। व्यवसाय में अप्रत्याशित लाभ मिल सकता है जिससे आर्थिक स्थिति को और भी बल मिलेगा। साथ ही विदेश से भी धन आगमन के योग बन रहे हैं। परिवार से जमीन व संपत्ति के रूप में लाभ होने की संभावना है। कुंभ राशि के वह जातक जो कोई नया व्यवसाय शुरू करने की योजना बना रहे हैं, उनके लिए यह समय इस कार्य के लिए अनुकूल सिद्ध हो सकता है। नए व्यवसाय में इस दौरान आपको बहुत जल्द तरक्की मिल सकती है। मजबूत आर्थिक स्थिति की वजह से आप इस महीने नई संपत्ति खरीदने पर विचार कर सकते हैं। वहीं नौकरीपेशा जातकों के लिए भी यह अवधि सकारात्मक रहने की संभावना है और इस दौरान उनकी पदोन्नति हो सकती है जिसकी वजह से आय में वृद्धि होगी। कम मेहनत में भी अधिक लाभ मिल सकता है।
स्वास्थ्य
अक्टूबर का महीना कुंभ राशि के जातकों के लिए स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से मिश्रित परिणाम देने वाला महीना सिद्ध हो सकता है। इस महीने की दस तारीख के आसपास आपके छठे भाव यानी कि रोग के भाव का स्वामी चंद्रमा आपके तृतीय भाव मे राहु के साथ स्थित रहकर कुछ दिनों के लिए ग्रहण योग का निर्माण करेगा जिसकी वजह से आपको माह के पूर्वार्ध में स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। आशंका है कि आपको इस दौरान डिप्रेशन यानी कि अवसाद की समस्या से दो-चार होना पड़ सकता है। मन में नकारात्मक विचारों की वृद्धि हो सकती है। इस अवधि में आप सिर दर्द, आँख और सांस संबंधित समस्याओं से परेशान रह सकते हैं। आपको इस महीने अपनी आँखों का विशेष ध्यान रखने की सलाह दी जाती है।
प्रेम व वैवाहिक
प्रेम व वैवाहिक जीवन के लिहाज से कुंभ राशि के जातकों के लिए अक्टूबर का महीना सुखद रहने की संभावना है। प्रेम जीवन के दृष्टिकोण से इस महीने आपके पंचम भाव यानी कि प्रेम संबंधों के भाव का स्वामी बुध आपके अष्टम भाव में सूर्य और शुक्र के साथ स्थित रहकर बुधादित्य योग का निर्माण कर रहा है जिसकी वजह से आपको प्रेम जीवन में सकारात्मक परिणाम मिलने के योग बन रहे हैं। इस अवधि में आप अपने साथी के साथ अच्छा समय व्यतीत करने में सफल रह सकते हैं। साथ ही आप दोनों एक दूसरे के कार्यक्षेत्र में भी एक दूसरे का सहयोग करते नजर आ सकते हैं जिसकी वजह से आपके रिश्ते को और भी मजबूती मिलेगी। वहीं कुंभ राशि के विवाहित जातकों के लिए भी यह महीना सुखद रह सकता है। इस महीने आपके सप्तम भाव का स्वामी सूर्य आपके अष्टम भाव में शुक्र और बुध के साथ स्थित रह कर शुभ योग बना रहा है जिसकी वजह से आप इस अवधि में अपने जीवनसाथी के साथ कुछ यादगार पल बिताने में सफल रह सकते हैं। एक दूसरे के साथ आपका तालमेल बेहतर रहने की संभावना है और साथ ही आप दोनों एक दूसरे की भावनाओं को आसानी से समझने में भी सफल रह सकते हैं। नज़दीकियाँ बढ़ सकती हैं और कहीं बाहर घूमने जाने की योजना पर विचार बनने की संभावना है।
पारिवारिक
पारिवारिक जीवन के दृष्टिकोण से अक्टूबर का महीना आपके लिए सकारात्मक रहने की उम्मीद है। इस महीने आपके द्वितीय भाव यानी कि कुटुंब भाव में बृहस्पति विराजमान रहेंगे। वहीं सूर्य, बुध और शुक्र आपके अष्टम भाव में युति कर रहे हैं। ग्रहों की इस स्थिति की वजह से कुंभ राशि के जातकों का पारिवारिक जीवन अनुकूल रहने की संभावना है। इस दौरान आपको अपने परिवार के सदस्यों का भरपूर सहयोग प्राप्त हो सकता है। साथ ही इस अवधि में आपके घर का माहौल भी सुख और शांति से भरपूर रहने की उम्मीद है। परिवार में किसी नए मेहमान के आगमन के योग बन रहे हैं जिससे घर में उत्सव जैसा माहौल रहने की संभावना है। परिवार की मदद या सहयोग से इस दौरान आप मकान या संपत्ति का लाभ अर्जित कर सकते हैं जिसकी वजह से आपके आपसी रिश्ते और भी मधुर होंगे। महीने के उत्तरार्ध में सूर्य, शुक्र और बुध आपके नवम भाव यानी कि भाग्य भाव में गोचर कर जाएंगे। ऐसे में इस दौरान आपके परिवार में धार्मिक कार्यक्रम का आयोजन हो सकता है या फिर संभावना है कि आप इस दौरान अपने परिवार के साथ किसी धार्मिक यात्रा पर जाएंगे।
उपाय
मां कात्यायनी की उपासना करें। दुर्गा चालीसा का पाठ करें।
पीपल के पेड़ के नीचे तिल के तेल का चौमुखी दिया जलाएं।
इष्ट देवी के सामने प्रतिदिन घी का दीपक जलाएं।
 
 

मीन का मासिक राशिफल / Meena Masik Rashifal in Hindi

October, 2022
सामान्य
अक्टूबर का महीना मीन राशि के जातकों के लिए परेशानियों से भरा हुआ सिद्ध हो सकता है। इस महीने आपके परिवार और धन के भाव में राहु स्थित रहेगा जिसकी वजह से आपको आर्थिक स्तर और पारिवारिक जीवन में मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है। इस महीने आपके खर्चों में वृद्धि हो सकती है। ऐसे में आपको आर्थिक तौर पर फिजूलखर्ची से बचने की सलाह दी जाती है। वहीं पारिवारिक जीवन में आपके घर के सदस्यों के बीच किसी बात को लेकर मनमुटाव हो सकता है जिसकी वजह से आपको मानसिक तनाव का सामना करना पड़ सकता है। हालांकि इस महीने आपके प्रथम भाव में आपके कर्म भाव और आपकी राशि का स्वामी गुरु स्थित रहेगा जिसकी वजह से आपको करियर में बेहतर परिणाम प्राप्त होने के योग बन रहे हैं। वहीं आपके पंचम भाव यानी कि प्रेम भाव का स्वामी चंद्रमा इस महीने राहु के साथ युति करेगा। साथ ही शनि की दृष्टि भी आपके पंचम भाव पर पड़ेगी जिसकी वजह से प्रेम संबंधों में आपको उतार-चढ़ाव का सामना करना पड़ सकता है। अक्टूबर का यह महीना आपके जीवन के लिए कैसा रहेगा और परिवार, करियर, स्वास्थ्य, प्रेम आदि क्षेत्रों में आपको कैसे फल प्राप्त होंगे, यह जानने के लिए विस्तार से राशिफल पढ़ें।
कार्यक्षेत्र
करियर के लिहाज से अक्टूबर का महीना मीन राशि के जातकों के लिए अच्छा रहने की संभावना है। इस महीने आपके कर्म भाव यानी कि दशम भाव के स्वामी बृहस्पति आपके प्रथम भाव में स्थित रहेगा। ऐसे में इस दौरान आपको करियर में आगे बढ़ने के कई अवसर प्राप्त हो सकते हैं। विशेषकर शिक्षा के क्षेत्र से जुड़े जातकों के लिए यह महीना काफी अनुकूल रहने के आसार हैं। इसके अलावा चिकित्सा के क्षेत्र से जुड़े जातकों के लिए भी यह समय करियर के लिहाज से सकारात्मक रहने की संभावना है। मीन राशि के वह जातक जो अपने व्यवसाय में विस्तार करने की योजना बना रहे हैं, उनके लिए यह अवधि अनुकूल सिद्ध हो सकती है क्योंकि इस कार्य से आपको इस अवधि में सकारात्मक फल मिलने के प्रबल योग बन रहे हैं। साथ ही मीन राशि के वह नौकरीपेशा जातक जो लंबे समय से नौकरी बदलने का विचार कर रहे हैं, उन्हें इस अवधि में अच्छे अवसर प्राप्त होने की संभावना है। स्थानांतरण होने के भी योग बन रहे हैं।
आर्थिक
अक्टूबर का महीना मीन राशि के जातकों के आर्थिक जीवन के लिहाज से मिलाजुला रहने की संभावना है। इस महीने की शुरुआत में आपके द्वितीय भाव यानी कि धन भाव में राहु स्थित रहेगा जिसकी वजह से आशंका है कि इस अवधि में आपके खर्चों में वृद्धि हो सकती है। इस दौरान आपके ऊपर परिवार की तरफ से कोई ज़िम्मेदारी आ सकती है जिसे पूर्ण करने में आपको धन खर्च करना पड़ सकता है। ऐसे में आपको सलाह दी जाती है कि जहां तक संभव हो जरूरी चीजों पर ही धन खर्च करें अन्यथा किसी से कर्ज़ या उधार लेना पड़ सकता है। हालांकि इस महीने आपकी राशि के एकादश भाव यानी कि लाभ भाव में शनि स्थित रहेंगे जिसकी वजह से इस दौरान आपको पैतृक संपत्ति का लाभ मिलने की संभावना है।
स्वास्थ्य
स्वास्थ्य के लिहाज से मीन राशि के जातकों के लिए अक्टूबर का महीना थोड़ा उतार-चढ़ाव से भरा रह सकता है। इस महीने के पूर्वार्ध में आपके छठे भाव यानी कि रोग भाव का स्वामी सूर्य आपके सप्तम भाव में बुध और शुक्र के साथ युति कर रहा है जिसकी वजह से आपके स्वास्थ्य में सुधार आने की संभावना है। इसके अलावा मंगल की दृष्टि भी आपके रोग भाव पर पड़ रही है जिसकी वजह से आपको इस अवधि में जोड़ों का दर्द परेशान कर सकता है। इस दौरान आपके परिवार के किसी बुजुर्ग सदस्य की स्वास्थ्य बिगड़ सकती है जिसकी वजह से आपको मानसिक तनाव का सामना करना पड़ सकता है। वहीं मीन राशि के जातकों को इस महीने आँख संबंधी, अपच और गैस की समस्या भी परेशान कर सकती है। महीने के उत्तरार्ध में जब बुध, शुक्र और सूर्य आपके अष्टम भाव में गोचर करेंगे तब आपको स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं परेशान कर सकती हैं। इस दौरान आपको खानपान संबंधी परहेज करने की और योग व व्यायाम जैसी आदतों को अपनी दिनचर्या का हिस्सा बनाने की सलाह दी जाती है।
प्रेम व वैवाहिक
प्रेम व वैवाहिक जीवन के दृष्टिकोण से अक्टूबर का महीना मीन राशि के जातकों को मिश्रित परिणाम देने वाला महीना सिद्ध हो सकता है। इस महीने की दस तारीख के आसपास आपके पंचम भाव यानी कि प्रेम भाव का स्वामी चंद्रमा आपके द्वितीय भाव में राहु के साथ युति करेगा साथ ही इस महीने शनि की दृष्टि भी आपके प्रेम भाव पर पड़ रही है। ग्रहों की इस स्थिति की वजह से प्रेमी जोड़ों के बीच किसी बात को लेकर विवाद होने की आशंका है। ऐसे में आपको सलाह दी जाती है कि आप इस दौरान सुनी-सुनाई बातों पर विश्वास ना करें और हर बात की स्वयं से जांच करके ही कोई भी धारणा बनाएं। अपने प्रेमी/प्रेमिका पर विश्वास बनाए रखें। वहीं दूसरी तरफ विवाह के बंधन में बंध चुके मीन राशि के जातकों के लिए यह महीना सकारात्मक रहने की उम्मीद है। इस महीने के पूर्वार्ध में बुध, शुक्र और सूर्य की युति आपके सप्तम भाव यानी कि वैवाहिक संबंध के भाव में हो रही है जिसकी वजह से बुधादित्य योग का निर्माण हो रहा है। ऐसे में इस दौरान विवाहित जातक कुछ बड़े फैसले ले सकते हैं जो उनके वैवाहिक जीवन को सकारात्मक रूप से प्रभावित करने वाला होगा। आप दोनों एक दूसरे के करीब आ सकते हैं और एक दूसरे पर आपके विश्वास में वृद्धि हो सकती है। इस अवधि में मीन राशि के जातक अपने जीवनसाथी के साथ सुखद समय व्यतीत करने में सफल रह सकते हैं।
पारिवारिक
पारिवारिक जीवन के दृष्टिकोण से अक्टूबर का महीना आपके लिए थोड़ा उतार-चढ़ाव से भरा हुआ रह सकता है। इस महीने आपके दूसरे भाव यानी कि कुटुंब भाव में राहु स्थित रहेगा जिसकी वजह से पारिवारिक जीवन में कलह होने की आशंका है। इस अवधि में परिवार के सदस्यों के अंदर नकारात्मक सोच हावी रह सकती है जिसकी वजह से परिवार में विवाद बढ़ सकता है। ऐसे में आपको सलाह दी जाती है कि आप इस दौरान अपने क्रोध पर नियंत्रण रखें और धैर्य व शांति के साथ स्थिति को संभालने की कोशिश करें। साथ ही इस अवधि में परिवार से जुड़ा कोई भी फैसला लेने से पहले घर के सदस्यों और विशेषकर घर के बड़े-बुजुर्गों से जरूर सलाह लें अन्यथा परेशानियाँ बढ़ सकती हैं। आशंका है कि परिवार में चल रही ये परेशानियां आपके कार्यक्षेत्र और आपके करियर को भी प्रभावित कर सकती हैं। घर-परिवार से जुड़ा कोई भी संवेदनशील फैसला लेने से इस दौरान आपको परहेज करने की सलाह दी जाती है। महीने के पूर्वार्ध में मंगल का गोचर आपके तृतीय भाव यानी कि सहोदर के भाव में हो जाएगा तब परिवार की स्थिति में सुधार देखने को मिल सकता है। इस दौरान आपको भाई-बहनों का सहयोग प्राप्त हो सकता है और परिवार के सदस्यों के बीच रिश्तों में भी सुधार आने की संभावना है।
उपाय
मां कात्यायनी जी की पूजा करें। मंदिर में दीपक जलाकर मां कात्यायनी के मंत्रों का जाप करें।
घर से बाहर निकलते वक्त माथे पर केसर का तिलक लगाएं।
बड़े बुजुर्गों की सेवा करें और उनका आशीर्वाद अवश्य लें।
error: Content is protected !!

Om Asttro / ॐ एस्ट्रो

आपका हार्दिक स्वागत करता है ,

ॐ एस्ट्रो से अभी जुड़े 

You have successfully subscribed to the newsletter

There was an error while trying to send your request. Please try again.

Om Asttro / ॐ एस्ट्रो will use the information you provide on this form to be in touch with you and to provide updates and marketing.
%d bloggers like this: