पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र का फल

पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र का चिह्न

वैदिक ज्योतिष के अनुसार पूर्वाषाढ़ानक्षत्र का स्वामी शुक्र ग्रह है। यह हाथी-दांत, पंखे या डलिया, अथवा बिस्तर के हत्थों की तरह दिखायी देता है। इस नक्षत्र एपास और लिंग पुरुष है। यदि आप पूर्वाषाढ़ानक्षत्र से संबंध रखते हैं, तो उससे जुड़ी अनेक जानकारियाँ जैसे व्यक्तित्व, शिक्षा, आय तथा पारिवारिक जीवन आदि यहाँ प्राप्त कर सकते हैं।

पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र के जातक का व्यक्तित्व

आपका स्वभाव विनम्र, भक्तिपूर्ण व पाखंड-रहित है। आप तार्किक हैं और अपनी बात पर हमेशा अडिग रहते हैं। आपमें लेखन की प्रतिभा भी छुपी हुयी है, विशेषकर कविताएँ सुनाने व लिखने में आपको आनंद आ सकता है। परन्तु आपमें एक ही कमी है, आप बहुत जल्दी ही किसी निष्कर्ष पर पहुँच जाते हैं जिसके फलस्वरूप कभी-कभी आपको ग़लतफ़हमी भी हो जाया करती हैं। आपमें एक विशिष्ट गुण भी है कि एक बार जो निर्णय आप कर लेते हैं फिर उससे पीछे नहीं हटते, भले ही आपका वह निर्णय सही हो या नहीं हो। आपमें फ़ौरन निष्कर्ष निकालने की क्षमता है और बातों में तो कोई आपसे जीत ही नहीं सकता है। आपकी इसी ख़ूबी की वजह से लोग आपके क़ायल हो जाते हैं। आपमें ग़ज़ब का आत्मविश्वास है और आप हार मानने वालों में से नहीं हैं। कठिन-से-कठिन परिस्थितियों में भी आप असाधारण धैर्य रखेंगे। आप महत्वाकांक्षी हैं और जोखिम उठाने को हमेशा तैयार रहते हैं। आप पूरे धैर्य व आस्था के साथ अनुकूल समय की प्रतीक्षा करते हैं। विघ्न व बाधाओं से आप कभी भी निराश नहीं होते। आपकी शिक्षा अच्छी रहेगी व चिकित्सा के क्षेत्र में आपको विशेष सफलता मिल सकती है। योग और धार्मिक शास्त्रों के अध्ययन के प्रति भी आपकी काफ़ी रुचि होगी। व्यवसाय क्षेत्र में आप काफ़ी सफल हो सकते हैं बशर्ते आपके अधीन काम करने वाले कर्मचारी ईमानदार व विश्वास पात्र हों। आपके हृदय में सभी के प्रति प्रेम भाव रहता है। आपके व्यक्तित्व के इस गुण के कारण ही समाज में आपको काफ़ी आदर और सम्मान प्राप्त है। आप सदैव प्रसन्न एवं ख़ुश रहने की कोशिश करते हैं। स्वभाव से आप विनम्र हैं और विभिन्न कलाओं एवं अभिनय में रुचि रखते हैं। साहित्य का भी आपको काफ़ी शौक़ है, यानी साहित्य के आप अच्छे जानकार हैं। आप सत्य का आचरण करते हैं और शुद्ध हृदय के व्यक्ति हैं। आपको आदर्श मित्र कहें तो उचित ही होगा क्योंकि आप जिनसे मित्रता करते हैं उनसे आखिरी साँस तक मित्रता निभाते हैं। अपने वचन के आप पक्के हैं और जो भी कहते हैं उसे पूरा करते हैं। आपकी शिक्षा काफ़ी अच्छी रहेगी और आपके व्यक्तित्व में एक ज़बरदस्त आकर्षण होगा। आप ऊर्जा से युक्त सक्रिय और उत्साह से पूर्ण होंगे। विपरीत परिस्थितियों से आप कभी भी हार नहीं मानेंगे। झूठ से आपको सख़्त नफ़रत होगी क्योंकि आप स्वयं सत्य बोलने पर विश्वास करते हैं और अपनी बात भी स्पष्ट रूप से कहते हैं। आपको अपने स्वास्थ्य के प्रति ज़्यादा ध्यान देना चाहिए और साँस संबंधी किसी भी तकलीफ़ को हलके में नहीं लेना चाहिए।

शिक्षा और आय

आप नौसैनिक, जल सेना में कार्य, अधिकारी, जीव विज्ञान के विशेषज्ञ, मत्स्यपालन व्यवसाय, नर्तक, मंच कलाकार, गायक, मनोचिकित्सक, दार्शनिक, कवि, लेखक, कलाकार, चित्रकार, फ़ैशन डिज़ाइनिंग, होटल से जुड़े कार्य आदि करके सफल हो सकते हैं।

पारिवारिक जीवन

आप अपना अधिकांश जीवन जन्म भूमि से दूर बिताएंगे। माता-पिता से आपको ज़्यादा लाभ नहीं मिलेगा। आपका वैवाहिक जीवन सुखी रहेगा परन्तु विवाह में कुछ देरी संभव है। पत्नी व ससुराल पक्ष की तरफ़ आपका झुकाव अधिक हो सकता है। आपकी दो संतान हो सकती हैं और वे आज्ञाकारी और भाग्यशाली होंगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: