Om Asttro / ॐ एस्ट्रो

News & Update

कुंडली रिपोर्ट , शनि रिपोर्ट , करियर रिपोर्ट , आर्थिक रिपोर्ट जैसी रिपोर्ट पाए और घर बैठे जाने अपना भाग्य अभी आर्डर करे
❣️❣️ वक्रतुण्ड महाकाय सूर्यकोटि समप्रभ।निर्विघ्नं कुरु मे देव सर्वकार्येषु सर्वदा ।❣️❣️ ज्योतिष: वेद चक्षु नमः शम्भवाय च मयोभवाय च नमः शंकराय च मयस्कराय च नमः शिवाय च शिव तराय च नमः।।>

Om Asttro / ॐ एस्ट्रो

January 31, 2023 12:39

राज योग

राज योग

250

  • क्या आपकी कुंडली में बन रहे हैं राज योग?
    रिपोर्ट में पाएँ कुंडली में बनने वाले राज योग की जानकारी
  • जीवन के किस वर्ष में होगा आपका भाग्योदय?
    राज योग रिपोर्ट में आपकी किस्मत बदलने वाली भविष्यवाणियाँ!
  • 100% व्यक्तिगत रिपोर्ट
    अनुभवी ज्योतिषी द्वारा तैयार कुंडली आधारित व्यक्तिगत रिपोर्ट
  • ई-मेल पर प्राप्त करें अपनी रिपोर्ट
    आसान, सस्ती और सुलभ सेवा! ई-मेल पर प्राप्त करें रिपोर्ट
Category:

Description

Omasttro

राज योग

हमारी इस सेवा के माध्यम से जानें क्या आपकी कुंडली में बन रहे हैं राज योग। आपकी जन्म कुंडली के विभिन्न भावों में स्थित कौन से ग्रह कर रहे हैं राज योग का निर्माण, जो जीवन में आपको उन्नति के शिखर तक लेकर जाएंगे। इन योगों के प्रभाव से क्या आपको मिलेगी सरकारी नौकरी, होगा मनचाहा प्यार, बिजनेस में मिलेगी सफलता, जीवन के किस वर्ष में होगा भाग्योदय? अपने मन में आने वाली इन तमाम जिज्ञासाओं को इस सेवा के माध्यम से जानें। क्या आपकी कुंडली में भी हैं रज्जू, मूसल, नल, वापी, गदा और शकट आदि योग? ऐसे तमाम योग और उनके प्रभावों के बारे में जानने के लिए पढ़ें रोचक जानकारी। जानें कैसे वापी योग में जन्म लेने वाला व्यक्ति होता है धनवान। मूसल योग में जन्म लेने वाले व्यक्ति कैसे मिलती है जीवन में आर्थिक संपन्नता और सम्मान। नल योग से संबंधित व्यक्ति क्यों होते हैं चतुर और बुद्धिमान? जानें राज योग से जुड़े ऐसे और भी कई तथ्य व उनकी व्याख्या।

कुंडली में प्रचलित योगों के नाम

जातक की कुंडली में अनेक योग बन सकते हैं वैसे तो प्रत्येक ग्रह की दशा, स्थिति, गोचर, ग्रहों की युति एक प्रकार से योग का निर्माण करती है लेकिन कुछ योग जो काफी प्रचलित हैं उनमें से प्रमुख योगों के नाम इस प्रकार हैं।

गजकेसरी योग – यह योग चंद्रमा व गुरु से बनता है। जब चंद्रमा और गुरु किसी जातक की कुंडली में केंद्र में हो तो गजकेसरी योग का निर्माण करते हैं। चंद्रमा और शुक्र के केंद्र में होने पर भी कुछ विद्वान गेजकेसरी योग बताते हैं। यह बहुत ही शुभ योग माना जाता है।

बुधादित्य योग – यह योग सूर्य और बुध की युति पर बनता है जो कि सूर्य व बुध के लगभग साथ-साथ रहने से बना ही रहता है। बुधादित्य योग भी एक शुभ योग माना जाता है।

राज योग – यह योग तब बनता है जब बृहस्पति कर्क राशि में हो व कुंडली के भाग्य स्थान में शुक्र व सप्तम में शनि व मंगल विराजमान हों। ज्योतिषाचार्य मानते हैं कि ऐसा जातक राजाओं की भांति सुखी जीवन व्यतीत करता है।

हंस योगकेदार योगचक्र योगएकावली योगकारिका योग आदि अनेक प्रकार के योगों का निर्माण ग्रहों की स्थिति करती है।

कुंडली में योग या दोष

  • अखंड साम्राज्य योग
  • अमला योग
  • भद्र योग
  • धन योग
  • गजकेसरी योग
  • ग्रहण योग
  • गुरु-मंगल योग
  • हंस योग
  • काहल योग
  • कलानिधि योग
  • कोटिपति योग
  • महाभाग्य योग
  • मालव्य योग
  • नीचभंग राजयोग
  • पंच महापुरुष योग
  • रूचक योग
  • शश योग
  • शुभ कर्तरी योग
  • शकट योग
  • विपरीत राजयोग
  • शुक्र योग
  • चंद्र मंगल योग

कुंडली में ग्रहों की कुछ स्थितियां ऐसी होती हैं जिनमें ग्रह योग बना रहे हैं या दोष इसे लेकर विभिन्न विद्वानों की राय एक नहीं है। लेकिन अधिकतर इसी बात पर सहमत होते हैं कि एक योग कुछ विशेष परिस्थितियों में दोष बन जाता है (पाप ग्रहों की दृष्टि पड़ने से) तो उसी प्रकार विशेष ग्रह दशा में अभिशाप भी वरदान साबित हो जाता है। नीच भंग राजयोग उन्हीं में से एक है। केमद्रुम योग की गिनती भी ऐसे ही योगों में होती है जो शुभ और अशुभ दोनों तरह से प्रभावी हो सकता है।

आपके व्यक्तिगत रिपोर्ट के बारे में

 कुंडली आधारित व्यक्तिगत रिपोर्ट

हमारी इस सेवा के माध्यम से जानें क्या आपकी कुंडली में बन रहे हैं राज योग? आपकी जन्म कुंडली के विभिन्न भावों में स्थित कौन से ग्रह कर रहे हैं राज योग का निर्माण, जो जीवन में आपको उन्नति के शिखर तक लेकर जाएंगे। इन योगों के प्रभाव से क्या आपको मिलेगी सरकारी नौकरी, होगा मनचाहा प्यार, बिजनेस में मिलेगी सफलता, जीवन के किस वर्ष में होगा भाग्योदय? ऐसे तमाम प्रश्नों के उत्तर को समेटे हुए है राज योग रिपोर्ट।

 राज योग रिपोर्ट का महत्व

क्या आपकी कुंडली में भी हैं रज्जू, मूसल, नल, वापी, गदा और शकट आदि योग? राज योग रिपोर्ट के माध्यम से जानें कुंडली में बनने वाले विशेष योग की जानकारी और उनका महत्व। जानें कैसे वापी योग में जन्म लेने वाला व्यक्ति होता है धनवान। जानें राज योग से जुड़े ऐसे और भी कई तथ्य व उनकी व्याख्या।

 ग्रह-सितारों के आंकलन द्वारा तैयार

इस रिपोर्ट को तैयार करने से पूर्व हम आपकी कुंडली का विश्लेषण करते हैं और इस आधार पर कुंडली में बनने वाले राज योग की जानकारी प्रदान करते हैं। इस रिपोर्ट में राज योग की जानकारी के साथ-साथ बेहतर परिणाम पाने के लिए किये जाने वाले ज्योतिषीय उपाय भी हमारे द्वारा बताये जाते हैं।

 समय पर पाएँ रिपोर्ट

राज योग रिपोर्ट आप 24 से 72 घंटे के अंदर प्राप्त कर सकते हैं। हमारी हमेशा से यह कोशिश रही है कि हम निर्धारित समय या उससे पहले आप तक यह रिपोर्ट पहुंचाएँ। हमने पूरी प्रतिबद्धता के साथ यह रिपोर्ट सदैव अपने उपयोगकर्ताओं तक निर्धारित समय से पहले पहुंचाई है।

Reviews

There are no reviews yet.

Only logged in customers who have purchased this product may leave a review.

error: Content is protected !!
Join Omasttro
Scan the code

Om Asttro / ॐ एस्ट्रो

आपका हार्दिक स्वागत करता है ,

ॐ एस्ट्रो से अभी जुड़े 

You have successfully subscribed to the newsletter

There was an error while trying to send your request. Please try again.

Om Asttro / ॐ एस्ट्रो will use the information you provide on this form to be in touch with you and to provide updates and marketing.