Raashiyo Ke varan

 

अरुणसितहरितपाटलपाण्डुविचित्रा सितेतर पिशङ्गौ ।

पिङ्गल कर्बूर बभ्रु कमलिना रुचयो यथा सङ्ख्यम् ।। ६ ।।

 

मेष का लाल , वृष – श्वेत , मिथुन – हरा , कर्क – पाटल , ( श्वेत – रक्त मिश्रित ) , सिंह – पाण्डु ( श्वेत – पीत मिश्रित ) , कन्या – चित्र – विचित्र ( अनेक वर्ण ) , तुला – काला , वृश्चिक – सुवर्ण के समान , धनु – पिंगल ( लाल – पीला मिश्रित ) , मकर – कबरा , कुंभ – बभ्रुक ( नकुल के समान ) तथा मीन का वर्ण मलिन है ।। ६ ।।

विशेष – प्रयोजन यह है कि प्रश्नादिकाल में जो तात्कालिक राशि का वर्ण है , वही प्रश्नकर्ता के मनोगत पदार्थों का वर्ण जाने ।

 

|| लघुजातक  ||

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!

जयन्ती मङ्गला काली भद्रकाली कपालिनी। 
दुर्गा क्षमा शिवा धात्री स्वाहा स्वधा नमोऽस्तु ते।।
 
ॐ एस्ट्रो के सभी पाठको को
शारदीय नवरात्रि और विजयादशमी
की हार्दिक शुभकामनाये ||

Om Asttro / ॐ एस्ट्रो

आपका हार्दिक स्वागत करता है ,

ॐ एस्ट्रो से अभी जुड़े 

You have successfully subscribed to the newsletter

There was an error while trying to send your request. Please try again.

Om Asttro / ॐ एस्ट्रो will use the information you provide on this form to be in touch with you and to provide updates and marketing.
%d bloggers like this: