रोहिणी नक्षत्र का फल

रोहिणी नक्षत्र का चिह्न

वैदिक ज्योतिष के अनुसार रोहिणी नक्षत्र का स्वामी केतु ग्रह है। यह बैल गाड़ी या रथ की तरह दिखायी देता है। इस नक्षत्र के प्रजापति और लिंग स्री है। यदि आप रोहिणी नक्षत्र से संबंध रखते हैं, तो उससे जुड़ी अनेक जानकारियाँ जैसे व्यक्तित्व, शिक्षा, आय तथा पारिवारिक जीवन आदि यहाँ प्राप्त कर सकते हैं।

रोहिणी नक्षत्र के जातक का व्यक्तित्व

बात अगर आपकी की जाए तो मुमकिन है कि आप पतले, छरहरे, आकर्षक और चुम्बकीय व्यक्तित्व के स्वामी हों। आपकी आँखें बहुत सुन्दर और मुस्कान मनमोहक हैं। आप भावुक हृदय के हैं और प्रकृति प्रेमी हैं। विनम्रता, शिष्टता और सौम्यता तो आपमें कूट-कूट के भरी हुई है। दूसरों के मन के अनुकूल व्यवहार करना भी आपको ख़ूब आता है। यह भी सच है कि आप अपने वर्ग के लोगो में लोकप्रिय व आकर्षण का केंद्र हैं। अपने रूप और गुणों से दूसरों को प्रभावित कर अपनी मनचाही बात मनवाने में आपका कोई सानी नहीं है, इसलिए लोग अक्सर सहजता से आप पर विश्वास कर लेते हैं। वैसे आप सीधे-सच्चे व सरल स्वभाव के हैं। घर, परिवार, समाज, देश या फिर सारे संसार का हित-साधन कर आप अपनी योग्यता साबित करना चाहते हैं। विचारों और भावों की कुशल अभिव्यक्ति आपको श्रेष्ठ कलाकार भी बनाती है। आप कलाप्रेमी, कला-पारखी व कलात्मक योग्यताओं से भरे हुए हैं और लोगों का ध्यान अपनी ओर आकर्षित करने की कला में माहिर हैं। परिवार और समाज के नियम व मूल्यों का आप अक्सर सम्मान करते हैं तथा अपने लक्ष्यों के प्रति निष्ठावान और दृढ़निश्चयी हैं। अपने घनिष्ठ मित्रों के साथ या अपनी ही मंडली में आप सुख व संतोष का अनुभव करते हैं। आपको परम्परावादी कहा जा सकता है किन्तु आप पुरातनपंथी तो बिलकुल नहीं हैं, क्योंकि नए विचारों व परिवर्तन का आप अक्सर स्वागत करते हैं। अपने स्वास्थ्य के प्रति आप हमेशा सजग व सावधान रहते हैं, शायद इसी कारण आप लंबी और रोगमुक्त आयु पाते हैं। अक्सर आप भावावेग में ही निर्णय करते हैं तथा औरों पर तत्काल भरोसा कर लेते हैं, जिसकी वजह से आपको धोखा भी खाना पड़ता है–लेकिन यह सब आपकी सत्यनिष्ठा में कोई कमी नहीं लाता। आप वर्तमान में जीते हैं–कल की चिंता से सर्वथा मुक्त। आपका जीवन उतार-चढ़ाव से भरा रहता है। आपको हर कार्य निष्ठा से संपन्न करना पसंद है। यदि आप जल्दबाज़ी छोड़ संयमित होकर कार्य करें तो जीवन में विशेष सफलता प्राप्त कर सकते हैं। मुमकिन है कि युवावस्था में आपको कुछ संघर्ष करना पड़े, लेकिन अड़तीस वर्ष की अवस्था के बाद आपके जीवन में स्थिरता आने की पूरी संभावना है।

शिक्षा और आय

आप कृषि बाग़वानी या फलों के बाग़ तथा ऐसे सभी कार्य जिसमें खाद्य वस्तुओं का उगाना, उन्हें विकसित व संशोधित कर बाज़ार में पहुँचाने का काम हो – वहाँ से आप धन कमा सकते हैं। वनस्पति वैज्ञान, संगीत, कला, सौंदर्य प्रसाधन, फैशन डिज़ाइनिंग, ब्यूटी पार्लर, हीरे-जवाहरात, बहुमूल्य वस्त्र, पर्यटन, परिवहन, कार उद्योग, बैंक, वित्तीय संस्थान, तैल व पेट्रोलियम उत्पाद, वस्त्र उद्योग, जल परिवहन सेवा, खाद्य पदार्थ, फ़ास्ट फ़ूड, होटल, गन्ने का व्यवसाय, केमिकल इंजीनियर, शीतल पेय या मिनरल वाटर से सम्बंधित कार्य आदि करके आजीविका कमा सकते हैं।

पारिवारिक जीवन

आपका जीवनसाथी सुन्दर, आकर्षक और समझदार होगा तथा आपसे काफ़ी उम्मीदें रखेगा। वह आप ही की तरह भावुक और व्यवहार-कुशल होगा एवं आपका तालमेल उससे उत्तम रहेगा। आपका व्यक्तित्व मोहक व स्वभाव कोमल होगा। आप सबसे सद्व्यवहार करने वाले होंगे इसलिए आपको आदर्श कहना उचित ही होगा। आप अपने परिवार का भरपूर ख़याल रखेंगे और घर के प्रत्येक कार्य को बख़ूबी पूरा करेंगे, जिससे आपका पारिवारिक जीवन सुखी और ख़ुशहाल रहेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: