अगर कोई व्यापार, नौकरीक्षेत्र या फिर अन्य कारणों से धन से जुड़ी समस्या झेल रहा है तो उस पर शनि का बुरा प्रकोप हो सकता है। जिसे दूर करने के लिए आज हम आपको कुछ उपाय बताने जा रहे हैं। इन्हें आप शनिवार के दिन करते हैं तो शनि दोष दूर हो सकता है।

शनिदेव को न्याय देवता (Shanidev ke Upay) के नाम से भी जाना जाता है। कहते हैं कि जिस व्यक्ति पर एक बार इनकी कृपा हो जाएं उन्हें किसी तरह की समस्या का सामना नहीं करना पड़ता है। इनकी पूजा और उपाय के लिए शनिवार का दिन (Shaniwar ke upay) काफी खास माना जाता है। अगर कोई व्यक्ति नौकरी, व्यापार या धन संबंधित समस्याओं से छुटकारा पाना चाहता है तो वो शनिवार (Saturday Upay) को शनिदेव का उपाय (Shanidev Upay) अपना सकता है।

ज्योतिष के अनुसार व्यक्ति जीवन में आने वाली समस्याओं के पीछे का कारण शनि दोष (Shani dosh dur karne ke upay) भी हो सकता है। अगर कोई व्यापार, नौकरीक्षेत्र या फिर अन्य कारणों से धन से जुड़ी समस्या झेल रहा है तो उस पर शनि का बुरा प्रकोप हो सकता है। जिसे दूर करने के लिए आज हम आपको कुछ उपाय बताने जा रहे हैं। इन्हें आप शनिवार के दिन करते हैं तो शनि दोष दूर हो सकता है।



शनिवार को करें ये उपाय (Shaniwar Upay)

शनिवार के दिन घर में शनि यंत्र की पूजा जरूर करें। इससे घर में सुख-समृद्धि और शांति रहती है।


शनिवार के दिन काली उड़द दाल, काला तिल, तेल, लोहा, काले कपड़े, पुखराज रत्न आदि चीजों को दान करना शुभ माना गया है।


शनिवार के दिन नीलम रत्न धारण करना शुभ होता है। इससे बिजनेस और नौकरी में लाभ मिलता है। ध्यान रहे कि इसे धारण करने से पहले ज्योतिष से एक बार सलाह जरूर लें।


शनिवार के दिन शनिदेव की पूजा करने के दौरान “ॐ प्रां प्रीं प्रौं सः शनैश्चराय नमः” मंत्र का जाप 108 बार करना चाहिए।

इसके अलावा “ॐ शनैश्चराय नमः” का भी जाप कर सकते हैं। इस मंत्र का अगर आप रोजाना जाप करते हैं तो आपके जीवन से सभी कष्ट दूर हो जाएंगे।


बिच्छु और धतूरे जड़ को धारण करने पर शनिदेव की खास कृपा होती है। इससे आप रोग मुक्त हो सकते हैं। इसके अलावा शनिदोष भी दूर होता है।


Disclaimer: इस स्टोरी में दी गई सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं। Omasttro.in इनकी पुष्टि नहीं करता है। इन तथ्यों को अमल में लाने से पहले आचार्य ओमप्रकाश त्रिवेदी जी विशेषज्ञ से संपर्क करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: