सावन का महीना (Sawan Month)

25 जुलाई से शुरू हो चुका है 22 अगस्त तक चलेगा. यदि इस दौरान वास्‍तु (Vastu) संबंधी कुछ उपाय (Remedies) कर लिए जाएं तो उससे बहुत लाभ होता है. ये उपाय जीवन में सुख-समृद्धि लाने से लेकर दांपत्‍य जीवन को खुशहाल बनाने, मनचाहा जीवनसाथी दिलाने और बीमारियों से निजात दिलाने आदि के लिए बहुत कारगर हैं. आइए ज्‍योतिषाचार्य आचार्य ओमप्रकाश त्रिवेदी से कुछ ऐसे ही उपाय जानते हैं. यह उपाय सोमवार को करना सर्वश्रेष्‍ठ रहेगा.


सावन महीने के अहम उपाय

रुद्राक्ष– भगवान शिव (Lord Shiva) अपने गले और हाथ में रुद्राक्ष धारण करते हैं. कहते हैं कि रुद्राक्ष शिव जी के आंसुओं से बने हैं. मान्यता है कि सावन सोमवार (Sawan Somvar) के दिन रुद्राक्ष को लाकर, उसे घर के मुख्य कमरे में रखना चाहिए. ऐसा करने से भाग्योदय होता है और घर की आर्थिक परेशानियां समाप्त हो जाती है. यदि मन अशांत रहता हो या ह्रदय से जुड़ी समस्याएं हों तो सावन महीने में रुद्राक्ष धारण कर लें. इससे नकारात्‍मकता दूर होती है और सौभाग्य की प्राप्ति होती है.

गंगा जल-गंगा जी को भगवान शिव अपनी जटाओं में स्थान देते हैं, इस कारण ही उन्हें गंगाधर भी कहा जाता है. सावन के सोमवार को गंगा जल ला कर, इसे रसोईघर में रखना चाहिए. ऐसा करने से घर के सुख और सौभाग्य में वृद्धि होती है. परिवार का वातावरण सुखद बना रहता है.


चांदी का त्रिशूल– त्रिशूल भगवान शिव का अस्त्र है, पुराणों में इसे संसार के समस्त दैहिक, दैविक और भौतिक तापों का नाशक माना गया है. सावन के सोमवार के दिन घर में चांदी का त्रिशूल अपने पूजा घर रख दें. आपके घर के सारे दुख और कष्ट समाप्त हो जाएंगे

नाग-नागिन जोड़ा- भगवान शिव को विषधर भी कहा जाता है, नाग-नागिन को वो आभूषण की तरह अपने शरीर पर धारण करते हैं. सावन सोमवार के दिन चांदी या तांबे का नाग-नागिन का जोड़ा घर के मेन गेट के नीचे दबा दें. इससे घर में नकारात्मक ऊर्जा और बुरी नजर प्रवेश नहीं कर पाएगी.


जल स्रोत स्थापित करें- घर के अंदर पूर्व दिशा में छोटा सा जल स्रोत रख लें. जैसे- पानी का कृत्रिम फव्वारा या तांबे के कलश में जल भरकर रख लें. यह पानी समय-समय पर बदलते रहें.


अर्धनारीश्वर– घर में सफेद संगमरमर की अर्धनारीश्‍वर प्रतिमा स्‍थापित करें. इससे पति-पत्नी के बीच प्रेम बढ़ेगा और निसंतान लोगों को संतान की प्राप्ति होगी.

तुलसी– सावन महीने में घर के अंदर तुलसी का पौधा लगाएं, इसके लिए उत्तर दिशा सबसे अच्‍छी होगी. यह मिट्टी के गमले में ही रोपा जाना चाहिए. इससे घर का वातावरण शुद्ध होने के साथ-साथ पूर्वजों का आशीर्वाद भी मिलता है. अगर विवाह योग्य लड़के-लड़की अपने हाथ से तुलसी लगाएं तो मनचाहे वर की प्राप्ति संभव है.


धतुरे का पौधा– सावन के महीने में घर के बाहर धतूरे का पेड़ लगाना भी लाभप्रद है. इससे शत्रुओं का नाश होता और बीमारियों से निजात मिलती है. अनजाने भय दूर होते हैं.


धतुरे का फल– सावन के महीने में शिवलिंग पर धतूरे की जड़ और उसका फल अर्पित करें. साथ ही घर पर धतूरे की जड़ को स्थापित भी कर सकते हैं, यह भी बहुत शुभ माना जाता है. इतना ही नहीं, आपको घर में महाकाली का पूजन करना चाहिए और उनके बीज मंत्र का 108 बार जाप करना चाहिए.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: