श्रवण नक्षत्र का फल

श्रवण नक्षत्र का चिह्न

वैदिक ज्योतिष के अनुसार श्रवणनक्षत्र का स्वामी गुरु ग्रह है। यह ढपली की तरह दिखायी देता है। इस नक्षत्र विष्णु और लिंग स्री है। यदि आप श्रवणनक्षत्र से संबंध रखते हैं, तो उससे जुड़ी अनेक जानकारियाँ जैसे व्यक्तित्व, शिक्षा, आय तथा पारिवारिक जीवन आदि यहाँ प्राप्त कर सकते हैं।

श्रवण नक्षत्र के जातक का व्यक्तित्व

आप हर एक कार्य सफ़ाई व कुशलता से करते हैं। आपके जीवन के कुछ निश्चित सिद्धांत हैं। आपको स्वच्छता से रहना पसंद है व जो लोग साफ़-सफ़ाई से नहीं रहते उन्हें आप क़तई पसंद नहीं करते हैं। बेढंगे लोगों को देखकर उन्हें टोकने से भी आप संकोच नहीं करते। दूसरों की दुर्दशा देखकर आपका हृदय तुरंत पिघल जाता है। अतिथि-सत्कार करने में आप माहिर हैं और साफ़-सुथरा भोजन करना आपको अच्छा लगता है। आप धार्मिक और गुरु-भक्त भी हैं व “सत्यमेव जयते” के उसूलों पर चलते हैं। जिनकी आप मदद करते हैं, उनसे बदले में कुछ भी पाने की इच्छा नहीं रखते हैं, यानी निस्वार्थ भाव से सबकी सेवा करते हैं। लोगों से आपको धोखा व फ़रेब मिल सकता है। आपकी मुस्कान में एक ज़बरदस्त आकर्षण है इसलिए एक बार जिससे भी आप मुस्कुराकर मिल लेते हैं, वो आपका मुरीद हो जाता है। आपके जीवन में चाहे कितने ही उतार-चढ़ाव आएँ, आप सामान्य जीवन जीते रहेंगे। व्यक्तिगत या सामूहिक समस्याओं के समाधान के लिए आप लोगों की मदद करते हैं क्योंकि आप एक अच्छे सलाहकार भी हैं। अगर आप कम पढ़े-लिखे हों तो भी आपकी प्रतिभा बहुमुखी रहेगी। एक ही समय में कई काम करने की योग्यता आपके अंदर मौजूद है। अगर किसी अधिकार या शक्तिशाली पद पर आप नियुक्त हों तो आपको काफ़ी लाभ मिलेगा। आपका ख़र्चा अधिक है क्योंकि आप बहुत सी ज़िम्मेदारियों के तले दबे हुए हैं, इसलिए आर्थिक कष्ट भी आपको रह सकता है। आपमें सेवा भाव अधिक है, इसलिए आप माता-पिता के भक्त हैं। आपके व्यवहार में सभ्यता और सदाचार साफ़ दिखाई देता है। निजी जीवन में आप विश्वासपात्र समझे जाते हैं क्योंकि अनजाने में भी आप किसी के विश्वास को तोड़ना नहीं चाहते। ईश्वर में आपकी गहरी आस्था हैं और आप सत्य की तलाश में लगे रहते हैं। पूजा-पाठ एवं अध्यात्म के क्षेत्र में भी आप काफ़ी नाम कमा सकते हैं और इस माध्यम से काफ़ी धन प्राप्त कर सकते हैं। आपके चरित्र की यह विशेषता है कि आप कोई भी कार्य सोच समझकर करते हैं, इसलिए सामान्यत: कोई ग़लत कार्य नहीं करते हैं। आपकी मानसिक क्षमता काफ़ी अच्छी है, इसलिए आप पढ़ाई में अच्छे हैं। आपके अंदर सहनशीलता व स्वाभिमान भरा हुआ है। आप साहसी और बहादुर भी हैं। किसी भी बात को आप मन में नहीं रखते, जो भी आपको महसूस होता है या उचित लगता है उसे आप मुंह पर बोल देतें हैं, यानी आप स्पष्टवादी हैं। आजीविका की दृष्टि से नौकरी और व्यवसाय दोनों ही आपके लिए लाभप्रद और उपयुक्त हैं। इन दोनों में से जिस क्षेत्र में आप जायेंगे उसी में आपको तरक़्क़ी और क़ामयाबी हासिल होंगी।

शिक्षा और आय

30 वर्ष की आयु से आपके जीवन में परिवर्तन आना शुरू होगा। 30 से 45 वर्ष की आयु के बीच जीवन में पूर्ण स्थिरता आएगी। आप मशीनी या तकनीकी कार्य, इंजीनियरिंग, पेट्रोलियम व तैल से जुड़े कार्य, अध्यापक, प्रशिक्षक, उपदेशक, शोधकर्ता, अनुवादक, कथा वाचक, गीत, संगीत व फिल्मों से जुड़े कार्य, टेलीफ़ोन ऑपरेटर, समाचार वाचक, रेडियो व दूरदर्शन से जुड़े कार्य, सलाहकार, मनोचिकित्सक, ट्रैवल एजेंट, पर्यटन व परिवहन से जुड़े कार्य, होटल या रेस्त्राँ कर्मचारी, समाजसेवा से जुड़े कार्य आदि करके जीवनयापन कर सकते हैं।

पारिवारिक जीवन

आपका वैवाहिक जीवन काफ़ी सुखी रहेगा। आपकी जीवनसाथी आपको समझने वाला होगा। वह आपकी अनुपस्थिति में परिवार पूरा ध्यान रखेगा। बच्चों से भी आपको काफ़ी सुख प्राप्त होगा और आपकी संतान उच्च शिक्षा प्राप्त करेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!

जयन्ती मङ्गला काली भद्रकाली कपालिनी। 
दुर्गा क्षमा शिवा धात्री स्वाहा स्वधा नमोऽस्तु ते।।
 
ॐ एस्ट्रो के सभी पाठको को
शारदीय नवरात्रि और विजयादशमी
की हार्दिक शुभकामनाये ||

Om Asttro / ॐ एस्ट्रो

आपका हार्दिक स्वागत करता है ,

ॐ एस्ट्रो से अभी जुड़े 

You have successfully subscribed to the newsletter

There was an error while trying to send your request. Please try again.

Om Asttro / ॐ एस्ट्रो will use the information you provide on this form to be in touch with you and to provide updates and marketing.
%d bloggers like this: