Om Asttro / ॐ एस्ट्रो

News & Update

ॐ नमस्ते गणपतये ॥ स्वस्ति न इन्द्रो वृद्धश्रवाः । स्वस्ति नः पूषा विश्ववेदाः । स्वस्ति नस्तार्क्ष्यो अरिष्टनेमिः । स्वस्ति नो बृहस्पतिर्दधातु ॥ ॐ शान्तिः शान्तिः शान्तिः ॥ हमारे यहां पर वैदिक ज्योतिष के आधार पर कुंडली , राज योग , वर्ष पत्रिका , वार्षिक कुंडली , शनि रिपोर्ट , राशिफल , प्रश्न पूछें , आर्थिक भविष्यफल , वैवाहिक रिपोर्ट , नाम परिवर्तन पर ज्योतिषीय सुझाव , करियर रिपोर्ट , वास्तु , महामृत्‍युंजय पूजा , शनि ग्रह शांति पूजा , शनि ग्रह शांति पूजा , केतु ग्रह शांति पूजा , कालसर्प दोष पूजा , नवग्रह पूजा , गुरु ग्रह शांति पूजा , शुक्र ग्रह शांति पूजा , सूर्य ग्रह शांति पूजा , पितृ दोष निवारण पूजा , चंद्र ग्रह शांति पूजा , सिद्ध कुंजिका स्तोत्र का पाठ , प्रेत बाधा निवारण पूजा , गंडमूल दोष निवारण पूजा , बुध ग्रह शांति पूजा , मंगल दोष (मांगलिक दोष) निवारण पूजा , केमद्रुम दोष निवारण पूजा , सूर्य ग्रहण दोष निवारण पूजा , चंद्र ग्रहण दोष निवारण पूजा , महालक्ष्मी पूजा , शुभ लाभ पूजा , गृह-कलेश शांति पूजा , चांडाल दोष निवारण पूजा , नारायण बलि पूजन , अंगारक दोष निवारण पूजा , अष्‍ट लक्ष्‍मी पूजा , कष्ट निवारण पूजा , महा विष्णु पूजन , नाग दोष निवारण पूजा , सत्यनारायण पूजा , दुर्गा सप्तशती चंडी पाठ (एक दिन) जैसी रिपोर्ट पाए और घर बैठे जाने अपना भाग्य अभी आर्डर करे

Omasttro.in

Omasttro

चारधाम मंदिर उज्जैन मध्य प्रदेश 

 Char dham Mandir Ujjain Madhya Pradesh

 

श्री चारधाम मंदिर उज्जैन का एक प्रसिद्ध धार्मिक स्थल है और यहां पर आपको भारत के प्रमुख चार धामों के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां पर श्री द्वारका धाम, श्री रामेश्वर धाम, श्री बदरीनाथ धाम और श्री जगन्नाथ धाम के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। यहां पर मां वैष्णो माता की गुफा भी बनाई गई है। उनके भी दर्शन किए जा सकते हैं। यहां पर 12 ज्योतिर्लिंग की स्थापना की गई है। जिनके दर्शन किए जा सकते हैं। यह चारधाम एक ही मंदिर में बनाए गए हैं। मंदिर में गार्डन बना हुआ है, जहां पर आप बैठकर शांति से अपना समय बिता सकते हैं। यहां पर आप गौ माता के लिए डोनेशन दे सकते हैं। यहां पर गौ माता के लिए गौशाला भी बनी हुई है। यहां पर पर्यटक के रुकने की व्यवस्था भी है। चार धाम मंदिर में धर्मशाला बनी हुई है। जिसमें पर्यटक रुक सकते हैं। यहां पर खाने की व्यवस्था भी है, जहां पर खाने के लिए सात्विक प्रसाद मिलता है। आपको इन सभी व्यवस्था की जानकारी के लिए मंदिर की प्रबंधक से बात करनी पड़ेगी। 

 हरसिद्धि माता के दर्शन करने के बाद, दक्षिण दिशा में  चार धाम मंदिर घूमने व भक्ति के लिए  उत्तम तीर्थ है । 

 

चार धाम मंदिर के बाहर बहुत सारी प्रसाद की दुकानें लगी होती है  |

 

अंदर जाकर सबसे पहले आप 
गणेश जी  के दर्शन माता रिद्धि – सिद्धि के  करते है 

फिर 

  • द्वारिकाधीश 
  • रामेश्वरम 
  • बद्रीनाथ  जी 
  • जगन्नाथ 

के दर्शन करते है 

Shri Chardham Temple Ujjain

 

फिर यात्रा में आगे आप 

सीधे चार धाम मंदिर में भगवान के दर्शन करने के लिए गए। सबसे पहले हम लोग वैष्णो माता की गुफा गए। वैष्णो माता की गुफा में प्रवेश के लिए 10  से  5 रूपए का शुल्क लिया जाता है। गुफा बहुत सुंदर है। वैष्णो माता की गुफा के बाहर ही, शंकर जी के दर्शन करने के लिए मिलते हैं और श्री कृष्ण जी के दर्शन करने के लिए मिलते हैं। श्री कृष्ण जी ने गोवर्धन पर्वत उठा कर रखा हुआ है और यह बहुत ही सुंदर लगते हैं। रात के समय जब लाइट चालू होती होगी। तब यह बहुत बहुत ज्यादा अच्छा लगता होगा। 

हम लोगों ने वैष्णो माता गुफा में जाने के लिए टिकट लिया। गुफा का जो एंट्री गेट है। वह शेर के मुंह की आकृति का बनाया गया है, जो बहुत ही आकर्षक लगता है। हम लोग गुफा में प्रवेश किये। गुफा के अंदर दीवारों में श्री कृष्ण जी के बहुत सारी मूर्तियों को दिखाया गया है। यहां पर उनके जीवन में होने वाली बहुत सारी घटनाओं को दिखाया गया है। यहां पर विघ्न विनाशक गणेश भगवान जी और नरसिंह भगवान के दर्शन करने के लिए मिले। कृष्ण भगवान के विराट रूप और शिव भगवान जी के मूर्ति के दर्शन करने के लिए मिले और भी बहुत सारे देवी देवताओं के यहां पर दर्शन करने के लिए मिले। यहां पर नौ देवियों के भी दर्शन करने के लिए मिले। सबसे अंत में वैष्णो माता जी के दर्शन करने के लिए मिले। यह गुफा बहुत बड़ी है और यहां पर सभी देवी देवताओं के दर्शन किए जा सकते हैं। यह गुफा बहुत अच्छे से बनाई गई है। 

वैष्णो माता की गुफा घूमने के बाद, हम लोग मंदिर में भगवान भोलेनाथ के दर्शन करने के लिए गए। यहां पर फर्स्ट फ्लोर में भगवान भोलेनाथ के दर्शन करने के लिए मिले। यहां पर बहुत बड़ा शिवलिंग विराजमान था। यहां पर दो या तीन मंजिल बनी हुई है, जिसमें अलग-अलग मंजिलों में अलग-अलग भगवान विराजमान है। 

 

 

 

 

0

%d bloggers like this: