Om Asttro / ॐ एस्ट्रो

News & Update

कुंडली रिपोर्ट , शनि रिपोर्ट , करियर रिपोर्ट , आर्थिक रिपोर्ट जैसी रिपोर्ट पाए और घर बैठे जाने अपना भाग्य अभी आर्डर करे
❣️❣️ वक्रतुण्ड महाकाय सूर्यकोटि समप्रभ।निर्विघ्नं कुरु मे देव सर्वकार्येषु सर्वदा ।❣️❣️ ज्योतिष: वेद चक्षु नमः शम्भवाय च मयोभवाय च नमः शंकराय च मयस्कराय च नमः शिवाय च शिव तराय च नमः।।>

Om Asttro / ॐ एस्ट्रो

January 28, 2023 10:30
Omasttro

शिव-सती का हिमालय गमन 

 
 
 
     कैलाश पर्वत पर श्रीशिव और दक्ष कन्या सती के विविध विहारो का विस्तार से वर्णन करने के बाद ब्रह्माजी ने कहा-
 
     नारद! एक दिन की बात हैं कि देवी सती भगवान शिव को प्रेमपूर्वक प्रणाम करके दोनों हाथ जोड़कर खड़ी हो गई | उन्हें चुपचाप खड़े देखकर भगवान शिव समझ गए कि देवी सती के मन में कुछ बात अवश्य हैं, जिसे वह कहना चाह रही हैं | तब उन्होंने मुस्कुराकर देवी सती से पूछा कि हें प्राणवत्सला! कहिए आप क्या कहना चाहती हैं ? यह सुनकर देवी सती बोली-
 
     हें भगवन! वर्षा ऋतु आ गई हैं | चारो ओर का वातावरण सुन्दर वा मनोहारी हो गया हैं | हें देवाधिदेव! मैं चाहती हूँ कि कुछ समय हम कैलाश पर्वत से दूर पृथ्वी पर या हिमालय पर्वत पर जाकर रहे | वर्षा काल के लिए हम किसी योग्य स्थान पर चले जाएँ और कुछ समय वहीँ निवास करें | देवी सती की यह प्रार्थना सुनकर भगवान शिव हंसने लगे | हँसते हुए ही उन्होंने अपनी पत्नी सती से कहा कि प्रिये! जहां पर मैं निवास करते हूँ, वहां पर मेरी इच्छा के विरुद्ध कोई भी आ-जा नहीं सकता हैं | मेघ भी मेरी आज्ञा के बिना कैलाश पर्वत की ओर कभी नहीं आएँगे | वर्षा काल में भी मेघ सिर्फ नीचे की ओर ही घूमकर चले जाएंगे |
 
     हें प्रिये! तुम्हारी इच्छा के विरुद्ध कोई भी तुम्हे परेशान नहीं कर सकता | फिर भी यदि आप चाहती हैं तो हम हिमालय पर्वत पर चलते हैं | तत्पश्चात भगवान शिव अपनी पत्नी सती के साथ हिमालय पर चले गए | कुछ समय वहां प्रसन्नतापूर्वक विहार करने के पश्चात वे पुनः अपने निवास पर लौट आए |
error: Content is protected !!
Join Omasttro
Scan the code

Om Asttro / ॐ एस्ट्रो

आपका हार्दिक स्वागत करता है ,

ॐ एस्ट्रो से अभी जुड़े 

You have successfully subscribed to the newsletter

There was an error while trying to send your request. Please try again.

Om Asttro / ॐ एस्ट्रो will use the information you provide on this form to be in touch with you and to provide updates and marketing.
%d bloggers like this: